VIDEO:स्याही खत्म हो गयी “माँ“ लिखते-लिखते, उसके प्यार की दास्तां इतनी लंबी थी, ब्रहृमकुमारी सेवा केन्द्र कुछ इस तरह मना मदर्स डे

VIDEO:स्याही खत्म हो गयी “माँ“ लिखते-लिखते, उसके प्यार की दास्तां इतनी लंबी थी, ब्रहृमकुमारी सेवा केन्द्र कुछ इस तरह मना मदर्स डे
mothers day

arun rawat | Updated: 12 May 2019, 07:21:38 PM (IST) Firozabad, Firozabad, Uttar Pradesh, India

- ब्रहृमकुमारी सेवा केन्द्र रामनगर द्वारा मनाया गया मातृ दिवस, महिला शक्ति को नमन कर किया गया स्वागत।

फिरोजाबाद। रविवार को ब्रह्माकुमारी सेवा केंद्र रामनगर पर मातृदिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में महिला सशक्तिकरण पर बल दिया गया। उपहार देकर उन्हें सम्मानित किया गया। समाज में महिलाओं की भागेदारी और उन्हें सशक्त बनाने के लिए भी प्रेरित किया गया। बालिकाओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

 

 

रामनगर में हुआ आयोजन
मुख्य अतिथि शिव प्रसाद मेमोरियल काॅलेज की अध्यापिका शोभा ने मातृ दिवस का महत्व बताते हुए कहा कि शिव शक्ति सबसे बड़ी शक्ति हैं। शिव हमारी मां हैं जिनके द्वारा सभी को सुख शांति की पालना मिलती है। जिस कार्य को मां कर सकती है उस कार्य को कोई नहीं कर सकता। मां जगत जननी है। स्वयं दुख सहनकर अपने बच्चों को सुख देने का काम करने वाली एक मात्र मां है। सेवा केन्द्र प्रभारी विजय बहन ने कहा कि ब्रह्मा हमारी सबसे बड़ी मां हैं। उन्होंने इस श्रृष्टि की रचना की है। उन्होंने ही इस श्रृष्टि को स्वर्ग बनाया है।

हर रोज मनाएं मदर्स डे
मदर्स डे हर साल मई मास के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। इस दिन मां की ममता जाग्रत होती है। तनु बहन ने काव्य पाठ करके मां की महिमा का वर्णन किया। उन्होंने पढ़ा- बंद किस्मत के लिये कोई चाबी नही होती, सुखी के उम्मीदों की कोई डाली नही होती। जो झुक जाए मां-बाप के चरणों में, उसकी झोली कभी खाली नही होती। करो दिल से सजदा तो इबादत बनेगी, मां-बाप की सेवा अमानत बनेगी, खुलेगा जब तुम्हारे गुनाहों का खाता, तो मां-बाप की सेवा जमानत बनेगी। हजारों गम हों फिर भी मैं ख़ुशी से फूल जाता हूं, जब हस्ती है मेरी मां मैं हर गम भूल जाता हूं।

अपना घर ही अंजान सा लगता है
स्याही खत्म हो गयी “माँ“ लिखते-लिखते, उसके प्यार की दास्तां इतनी लंबी थी। न जाने क्यों आज अपना ही घर मुझे अनजान सा लगता है, तेरे जाने के बाद ये घर-घर नहीं खाली मकान सा लगता है। इस मौके पर ममता बहन, चित्रा बहन, निधि बहन, दीपू बहन, रेनू बहन, जनक माता शिवदेवी, माया देवी आदि मौजूद रहे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned