CAA Protest उपद्रवियों के पोस्टर लगने के बाद संपत्ति नुकसान की भरपाई शुरू

मामले में प्रशासन ने 900 लोगों को चिन्हित किया गया था।

फिरोजाबाद। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध के नाम पर विगत 20 दिसंबर को सुहागनगहरी में जमकर बवाव हुआ था। इस उपद्रव में पथराव व फायरिंग की गई थी। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को निशाना बनाया गया। यहां तक कि पुलिस और मीडियाकर्मिय़ों के वाहन फूंक दिए गए। मामले में प्रशासन ने 900 लोगों को चिन्हित किया गया था।

यह भी पढ़ें- प्रेमिका के साथ होली खेलने में नाकाम हुए युवक ने खुद को मारी गोल

26 लोगों को अपर जिलाअधिकारी ने नोटिस जारी किए थे। उपद्रवियों को चिन्हित कर उनके पोस्टर सार्वजनिक स्थानों पर लगाए गए थे। उपद्रवियों से नुकसान की भरपाई के लिए नोटिस जारी होने के बाद रिकवरी की कार्रवाइ शुरू हुई थी। प्रशासन की सख्ती के चलते अब तक चार लाख रुपए रिकवरी के तौर पर आ चुके हैं हालांककि कुल 45 लाख के नोटिस जारी किए गए हैं।

यह भी पढ़ें- लखनऊ के इकाना स्टेडियम में होने वाला भारत दक्षिण अफ्रीका दूसरा वनडे मैच कोरोना वायरस के साये में, उत्तर प्रदेश शासन से मांगी राय

बता दें कि बीते 20 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के नाम पर सुहाग नगरी में जमकर बवाल हुआ था। एकाएक उपद्रवी सड़कों पर उतर आए। पेट्रोल बंब फेंके गए। फायरिंग की गई। एक पुलिस चौकी आग के हवाले कर दी गई। पुलिस और मीडियाकर्मियों के वाहनों को फूंक दिया गया। शहर में कई दिनों तक इंटरनेट सेवा बंद रही। इस उपद्रव में सरकारी संपत्ति का नुकसान हुआ। प्रशासन की तरफ से इसकी भरपाई शुरू कर दी गई है।

CAA protest नागरिकता संशोधन कानून
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned