scriptRaja Bhaiya will fight with Kunda but it is not easy to reach UP assem | इस बार आसान नहीं राजा भैया के लिए कुंडा से यूपी विधानसभा पहुंचने की राह | Patrika News

इस बार आसान नहीं राजा भैया के लिए कुंडा से यूपी विधानसभा पहुंचने की राह

इस बार राजा भैया निर्दलीय नहीं अपनी पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से चुनाव लड़ेंगे। और उनका चुनाव चिन्ह आरी है। इसके पहले उनका चुनाव चिन्ह तलवार और ढाल था। 2022 में राजाभैया की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। भाजपा बाहुबली राजा भैया को समर्थन देकर लगने वाले आरोपों से बचना चाहती है तो नाराज सपा मुखिया अखिलेश यादव, राजा भैया को अब पहचानते ही नहीं हैं।

लखनऊ

Published: January 21, 2022 05:00:36 pm

यूपी विधानसभा चुनाव में प्रतापगढ़ की कुंडा विधानसभा सीट कम से कम दो दशक से चर्चित सीटों में शुमार है। यहां से रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया छह बार से निर्दलीय विधायक हैं। कभी भाजपा तो कभी सपा के समर्थन से राजा भैया चुनाव जीतते आए हैं। इस बार राजा भैया निर्दलीय नहीं अपनी पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से चुनाव लड़ेंगे। और उनका चुनाव चिन्ह आरी है। इसके पहले उनका चुनाव चिन्ह तलवार और ढाल था। 2022 में राजाभैया की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। भाजपा बाहुबली राजा भैया को समर्थन देकर लगने वाले आरोपों से बचना चाहती है तो नाराज सपा मुखिया अखिलेश यादव, राजा भैया को अब पहचानते ही नहीं हैं। इसलिए इस बार कुंडा सीट पर कमल खिलेगा या फिर आरी चलेगी। या लाल टोपी वाले साइकिल दौड़ते हुए विधानसभा आएंगे। इस पर संशय है। पर मुकाबला रोचक रहेगा और यूपी की जनता इस सीट पर निगाह रखेगी।
इस बार आसान नहीं राजा भैया के लिए कुंडा से यूपी विधानसभा पहुंचने की राह
इस बार आसान नहीं राजा भैया के लिए कुंडा से यूपी विधानसभा पहुंचने की राह
छह बार निर्दलीय विधायक

कुंडा विधानसभा सीट पर राजा भैया छह बार निर्दलीय विधायक चुने गए हैं। साल 1993, 1996, 2002, 2007, 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने जीत की पताका लहराई। साल 1993 में भाजपा के समर्थन से फिर सपा के समर्थन से चुनाव जीतते आ रहे हैं। चुनाव 2017 राजा भैया 1,36,597 वोटों से जीते थे। और भाजपा के जानकी शरण को हार का मुंह देखना पड़ा।
सपा छेड़ेगी राजा के खिलाफ संग्राम

विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने के साथ ही सपा ने कुंडा के सियासी संग्राम में उतरने के लिए कमर कस ली है। इस बार सपा राजा भैया को समर्थन नहीं देगी। वजह है कि वर्ष 2019 में राज्यसभा फिर लोकसभा चुनाव में अखिलेश के निवेदन के बावजूद राजा भैया ने बसपा प्रत्याशी को समर्थन नहीं दिया। इस वजह से अखिलेश यादव और राजा भैया के बीच रिश्ते में खटास आ गई है। अब सपा एक जीताउ उम्मीदवार ढूंढ़ रही है।
यह भी पढ़ें

आखिर करहल विधानसभा सीट से ही क्यों चुनाव लड़ना चाहते हैं अखिलेश यादव

भाजपा से समर्थन नहीं!

भाजपा, राजा भैया को समर्थन देगी या नहीं इस पर सस्पेंस बरकरार है। अगर भाजपा राजा भैया को समर्थन देती है, तो पार्टी पर बाहुबलियों को समर्थन देने का आरोप लग सकता है। इस आरोप से बचने के लिए भाजपा शायद ही राजा भैया को समर्थन दे।
कुंडा में मतदाताओं का आंकड़ा

चुनाव 2017 के आंकड़ों के अनुसार, कुंडा विधानसभा में कुल 3.43 लाख से अधिक मतदाता है, जिसमें 1.94 लाख पुरुष और 1.48 लाख महिला वोटर्स हैं। कुंडा विधानसभा में यादव और मुस्लिम मतदाताओं का दबदबा है। वहीं ब्राह्मण और दलित वोटर्स का भी यहां पर खासा असर है।
यह भी पढ़ें

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकन

कुंडा का राजनीतिक इतिहास

कुंडा विधानसभा सीट पर चुनाव 1993 से 2017 में बाहुबली राजा भैया का वर्चस्व कायम है। 1991 में भाजपा के शिव नारायण मिश्रा ने कांग्रेस के नियाज हसन को हरा कर जीत दर्ज की थी। नियाज हसन इस सीट से 5 बार विधायक रहे। 1962, 1974, 1980 और 1985, और 1989 में कांग्रेस के विधायक चुने गए थे।
राजा भैया ने बनाई पार्टी

रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने विधानसभा चुनाव के लिए 11 प्रत्याशियों की सूची जारी की है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.