फिल्म वही, जो फैमिली के साथ देखी जा सके: अमृता राव

By: Nidhi Sharma
| Published: 08 Oct 2015, 01:49 PM IST
फिल्म वही, जो फैमिली के साथ देखी जा सके: अमृता राव

'जब से एक्टिंग करने का सपना देखा था, तब से मेरा एक ही सिद्धांत रहा है कि वही प्रोजेक्ट करूंगी, जिन्हें घरवालों के साथ देख सकूं।

'जब से एक्टिंग करने का सपना देखा था, तब से मेरा एक ही सिद्धांत रहा है कि वही प्रोजेक्ट करूंगी, जिन्हें घरवालों के साथ देख सकूं। फिल्म 'इश्क विश्क' से लेकर अब तक जो फिल्में की हैं, उन्हें मैंने परिवार के साथ देखी और कहीं भी मेरी और घरवालों की शर्म से नजर नहीं झुकी।


मेरी नजर में अच्छी फिल्म वही है, जो फैमिली के साथ देखी जा सकती हो। यह कहना है, एक्ट्रेस अमृता राव का।


फिक्शन शो 'जयपुर ज्वैलरी शो' की शूटिंग के लिए जयपुर आईं अमृता ने पत्रिका प्लस के साथ अनुभव शेयर करते हुए कहा कि 'प्रोजेक्ट को साइन करने से पहले मेरी प्राथमिकता सही डायरेक्शन और स्क्रिप्ट रहती है।

amrita rao

इसके बाद को-एक्टर के चयन पर ध्यान देती हूं। यदि स्क्रिप्ट अच्छी होगी और डायरेक्टर क्रिएटिव होगा, तो फिल्म को हिट होने से कोई नहीं रोक सकता।
अमृता ने बताया कि 'प्रकाश झा की 'आरक्षण' और संजय की 'जॉली एलएलबी' का सीक्वल कर रही हूं। हालांकि, औपचारिक तौर पर इन फिल्मों के बारे में कुछ नहीं कहूंगी।

v

लेकिन यह जरूर बताना चाहूंगी कि प्रकाश झा और संजय की फिल्मों के लिए हमेशा तैयार हूं, इनकी फिल्मों में वैरिएशन होता है। इसके अलावा भी कई प्रोजेक्ट पर बात चल रही है।
अमृता ने बताया कि 'बचपन से जयपुर की खूबसूरती दिमाग में बसा रखी है।

amrita rao

इस शहर के लिए एक सपना भी देखा है कि एक टूरिस्ट की तरह यहां आऊं और शहर की खूबसूरती का लुत्फ उठा सकूं। जेजेएस के जरिए शहर को अच्छे से जानने का मौका मिला है। मुझे यह बात अच्छी लगी कि जेजेएस के जरिए शहर की खूबसूरती के साथ ही यहां की हैरिटेज ज्वैलरी को भी प्रमोट किया जा रहा है।

amrita rao