शारदीय नवरात्रि 2019 : जानें कैसे हुई नवरात्र पर्व मनाने और दुर्गा पूजा की शुरूआत

Shardiya Navratri 2019 : Durga Puja : जानें आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से लेकर दशमी तिथि तक मनाई जाने वाली नवरात्र पर्व की पूरी कथा और महत्व।

Shyam Kishor

September, 1212:30 PM

धर्म शास्त्रों में शारदीय नवरात्रि का अपना अलग ही महत्व बताया गया है। नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा अर्चना की जाती है। लेकिन क्या आपको पता हैं कि इस शारदीय नवरात्रि की शुरूआत कब, कैसे और किसने की थी। जानें आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से लेकर दशमी तिथि तक मनाई जाने वाली नवरात्र पर्व की पूरी कथा और महत्व। इस साल 2019 में शारदीय नवरात्र 29 सितंबर से शुरू होकर 7 अक्टूबर तक रहेगा।

 

शारदीय नवरात्र 2019 : सितंबर में इस दिन से शुरू हो रही नवरात्रि पर्व, विराजमान होंगी माँ दुर्गा, जानें पूरी तिथियां

 

नवरात्रि के नौ दिन

नवरात्रि पर्व, नौ दिनों तक विशेष रूप से माता दुर्गा के भक्त अनेक तरह से जैसे- मंत्र जप साधना, पूजा आराधना, स्तुति पाठ आदि श्रद्धा पूर्वक करके माता की कृपा भी पाते हैं। मुख्य नवरात्रि साल में दो बार मनाई जाती है। पहली तो चैत्र मास में, जिसे चैत्र नवरात्र कहते हैं और दूसरी आश्व‍िन मास में, जिसे शारदीय नवरात्र‍ि कहते हैं। नवरात्रि काल को साधना कर शक्ति अर्जित करने का विशेष पर्व माना जाता है।

 

विश्वकर्मा जयंती 2019 : ऐसे करें भगवान विश्वकर्मा का पूजन, मिलेगी सफलता होगी तरक्की

भगवान श्रीराम ने की थी नवरात्र पर्व की शुरूआत

शास्त्रों में ऐसा उल्लेख आता कि आश्विन मास में आने वाली शारदीय नवरात्र की शुरुआत मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम ने की थी। भगवान श्रीराम ने सबसे पहले समुद्र के किनारे शारदीय नवरात्रों की पूजा की शुरुआत की। भगवान श्रीराम ने लंका पर विजय प्राप्ति की कामना से आश्विन मास के शुक्ल पक्ष से लेकर लगातार 9 दिनों तक सिंहवाहिनी माँ दुर्गा भवानी की विशेष पूजा आराधना करते हुए ही युद्ध किया था, और माता के आशीर्वाद से 10 वें दिन उन्होंने असुर लंकापति रावन को मारकर लंका पर विजश्री प्राप्त कर माता सीता को मुक्त किया था।

 

मंगलवार : दोपहर या शाम में एक बार कर लें ये महाउपाय, हनुमान जी कर देंगे वारे न्यारे

तभी से शारदीय नवरात्र पर्व मनाने का प्रचलन शुरू हुआ और लगातार नौ दिनों तक माँ दुर्गा की पूजा आराधना की जाती है। शारदीय नवरात्रि में नौ दिनों तक मां दुर्गा की विशेष पूजा करने के बाद दसवें दिन धर्म से अधर्म हारा था एवं असत्‍य का अंत कर समाज में सत्य की प्रतिष्ठापना की हुई थी। नवरात्र के नौ दिन समाप्त होते ही दसवें दिन दशहरा का पर्व असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है।

***********

शारदीय नवरात्रि 2019 : जानें कैसे हुई नवरात्र पर्व मनाने और दुर्गा पूजा की शुरूआत
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned