उफ! ये गर्मी: भारत में ज्यादातर तीन टंगड़ी वाले पंखे ही क्यों चलते हैं? वजह बेहद दिलचस्प है

उफ! ये गर्मी: भारत में ज्यादातर तीन टंगड़ी वाले पंखे ही क्यों चलते हैं? वजह बेहद दिलचस्प है
FAN

Dilip Chaturvedi | Publish: Mar, 12 2018 02:14:59 PM (IST) दुनिया अजब गजब

भारत मेंं 99 प्रतिशत तीन पत्ती वाले पंखे ही क्यों चलते हैं और विदेशों में चार पत्ती वाले पंखे...

गर्मी ने दस्तक दे दी है। पंखे, कूलर और एसी धीरे-धीरे रफ्तार पकडऩे लगे हैं। लेकिन यहां हम बात करेंगे सेलिंग फैन की, जिसका घर-घर प्रशंसक(फैन) है। जी हां, चाहे घर में कूलर चले या एसी, कमरों के ऊपर बेचारे तीन टंगड़ी वाले फैन की सांसें बराबर चलती रहती हैं। इसे सुकून या इसके कलेजे में ठंडक तभी पहुंचती है, जब बिजली (गुल) मेहरबान होती है। आजकल सेलिंग फैन में भी काफी एक्सपेरिमेंट देखने को मिल रहे हैं। इनकी पंखियों को बेहद स्टाइलिश लुक देने में लगी हुई हैं कंपनियां। खैर, पंखियों को चाहे कितना भी स्टाइलिश बना दो, उनका काम तो सिर्फ ठंडक देना ही है। फिर बात चाहे देसी पंखे की हो और विदेशी पंखे की...।

यह बात तो लेागों को पता ही होगी कि पंखे की पत्तियां एक निश्चित एंगल तक बैंड होती हैं, जो हवा देने का काम करती हैं। अब जरो सोचिए कि सबसे ज्यादा हवा कौन-सा पंखा देगा, तीन पत्ती वाला या चार पत्ती वाला। बता दें कि तीन पत्ती वाली देसी फैन है, जबकि चार पत्ती वाला विदेशी फैन। यहां सवाल यह भी उठता है कि भारत मेंं 99 प्रतिशत तीन पत्ती वाले पंखे ही क्यों चलते हैं और विदेशों में चार पत्ती वाले पंखे? वैसे आपने इस बारे में कभी सोचा भी नहीं होगा कि पंखे में तीन और चार पत्ती वाले क्यों होते हैं? बेशक, आपने पंखें की पत्तियों की संख्या पर गौर किया न हो, लेकिन इनकी कम या ज्यादा पत्तियां होने के पीछे ठोस वजह है।

दरअसल, अमेरिका जैसे ठंडे देशों में 4 पत्ती वाले पंखे एयर कंडीशनर (एसी) के सप्लीमेंट के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं, जिनका मकसद एसी की हवा को पूरे कमरे में फैलाना होता है। चूंकि 4 पत्ती वाले पंखे 3 पत्ती वाले पंखे की तुलना में धीमे चलते हैं, इसलिए इनकी वजह से यह काम आसान हो जाता है। ऐसे में यदि भारत में चार पत्ती वाले पंखे इस्तेमाल होने लगे, तो यहां गर्मी में लोगों का जीना मुहाल हो जाएगा। वैसे भी भारत में पंखा का मतलब ज्यादा से ज्यादा हवा दे। तीन पत्ती वाला फैन हल्का होता है और चलने में इसकी रफ्तार तेज होती है और इससे हवा भी तेज मिलती है। वैसे अब भारत में भी पंखे को एसी के सप्लीमेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाने लगा है...। ऐसे में आप अपने एसी वाले कमरे में ४ पत्ती वाला फैल लगवा सकते हैं...यह धीमा चलेगा और इससे बिजली भी ज्यादा खपत नहीं होती।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned