Post Office Small Savings Schemes: पोस्ट ऑफिस की इन योजनाओं से कमा सकते हैं लाखों रुपये, जानिए कैसे?

-Post Office Small Saving Scheme: छोटी-छोटी बचत ही कोरोना ( Coronavirus ) जैसे संकट के दौर में काम में आ सकती है।
-पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) में छोटी बचत ( Small Saving Schemes ) करने के कई विकल्प मौजूद हैं, क्योंकि पोस्ट ऑफिस ( Post Office Scheme ) में आपका पैसा 100 फीसदी सुरक्षित रहता है।
-पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट ( Post Office RD ), पोस्ट ऑफिस पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( POPPF ) , पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन स्कीम ( POSCS ), सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) जैसे कई स्कीम उपलब्ध हैं।

By: Naveen

Updated: 01 Jul 2020, 04:25 PM IST

नई दिल्ली।
Post Office Small Saving Scheme: छोटी-छोटी बचत ही कोरोना ( Coronavirus ) जैसे संकट के दौर में काम में आ सकती है। पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) में छोटी बचत ( Small Saving Schemes ) करने के कई विकल्प मौजूद हैं, क्योंकि पोस्ट ऑफिस ( Post Office Scheme ) में आपका पैसा 100 फीसदी सुरक्षित रहता है। इसलिए आप बिना जोखिम के निवेश कर सकते हैं। पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट ( Post Office RD ), पोस्ट ऑफिस पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( POPPF ) , पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन स्कीम ( POSCS ), सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) जैसे कई स्कीम उपलब्ध हैं, जिसमें बहुत कम पैसे से निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। खास बात है कि इनमें पैसा सुरक्षित के साथ रिटर्न भी अच्छा मिलता है।

पोस्ट ऑफिस छोटी बचत योजनाओं के पात्रता मानदंड ( Post Office Small Savings Schemes Eligibility )
पोस्ट ऑफिस की बचत योजना के लिए आवेदन करने के लिए भारतीय नागरिक की उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए। नाबालिग की ओर से अभिभावक बचत खाता खोल सकते हैं। इसके अलावा ज्वाइंट खाता दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है

पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट स्कीम ( Post Office Recurring Deposit )
रेकरिंग डिपॉजिटपोस्ट ऑफिस की एक स्कीम है, जिसमें छोटी-छोटी किस्तों में जमा राशि पर अच्छा रिटर्न मिलता है। पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट पांच साल के लिए खोल सकते है। फिलहाल इस स्कीम में 5.8 प्रतिशत ब्याज मिल रहा है। बता दें कि भारत सरकार अपनी सभी लघु बचत योजनाओं की ब्याज दर की हर तिमाही पर घोषणा करती है।

आज से Bank, ATM, PF, LPG-Gas से जुड़े नियमों में हुआ बदलाव, जिन्हें जानना आपके लिए हैं जरूरी

पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन स्कीम ( SCSS )
पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटीजन योजना के लिए 60 साल या उससे अधिक आयु के लोग आवेदन कर सकते हैं। इस योजना में जमा राशि पर 7.4 फीसदी दर ब्याज का मिलता है। प्रिंसिपल के लिए 5 साल की लॉक-इन अवधि होती है, लेकिन जुर्माना अदा करने के बाद एक वर्ष पूरा होने के बाद समय से पहले निकासी की अनुमति दी जाती है। इस योजना में अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। एक वरिष्ठ नागरिक युगल संयुक्त रूप से 30 लाख रुपये तक का निवेश कर सकता है

सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY )
सुकन्या समृद्धि योजना पर निवेश पर 8.5 फीसदी दर के हिसाब से सालाना ब्याज मिलता है। इस योजना के माता-पिता को केवल 14 साल तक निवेश करना होता है। इसके बाद 21 साल होने पर मैच्योरिटी मिल जाती है। 14 साल के बाद क्लोजिंग राशि पर 8.5 फीसदी सालाना के हिसाब से ब्याज मिलेगा।

पोस्ट ऑफिस पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( PPF )
पोस्ट ऑफिस की पब्लिक प्रोविडेंट फंड में जमा राशि पर सालाना 7.9 फीसदी की दर से ब्याज मिलता हे। इसमें व्यक्ति एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख का निवेश कर सकते हैं। स्कीम में पैसे जमा आप एकमुश्त राशि या 12 किस्तों में कर सकते हैं। इसमें मैच्योरिटी की अवधि 15 साल है।इसमें ज्वॉइंट अकाउंट नहीं खोला जा सकता और भारत का एक नागरिक एक अकाउंट ही खोल सकता है।

Post Office Recurring Deposit: 150 रुपये निवेश पर मिलेंगे 7 लाख 30 हजार रुपये, ऐसे उठा सकते हैं फायदा

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम ( POMIS )
इस योजना में मंथली रिटर्न मिलता है, जो पूरी तरह सुरक्षित है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए यह एक अच्छी स्कीम है, जिसमें एक सुनिश्चित मंथली इनकम और साथ ही ब्याज मिलता है। दो या तीन व्यक्ति एक संयुक्त खाता खोल सकते हैं। जिसमें सभी खाताधारकों की समान हिस्सेदारी होगी। एकल खातों को संयुक्त खातों में भी परिवर्तित किया जा सकता है। जमा की न्यूनतम सीमा 1,500 रुपये और अधिकतम राशि 4.5 लाख रुपये है। संयुक्त खाताधारकों के लिए, सीमा 9 लाख रुपये है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned