scriptPhoto Of Outgoing CM Ashok Gehlot Will Remain On Milk Powder Packets Till January 20 | दूध पैकेट पर निर्वतमान सीएम की जनवरी तक रहेगी फोटो, आचार संहिता से पहले ही जमा था स्टॉक | Patrika News

दूध पैकेट पर निर्वतमान सीएम की जनवरी तक रहेगी फोटो, आचार संहिता से पहले ही जमा था स्टॉक

locationधौलपुरPublished: Dec 19, 2023 03:42:36 pm

Submitted by:

Nupur Sharma

प्रदेश में भले ही नई सरकार आ गई और मुख्यमंत्री ने शपथ भी ले ली है। कुछ दिनों बाद मंत्रिमंडल का गठन भी हो जाएगा। उसके बाद ही नए प्रदेश को शिक्षा मंत्री भी मिलेंगे।

bal_gopal_yojana.jpg

प्रदेश में भले ही नई सरकार आ गई और मुख्यमंत्री ने शपथ भी ले ली है। कुछ दिनों बाद मंत्रिमंडल का गठन भी हो जाएगा। उसके बाद ही नए प्रदेश को शिक्षा मंत्री भी मिलेंगे। लेकिन जिले के सरकारी स्कूल में पढऩे वाले विद्यार्थियों को मिलने वाला दूध पाउडर के पैकेट में 20 जनवरी तक निर्वतमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की फोटो ही रहेगी। अभी शिक्षा विभाग के पास 89 हजार किलो दूध का स्टॉक बना हुआ है। जिले में 1 लाख 53 हजार विद्यार्थियों को बाल गोपाल योजना से दूध पिलाया जा रहा है। विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले बाल गोपाल योजना आपूर्ति करने वाली फ र्म ने एडवांस में ही स्टॉक दे दिया था। सभी विद्यालय में दूध पाउडर के पैकेट स्कूलों में भेज दिए, जो स्टॉक विद्यालय में चल रहा है। इस पैकेट पर निवर्तमान मुख्यमंत्री गहलोत का नाम और फोटो छपा हुआ है। संस्था प्रधानों की दिक्कत यह है कि स्कूलों में दूध पाउडर का जनवरी तक का स्टाक जमा है। ऐसे में यह फोटो कैसे हटेगा। इस बारे में अभी उच्च स्तर से कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं।

यह भी पढ़ें

रविंद्र भाटी समेत कई विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष को दिया प्रार्थना पत्र, मांगी ये अनुमति

स्कूलों में बच्चों को दूध देने की योजना भाजपा शासन से चल रही है। पहले इसका नाम मुख्यमंत्री नि:शुल्क दूध योजना थी। बच्चों को ताजा दूध गर्म कर पिलाया जाता है। कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में पुरानी योजना को बंद कर नई मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना शुरू की। इसमें बच्चों को दूध की जगह उसके पाउडर के पैकेट दे दिए। जो स्कूलों में बच्चों को पिलाया जा रहा है।

चुनाव में ढकने पड़े थे कर्टन
शिक्षो सत्र 2023-24 को देखते हुए स्कूलों में एडवांस में दूध पाउडर के कर्टन भेज दिए गए थे। इस समय सभी स्कूलों में पाउडर के ये कर्टन स्टॉक में रखे हैं। पाउडर के सभी पैकेट पर निर्वतमान मुख्यमंत्री गहलोत के फोटो छपे हुए हैं। चुनाव के दौरान निर्वाचन विभाग ने सभी कर्टन स्कूलों में कपड़े से ढकवा दिए था। जिससे सीएम के फोटो नजर नहीं आए।

एक लाख 53 हजार विद्यार्थी पी रहे दूध
जिले में 1 लाख 53 हजार छात्र-छात्राओं को दूध दिया जा रहा है। जिले में स्कूलों के लिए 1 नवंबर को 1 लाख 4 हजार 35 किलो दूध पाउडर का स्टॉक आया था। विद्यालय में बच्चों को दूध पिलाया जा रहा है। अब 89 हजार 35 किलो दूध पाउडर का अभी स्टॉक में बचा हुआ है। जो 20 जनवरी तक चलेगा। वहीं नवबंर महीने में केवल 12 दिन विद्यालय खुले थे। अन्य दिन अवकाश रहा था। इसलिए दूध का स्टॉक पर्याप्त बना हुआ है।

यह भी पढ़ें

मृत बच्चे को जन्म देने के बाद मां की मौत, समय से पहले घर पर हुआ प्रसव

बच्चों को दूध पिलाया जा रहा है। पैकेट पर निर्वतमान मुख्यमंत्री का फोटो लगा है। आचार संहिता के बाद निर्वाचन आयोग के निर्देश के बाद फोटो को ढक दिया गया था। अभी जनवरी तक स्टॉक बना हुआ है।-महेश कुमार मंगल, जिला शिक्षा अधिकारी धौलपुर

ट्रेंडिंग वीडियो