Food Price में इजाफा होने से Retail Inflation Rate में इजाफा, जानिए कितनी हुई बढ़ोतरी

  • Retail Inflation Rate जून में 6.23 फीसदी थी, जो जुलाई में बढ़कर 6.93 फीसदी हो गई
  • Food Prices की Retail Inflation जुलाई में 9.62 फीसदी रही जबकि जून में 8.72 फीसदी थी

By: Saurabh Sharma

Updated: 14 Aug 2020, 01:52 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना के चलते आर्थिक तबाही झेल रहे उपभोक्ताओं पर अब महंगाई की भी मार पड़ी है। बीते महीने जुलाई में खुदरा महंगाई ( Retail Inflation ) बढ़कर करीब 7 फीसदी तक पहुंच गई है। रिपोर्ट के अनुसार खाद्य पदार्थों के दाम में बढ़ोतरी होने से खुदरा महंगाई में इजाफा ( Retail Inflation Rate Rise ) देखने को मिली है। खुदरा महंगाई में बढ़ोतरी गांव और शहरों दोनों जगहों में बराबर देखने को मिली है। आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ( reserve bank of india ) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने महंगाई बढऩे के संकेत दे दिए थे। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर खुदरा महंगाई दर ( Retail Inflation Rate ) कितना इजाफा देखने को मिल सकता है।

इतना हुआ खुदरा महंगाई में इजाफा
सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के तहत आने वाले राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा महंगाई दर जून में 6.23 फीसदी थी, जो जुलाई में बढ़कर 6.93 फीसदी हो गई। उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक (सीएफपीआई) आधारित खाद्य पदार्थों की खुदरा महंगाई दर जुलाई में 9.62 फीसदी दर्ज की गई जोकि जून में 8.72 फीसदी थी।

आरबीआई ने रखा था यह टारगेट
कोरोना काल में खुदरा महंगाई दर में हुई वृद्धि के बाद यह जुलाई में लगातार दूसरे महीने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के संतोषजनक महंगाई दर के लक्ष्य के उपरी स्तर के पार चली गई है। आरबीआई का यह लक्ष्य चार फीसदी से दो फीसदी से उपर या नीचे है। एनएसओ के अनुसार, कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर लगाए गए प्रतिबंधों में धीरे-धीरे ढील देने के बाद आर्थिक गतिविधियों में सुधार के साथ-साथ कीमत के आंकड़ों में भी वृद्धि दर्ज की गई।

यह भी पढ़ेंः- Gold दे चुका है Return, अब पांच साल तक संभलकर करें Invest

शहरी और ग्रामीण इलाकों में इजाफा
खुदरा महंगाई दर में इजाफा शहरी और ग्रामीण इलाकों दोनों जगहों में बराबर बढ़ोतरी देखने को मिली है। पहले बात शहरी क्षेत्र की बात करें तो खुदरा महंगाई दर जुलाई में बढ़कर 6.84 फीसदी हो गई है। जबकि जून में यह आंकड़ा 6.12 फीसदी था। वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्र की महंगाई दर जुलाई में 7.04 फीसदी हो गई है। जबकि जून में महंगाई दर 6.34 फीसदी थी। जानकारों की मानें तो अगस्त और सितंबर के महीने में यह आंकड़ा 9 फीसदी तक पहुंच सकता है।

आरबीआई गवर्नर ने दे दिए थे संकेत
इन आंकड़ों के आने से पहले एमपीसी की बैठक के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने पहले ही महंगाई बढऩे के संकेत दे दिए थे। आरबीआई गवर्नर की ओर से कहा गया था कि आने वाले दिनों में महंगाई में इजाफा देखने को मिल सकता है। दूसरी तिमाही में यानी सितंबर तक महंगाई दर में 9 फीसदी तक की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। जबकि महंगाई दर में आरबीआई ने 4 फीसदी से दो फीसदी उपर और दो फीसदी से नीचे रह सकती है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned