scriptGanesh Chaturthi 2022 date in india | गणेश चतुर्थी 2022 में कब है? जानें शुभ मुहूर्त और कब क्या करें | Patrika News

गणेश चतुर्थी 2022 में कब है? जानें शुभ मुहूर्त और कब क्या करें

पूजन के दौरान भगवान गणेश के मंत्र का जाप अवश्य करें

Published: February 13, 2022 01:23:39 pm

Ganesh Chaturthi 2022 : हिंदू धर्म में प्रथम पूज्य और बुद्धि के देवता श्री गणेशजी की पूजा का 10 दिवसीय प्रमुख पर्व साल में एक बार आता है, जो गणेश चतुर्थी से शुरु होता है। गणेश चतुर्थी के नाम से प्रसिद्ध ये त्यौहार पूरे देश में बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन गणेश भक्त ढोल नगाड़ों के साथ गणपति बप्पा को अपने घर लेकर आते हैं, जिसके चलते पूरा वातावरण गणपति बप्पा मोर्या के जयकारों से गूंज उठता है। ऐसे में इस साल यानि 2022 में गणेश चतुर्थी बुधवार, 31 अगस्त को मनाई जाएगी, माना जाता है कि इस दिन बप्पा को अपने घर लाकर विराजमान करके उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता है।

गणेश चतुर्थी 2022 शुभ मुहूर्त : Ganesh Chaturthi 2022 Shubh Muhurat Kab Hai-
इस बार 2022 में गणेश चतुर्थी बुधवार, 31 अगस्त को है। वहीं इस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त 11:05 AM से शुरू होकर 01:38 PM तक रहेगा। यानि पूजा के शुभ मुहूर्त का कुल समय 2 घंटे 33 मिनट का है।

vighanharta ganpati
Shri Ganeshji
Ganesh Chaturthi 2021 Wishes : गणेश चतुर्थी आज से, अपनों को इन खास मैसेज से दे शुभकामनाएं

जानकारों के अनुसार इस दिन पूजन के दौरान भगवान गणेश के मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए। मान्यता के अनुसार गणपति बप्पा को इस दिन अपने घर में लाकर विराजमान करने से वे अपने भक्तों के समस्तम विध्न, बाधाएं दूर करते हैं। इसी कारण गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। गणेश चतुर्थी को लोग गणेश जी को अपने घर लाते हैं, वहीं इसके पश्चात गणेश चतुर्थी के 11वें दिन धूमधाम के साथ उन्हें अगले बरस जल्दी आने की प्रार्थना के साथ प्राकृतिक जलाशयों में विसर्जित किया जाता है।

इस तरह करें गणेश चतुर्थी पर श्री गणेशजी की पूजा-
: गणेश चतुर्थी के दिन श्री गणेशजी को अपने घर लाना के पूर्व ब्रह्म मुहूर्त में स्नानादि नित्य कर्म के पश्चात श्री गणेशजी का ध्यान करना चाहिए।
: इसके पश्चात गणेश जी की प्रतिमा को धूमधाम के साथ घर लाकर विराजमान करें, ध्यान रखें कि इस दिन भूलकर भी चंद्रमा के दर्शन न करें।
: घर लाई श्री गणेशजी की प्रतिमा को किसी चौकी पर आसन लगाकर स्थापित करें, इसके साथ ही एक कलश में सुपारी डालकर किसी कोरे (नए) कपड़े में बांधकर रखें।
: भगवान श्री गणेशजी को स्थापित करने के बाद पूरे परिवार सहित उनकी पूजा करें और उन्हें सिंदूर और दूर्वा अर्पित करें।

Must Read- श्री गणेश को ऐसे करें प्रसन्न और पाएं मनचाहा आशीर्वाद

नवरात्रि में 28 मार्च को ऐसे करें विघ्नहर्ता श्रीगणेश का पूजन, बाधाओं से मिलेगी मुक्ति

: श्री गणेशजी को लड्डू या मोदक का भोग लगाने के पश्चात लड्डूओं को प्रसाद के रुप में बांट दें।
: गणेश चतुर्थी के दिन से लेकर विसर्जन के दिन तक सुबह और शाम दोनों समय गणेश जी की विधि-विधान से पूजा करनी चाहिए।
: इस दौरान गणेश जी की कथा पढ़े या सुनें, साथ ही गणेश चालीसा का पाठ भी करें।
: हर रोज पूजा के बाद सबसे अंत में गणेश जी की आरती जरुर गाएं।

जानकारों का मानना है कि विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेशजी के नाम से स्पष्ट होता है कि वह हमारे सारे विध्नों को हरने वाले देव हैं। प्रथम पूज्य श्री गणेश हमारे सभी कार्यों को सरलता से पूर्ण करते हैं, इसके अलावा जन्मकुंडली अध्ययन के अंतर्गत बुध ग्रह जो कि बुद्धि,वाणी,लेखनकला, संपादन आदि का कारक ग्रह है उसका स्वामित्व भी गणपति को प्राप्त है, ऐसे में गजानन की पूजा, अर्चना और दान आदि से बुध दोष या बुध से जुड़ी समस्याओं का भी निराकरण होता है। जानकारों की मानें तो अपने जीवन में सुख, शांति,सरलता, विद्या आदि की प्राप्ति के लिए व्यक्ति को गणपति पूजन अवश्य करना चाहिए, ऐसा करने से न केवल मानसिक शांति प्राप्त होगी बल्कि आपके मनोरथ भी पूर्ण होंगे।

Must Read- श्री गणेश के वे रूप, जो करते हैं समस्त संकटों का नाश

blessing of lord shri ganesh ji : Shree Ganesh in Hindi

इसके तहत जातक को गणेश वंदना, गणेश अर्थवशीर्ष, गणेश आरती नियमित करनी चाहिए। साथ ही श्री गणेशजी को नियमित पुष्प, मिष्ठान, धूप दीप मंत्रोच्चारण सहित अर्पित करने चाहिए, इसके अलावा हरी वस्तुओं का दान व गणेश जी को दूर्वा अर्पित अवश्य करनी चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करते हुए श्री गणेशजी से अपनी मनोकामना निश्चल भाव से कहनी चाहिए,वहीं ये भी मान्यता है कि संकटनाशक गणेश स्त्रोत का पाठ करने वाले जातक की गणपति देव सदैव मनोकामना पूर्ण करते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Independence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी14 अगस्त को 'विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस' मनाने पर कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- नफरत फैलाने के लिए त्रासदी का दुरुपयोगOne MLA-One Pension: कैप्टन समेत पंजाब के इन बड़े नेताओं को लगेगा वित्तीय झटकाइसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगाते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़हर घर तिरंगा अभियान CM योगी ने झंडा लगाकर की शुरुआतपिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालासिर पर टोपी, हाथों में तिरंगा; आजादी का जश्न मनाते दर्जनों मुस्लिम बच्चों का ये वीडियो कहां का है और क्यों वायरल हो रहा है?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.