नियमों में बदलाव होते ही 6 महीने में किसानों के खातों में पहुंचे 35 हजार करोड़

  • सरकार PM Kisan Yojana के तहत 18 महीनों में कर चुकी है 6 बदलाव
  • अगस्त के महीने में Farmers Accounts में 2000 रुपये की किश्त भेजी जाएगी

By: Saurabh Sharma

Updated: 03 Jul 2020, 12:06 PM IST

नई दिल्ली। किसानों के लिए वैसे तो कई योजनाएं हैं। लेकिन खातों में सीधे रुपया भेजने वाली पहली योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम ( Prime Minister Kisan Samman Nidhi Scheme ) को 18 माह पूरे हो गए हैं। इन अंतराल में 9 करोड़ 96 लाख से अधिक किसानों को करीब 73 हजार करोड़ रुपए कैश मिल चुका है। बीते 16 महीनों में इस योजना में कई तरह के बदलाव देखने को मिले। जिनकी वजह से बीते 6 महीनों में लाभ भी तेजी मिला है। आंकड़ों की बात करें तो दिसंबर 2019 में स्कीम के एक साल पूरा होने पर सिर्फ 35 हजार करोड़ रुपए ही बंटे थे। 2020 के छह महीने में यही आंकड़ा दोगुने से ज्यादा हो गया। कोरोना संकट में 9 करोड़ से ज्यादा किसानों के खातों में 2-2 हजार रुपए की किश्त भेजी गईं। अगस्त के महीने में किसानों के खाते में 2000 रुपए की किश्त भेजी जाएगी। आइए आपको भी बताते हैं सरकार की ओर से किस तरह के बदलाव किए हैं।

खत्म की जोत की सीमा
योजना को शुरू करते समय शर्तों के अनुसार जिसके पास कृषि योग्य खेती 2 हेक्टेयर है उसी को इसका लाभ दिया जाएगा। मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में इस शर्त को खत्म कर दिया। अब इसका लाभ 12 करोड़ से बढ़कर 14.5 करोड़ किसानों को मिल रहा है।

आधार कार्ड हुआ अनिवार्य
स्कीम की शुरूआत से ही इसका लाभ लेने के लिए आधार कार्ड मांगा जा रहा था। अब इसे अनिवार्य कर दिया गया है। स्कीम में किसानों का आधार लिंक करवाने की छूट 30 नवंबर 2019 के बाद नहीं बढ़ाई गई। ताकि पात्र किसानों को ही लाभ मिल सके।

किसानों को सेल्फ रजिस्ट्रेशन की सुविधा
ज्यादा से ज्यादा किसानों को लाभ मिल सके, इसके लिए सरकार की ओर से सेल्फ रजिस्ट्रेशन का रास्ता निकाला है। पहले लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारी रजिस्ट्रेशन करते थे। अब किसान के पास रेवेन्यू रिकॉर्ड, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर है तो वो पर फामर्स कॉर्नर में जाकर खुद अपना रजिस्ट्रेशन कर सकता है।

अपने आप जान सकते हैं स्टेटस
रजिस्ट्रेशन के आवेदन को स्वीकार किया गया है या नहीं, आपके अकाउंट में कितनी किश्त का रुपया आया है नहीं इसकी जानकारी के लिए किसान को कार्यालय जाने की जरुरत नहीं है। अब किसान पीएम किसान पोर्टल पर जाकर स्टेटस की जानकारी हासिल कर सकता है।

किसान क्रेडिट कार्ड
अब इस योजना के साथ किसाकिसान क्रेडिट कार्ड को भी जोड़ा गया है। इससे केसीसी बनाने की प्रक्रिया तेजी आएगी। सरकार 6000 रुपये दे रही है उसे केसीसी बनवाना आसान होगा। मौजूदा समय में करीब 7 करोड़ किसानों के पास केसीसी है, जबकि सरकार जल्द से जल्द 2 करोड़ और लोगों को इसमें शामिल कर 4 फीसदी पर 3 लाख रुपए तक का लोन मुहैया कराएगी।

पीएम किसान मानधन योजना में बदलाव
किसान पीएम-किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहा है तो उसे पीएम किसान मानधन योजना के लिए डॉक्युमेंट नहीं देना होगा। क्योंकि ऐसे किसान का पूरा दस्तावेज भारत सरकार के पास पहले से ही है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned