script बढ़ रहा जल संकट, वाहनों की धुलाई पर व्यर्थ बह रहा ‘अमृत’ | Water crisis is increasing, 'nectar' is being wasted on washing vehicl | Patrika News

बढ़ रहा जल संकट, वाहनों की धुलाई पर व्यर्थ बह रहा ‘अमृत’

locationधौलपुरPublished: Feb 04, 2024 11:32:42 am

Submitted by:

Naresh Lawaniyan

- बेरोक-टोक पानी बर्बाद कर रहे वाहन धुलाई सेंटर

- शहर में प्रतिदिन करीब 22 लाख लीटर पानी की घरों में सप्लाई

- कई इलाकों में अभी भी जल कनेक्शन नहीं, भू-जल का हो रहा दोहन

- जिम्मेदार बोले- शिकायत मिलने पर करेंगे कार्रवाई

Water crisis is increasing, 'nectar' is being wasted on washing vehicles
धौलपुर. जल संरक्षण को लेकर केन्द्र व राज्य सरकार लगातार अभियान चला कर पानी की महत्वता बताते हुए आमजन को जागरूक कर रही है। लेकिन इसके बाद भी शहर हो या फिर जिले के अन्य हिस्से जिम्मेदार विभाग और प्रशासन पानी हो रही बर्बादी पर कोई ध्यान नहीं है। अधिकारी एक बात अवश्य कहते हैं शिकायत मिलेगी तो कार्रवाई करेंगे। जिम्मेदार विभाग और अधिकारी बिना शिकायत के कदम नहीं उठाएंगे, चाहे कितना भी पानी बर्बाद करें।
जिम्मेदारों की कार्यशैली से कीमती जल की बेकद्री हो रही है। इसी का नतीजा है कि जिला मुख्यालय पर विभिन्न स्थानों में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे वाहन धुलाई सेंटरों में प्रतिदिन सैकड़ों लीटर पानी गाड़ी धोने पर ही बर्बाद हो रहा है। धुलाई के नाम पर सैकड़ों लीटर पानी सडक़ों और नालियों में यूं ही बह जाता है। इस पानी बर्बादी पर किसी तरह कोई रोक या नियम कायदे नहीं हैं। बता दें कि शहर में प्रतिदिन 22 लाख लीटर पानी की सप्लाई जलदाय विभाग की ओर से दी जाती है। इसके बाद भी कई इलाकों में पानी नहीं पहुंचने से लोग परेशान हैं।
शहर व कस्बों में चल रहे दोपहिया और चार पहिया वाहनों के सर्विस और धुलाई सेंटर पर प्रतिदिन पीने योग्य भू-जल का दुरुपयोग वाहन धुलाई में हो रहा है। हैरानी की बात ये है कि पानी की बड़ी बर्बादी पर कहीं कोई चिंता और चर्चा सुनाई नहीं देती है। बिना किसी रोक-टोक के धड़ल्ले से वाहन धुलाई सेंटरों की गिनती बढ़ती जा रही है। इन धुलाई सेंटरों में 50 से 300 रुपए में गाड़ी धोने के नाम पर सैकड़ों लीटर पीने का मीठा पानी बर्बाद किया जा रहा है। अहम मसले पर स्थानीय प्रशासन से लेकर पर्यावरणविद् और सामाजिक कार्यकर्ताओं की चुप्पी भी हैरान करती है।
शहर में यहां हो रही जल की बर्बादी

धौलपुर शहर में मचकुण्ड रोड, गौरव पथ मार्ग, हाइवे सर्विस लेन, आगरा रोड, सैंपऊ रोड, बाड़ी रोड सहित अन्य स्थानों पर बिना पंजीकरण के धुलाई सर्विस सेंटर खुले हुए है। इन सर्विस सेंटरों को जलदाय विभाग व नगर परिषद विभाग ने एक भी कनेक्शन नहीं जारी किया है। उसके बाद भी अवैध कनेक्शन लेकर पीने योग्य पानी को बर्बाद किया जा रहा है। एक अनुमान के अनुसार एक कार धुलाई पर तकरीबन 120 से 200 लीटर और दोपहिया वाहन पर 30 से 50 लीटर पानी बहाया जा रहा है। एक सर्विस सेंटर संचालक एक दिन में औसतन 15 से 20 बाइक और सात से आठ चार पहिया वाहन की सफाई करते हैं। कहीं कहीं तो 10 से 15 कारें भी हो जातीं हैं। इन पर सैकड़ों लीटर पानी बर्बाद हो रहा है।
65 वार्डों में 12 हजार कनेक्शन धारक

शहर में सभी के घरों में पीने योग्य पानी पहुंचे इसके लिए जलदाय विभाग ने शहर में 12 हजार 500 कनेक्शन दे रखे हैं। नगर परिषद क्षेत्र में 65 वार्डे बने हुए है। इनती आबादी के बीच में केवल 12500 कनेक्शन ही स्वीकृत हो सके है। इसके अलावा सबसे ज्यादा तो अवैध कनेक्शन लोगों ने जोड़ लिए है। जिससे खूब पानी की बर्बादी हो रही है। जल संरक्षण का अभियान केवल कागजों में चल रहा है। यहां सामने दिनभर बर्बाद होता है।
नहीं दे रहे जल संरक्षण पर ध्यान

जल संरक्षण के लिए लाखों रुपए खर्च कर प्रचार-प्रसार करती है। लेकिन उसके बाद सरकारी अमले का ध्यान जल की इस बड़ी बर्बादी की ओर अभी तक नहीं गया। यह बात समझ से परे है। यह बात भी दीगर है कि सर्विस सेंटरों व धुलाई सेंटरों में वाहन धुलाई के नाम पर जल की बर्बादी को रोकने के लिए कोई नियम या कानून नहीं बना है। सरकारी अमले की सुस्ती, लापरवाही और कानून के प्रभावी न होने के कारण हर दिन शहरभर में दर्जनों सर्विस व धुलाई सेंटर और आम आदमी बड़ी बेरहमी से साफ और मीठे पानी को वाहन धोने में बर्बाद कर रहे हैं।
हर घर पानी पहुंचाने के लिए जलदाय विभाग ने कनेक्शन दिए हंै। लेकिन अब कोई पानी को बर्बाद करता है, तो इसकी शिकायत मिलते ही कार्रवाई की जाएगी। पानी कीमती है। इसे वेबजह यूं बर्बाद न करें।
- हरीकिशन अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता जलदाय विभाग धौलपुर

शहर में लोगों को पानी कनेक्शन देने का कार्य जलदाय विभाग का है। नगर परिषद की ओर से किसी भी वाहन धुलाई सर्विस सेंटर को कनेक्शन नहीं दिए हैं। पानी की सप्लाई जलदाय विभाग देखता है।
- किंगपाल सिंह राजौरिया, आयुक्त नगर परिषद धौलपुर

ट्रेंडिंग वीडियो