चेन्नइयन एफसी के कोच बोले, मौके गंवाने के कारण अच्छा खेलने के बावजूद हारे

ISL फाइनल में एटीके से 1-3 से हारकर तीसरी बार खिताब जीतने से चूकी CFC टीम के मुख्य कोच कोच ओवेन कॉयले ने कहा कि उनकी टीम बेहतर फुटबॉल खेली।

By: Mazkoor

Updated: 15 Mar 2020, 03:44 PM IST

फातोर्दा : चेन्नइयन एफसी (CFC) इंडियन सुपर लीग (ISL) के छठे सीजन के फाइनल में एटीके से 1-3 से हारकर तीसरी बार खिताब जीतने से चूक गई। अपनी टीम की हार पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चेन्नइयन के मुख्य कोच ओवेन कॉयले ने कहा कि उनकी टीम बेहतर फुटबॉल खेली, लेकिन साथ में गोल करने के कई मौके भी गंवाए।

स्पेनिश मिडफील्डर जेवियर हनार्डिज के बेहतरीन दो गोल की मदद से के दम पर एटीके ने शनिवार को फातोर्दा, गोवा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए फाइनल में दो बार की चैंपियन चेन्नइयन एफसी को 3-1 से हराकर रिकॉर्ड तीसरी बार खिताब जीत दर्ज की। एटीके इससे पहले 2014 और 2016 में भी विजेता रह चुकी है।

पराग्वे में ब्राजील के दिग्गज फुटबॉलर रोनाल्डिन्हो गिरफ्तार, जाली पासपोर्ट पर घुसने का आरोप

कॉयले बोले, मौके न भुनाने का भुगतना पड़ा खामियाजा

कॉयले ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आज सिर्फ स्कोरलाइन ही गलत रहा। अगर आप मौकों को नहीं भुनाएंगे तो इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि उनके लिए आज प्लेयर ऑफ द मैच के हकदार गोलकीपर अरिंदम भट्टाचार्य हैं। उन्होंने कुछ शानदार बचाव किए। कॉयले ने कहा कि उन्हें लगता है कि इस जीत का श्रेय एटीके को श्रेय देना चाहिए, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि उनकी टीम बेहतर नहीं थी। कॉयले ने कहा कि हम एक ऐसी टीम थे, जिसने बेहतर फुटबॉल खेली, लेकिन साथ में गोल के मौके भी गंवाए।

फुटबॉल : दो नवंबर से शुरू होगा फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप, पहली बार हो रहा है भारत में आयोजित

यह रात हमारी नहीं थी

चेन्नइयन के कोच ने कहा कि बतौर क्लब उनकी टीम ने शानदार क्लास दिखाया। आज की रात हमारी रात नहीं थी। कॉयले ने कहा कि जीत के लिए विजेता टीम को बधाई देना चाहिए, क्योंकि यही खेल की प्रकृति है। उन्होंने अपने खिलाड़ियों से कहा है कि अगली बार आप भी इस स्थिति में होंगे, जब आप ट्रॉफी उठाएंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned