MasteCard और Visa से पेमेंट करने पर लग सकता है झटका, E-Payment बढ़ाने पर सरकार का जोर

MasteCard और Visa से पेमेंट करने पर लग सकता है झटका, E-Payment बढ़ाने पर सरकार का जोर

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Jul, 07 2019 02:49:27 PM (IST) | Updated: Jul, 07 2019 04:52:41 PM (IST) फाइनेंस

  • UPI व अन्य E-Payment भुगतान को सरकार दे रही बढ़ावा।
  • सालाना 50 करोड़ से अधिक टर्नओवर ई-पेमेंट पर जोर।
  • इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट पर बैंक चार्ज से मिलती है छूट।

नई दिल्ली। अगर आप भी अपने मास्टरकार्ड या वीजा कार्ड का अधिक इस्तेमाल करते हैं ताे आने वाले दिनों में आपके लिए परेशानियां बढ़ सकती हैं। दरअसल, सरकार नेे 50 करोड़ रुपये के सालाना टर्नओवर वाले बिजनेस में इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट पर बैंक चार्ज से छूट दी है।

सरकार द्वारा दिए गए इस छूट के बाद अब कारोबारी मास्टरकार्ड ( MasterCard ) या वीजा कार्ड ( visa card ) की तुलना में UPI व अन्य E-Payment भुगतान को स्वीकारना पसंद करेंगे। 50 करोड़ रुपये के टर्नओवर वाले रिटेलर क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन ( Credit Card Transaction ) पर अधिक निर्भर हैं, जिसके लिए वे मर्चेेंट डिस्काउंट रेट ( MDR ) के जरिए 2 फीसदी तक पे करते थे।

यह भी पढ़ें - भारतीय बाजार से विदेशी निवेशकों का उठा भरोसा, जुलाई के पहले हफ्ते में की 475 करोड़ की निकासी

इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट पर सरकार का जोर

यूनियन बजट 2019 ( Union Budget 2019 ) के भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) ने कहा कि इन कंपनियों के लिए अब अनिवार्य होगा कि वे अपने इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट का विकल्प उपलब्ध करायें। इन इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट माध्यमों में भीम यूपीआई, यूपीआई-क्यूआर कोड, आधार पे, कुछ डेबिट कार्ड, नेशनल इलेक्ट्राॅनिक फंड ट्रांसफर ( NEFT ) और रियल टाइम ग्राॅस सेटलमेंट ( RTGS ) शामिल हैं। इनमें से किसी भी मोड के जरिए पेमेंट पर शुल्क का भुगतान बैंक और आरबीआई करता है।

यह भी पढ़ें - बजट 2019 के बाद होम लोन पर बचा सकेंगे 7.24 लाख रुपये, लेकिन नहीं मिलेगा पूरा फायदा

डिजिटल पेमेंट बढ़ाने पर सरकार का जोर

इन बड़े बिजनेस में ई-पेमेंट की सुविधा देने के लिए इस साल 1 नवंबर 2019 से इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 269SU के तहत नया नियम लागू कर दिया जायेगा। लिहाजा, इस नियम के लागू होने के बाद यूपीआई बेस्ड पेमेंट में इजाफा हाेगा। साथ ही सरकार के डिजिटल पेमेंट की योजना को भी समर्थन मिलेगा। हालांकि, वित्त मंत्री के भाषण में 'निश्चित डेबिट कार्ड' से कुछ लोग यह भी मान रहे हैं कि सरकार रूपे और अन्य कार्ड ( मास्टर कार्ड व वीजा कार्ड) पेमेंट के बीच एक लकीर खींचने की कोशिश कर रही है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned