scriptUP Election 2022 Haidergarh Assembly Congress MLA left seat for Rajnat | Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : कांग्रेस विधायक ने तब सीएम रहे राजनाथ सिंह के लिए छोड़ी थी हैदरगढ़ सीट, बदलती रहती है मतदाताओं की पसंद | Patrika News

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : कांग्रेस विधायक ने तब सीएम रहे राजनाथ सिंह के लिए छोड़ी थी हैदरगढ़ सीट, बदलती रहती है मतदाताओं की पसंद

बाराबंकी जिले की हैदरगढ़ विधानसभा सीट के उम्मीदवारों को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। भाजपा, सपा, कांग्रेस और बसपा जैसे प्रमुख राजनीतिक दलों के कई नेता संभावित उम्मीदवार के रूप में लोगों से मिलना-जुलना कर रहे हैं।

लखनऊ

Published: January 04, 2022 06:14:08 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ.
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) की सरगर्मी तेज होते ही बाराबंकी जिले की हैदरगढ़ विधानसभा क्षेत्र (Haidergarh Assembly seat) के संभावित दावेदार गांव-गांव पहुंचने लगे हैं, लेकिन यह ऐसी सीट रही है, जिसकी चर्चा कभी पूरे देश में होती थी। वजह थी वर्तमान केंद्रीय रक्षामंत्री व यूपी के तत्कालीन सीएम रहे राजनाथ सिंह का यहां से चुनाव लडऩा और बड़े अंतर से जीतना। अब यह सीट सुरक्षित हो गई है। यहां के मतदाता किसी एक दल में बंधे नहीं हैं। वे अपनी पसंद बदलते रहते हैं। यहां के लोगों की परेशानी है कि वे महंगाई में खेती-किसानी कैसे करें ? खाद, बीज और पानी मिलने में दिक्कत हो रही है।
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : कांग्रेस विधायक ने तब सीएम रहे राजनाथ सिंह के छोड़ी थी हैदरगढ़ सीट, बदलती रहती है मतदाताओं की पसंद
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : कांग्रेस विधायक ने तब सीएम रहे राजनाथ सिंह के छोड़ी थी हैदरगढ़ सीट, बदलती रहती है मतदाताओं की पसंद
हैदरगढ़ सीट (Haidergarh Assembly seat) से वर्ष 2017 के चुनाव में भाजपा के बैजनाथ रावत ने 33520 मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। उन्होंने सपा के राम मगन रावत को हराया था। बैजनाथ रावत को 97497 और राम मगन को 63977 वोट मिले थे। एक रोचक बात यह भी है कि राम मगन सपा से ही वर्ष 2012 के चुनाव में 63321 वोट पाकर विधायक बने थे। नए परिसीमन में यह सीट सुरक्षित हुई जबकि इसके पहले सामान्य थी। इस सीट से लखनऊ विवि के छात्रसंघ के अध्यक्ष रहे अरविंद सिंह गोप भी सपा के सिंबल पर विधायक रह चुके हैं।
यह भी पढ़ें
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : मिल्कीपुर में सामंतशाही -हिंसा की जड़ों को खूब मिलता है खाद-पानी, चुनावी रंजिश में जा चुकी है कई की जान

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी कर चुके हैं प्रतिनिधित्व
हैदरगढ़ सीट (Haidergarh Assembly seat) वीआईपी सीट भी रह चुकी है, जब 2001 में उत्तर प्रदेश के तत्कालीन सीएम राजनाथ सिंह ने उप चुनाव लड़कर जीत दर्ज की थी। दरअसल वर्तमान केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह वर्ष 2000 में जब उत्तर प्रदेश सीएम बने थे, तो वे किसी भी सदन के सदस्य नहीं थे। ऐसे में उन्हें छह माह के भीतर किसी न किसी सदन का सदस्य बनना था। तभी हैदरगढ़ (Haidergarh Assembly seat) से कांग्रेस विधायक सुरेंद्र नाथ अवस्थी ने राजनाथ सिंह के लिए सीट खाली करते हुए त्यागपत्र दे दिया। उप चुनाव में राजनाथ सिंह निर्वाचित हुए। 2002 में पुन: यहीं से विधायक चुने गए। कांग्रेसी विधायक के त्यागपत्र देने के पीछे भी कई तरह की कहानियां कही गईं लेकिन वक्त के साथ ही सब ओझल हो गईं। हालांकि बाद में सुरेंन्द्र नाथ अवस्थी ने कई आरोप लगाकर भाजपा छोड़ दी थी।
वर्ष 2022 में क्या होंगे समीकरण
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 में भाजपा के कब्जे वाली इस सीट पर मुख्य लड़ाई भाजपा और सपा के बीच ही होने वाली है। इसमें भाजपा के वर्तमान विधायक बैजनाथ रावत पूर्व में सांसद व कई बार विधायक रह चुके हैं। ऐसे में उनका दावा मजबूत है जबकि भाजपा को टक्कर देने वाले सपा के राम मगन रावत भी अपने दमखम पर क्षेत्र में सक्रिय हैं। उनके पिता राम सागर रावत बाराबंकी के कई बार सांसद -विधायक रह चुके हैं। कई संभावित उम्मीदवार भी क्षेत्र में चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं लेकिन असली तस्वीर उम्मीदवारों की घोषणा के बाद ही साफ हो पाएगी।
यह भी पढ़ें
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : भाजपा के कार्यकर्ता से लेकर पीएम मोदी तक यहां झुकाते हैं सिर, संतों के आशीर्वाद से अयोध्या में फहरता है भगवा

ये हैं क्षेत्र के प्रमुख मुद्दे
सरकारी योजनाओं में बिचौलिए गड़बड़ी कर रहे हैं। ऐसे में पात्र व्यक्तियों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी हैं, जिनके नाम राशन कार्ड में गलत लिखे हुए हैं। पूर्वाचल एक्सप्रेस वे बनने से सुबेहा रजहा पटरी से आवागमन बंद है। लोग इसकी शिकायत जिला अधिकारी से भी कर चुके हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति भी ठीक नहीं है। महंगाई से खेती-किसानी प्रभावित हो रही है। खाद,बीज की भी समस्या बनी हुई है लेकिन Uttar Pradesh Assembly Election 2022 के वोट की राजनीति के बीच भला इन समस्याओं पर चर्चा करने की किसे फुर्सत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

पटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीPM मोदी तक पहुंची अल्मोड़ा की 'बाल मिठाई', स्टार शटलर लक्ष्य सेन ने ऐसा पूरा किया अपना वायदाराजस्थान में 50 हजार अपराधियों की बनेगी'कुंडली' थाना स्तर पर बनेगा डोजीयरविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंCheapest Home Loan: ये बैंक दे रहे हैं सबसे सस्ता होम लोन, यहां देखिए पूरी लिस्टQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातGama Pehlwan के 144वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल, एक दिन में खाते थे 6 देसी मुर्गे और 10 लीटर दूध
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.