Ghaziabad Mass Suicide: पांच लोगों की मौत के आरोपी ने बताई ऐसी सच्चाई, जो अभी तक किसी को नहीं थी मालूम

Highlights:

-मंगलवार सुबह हुई 5 मौतों के आरोपी Rakesh Verma को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है

-Ghaziabad Police की हिरासत में आया राकेश मृतकों का करीबी रिश्तेदार है

-परिवार ने अपनी मौतों से पहले जो Suicide Note दीवार पर लिखा था उसमें राकेश को जिम्मेदार ठहराया गया है

गाजियाबाद। जनपद के थाना इंदिरापुरम इलाके (Ghaziabad Indirapuram Mass Suicide Case) में मंगलवार की सुबह हुई 5 मौतों (Five Death-Murder Case) के आरोपी राकेश वर्मा (Rakesh Verma Arrested) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) की हिरासत में आया राकेश मृतकों का करीबी रिश्तेदार है। परिवार (Family suicide) ने अपनी मौतों से पहले जो सुसाइड नोट (Suicide Note) दीवार पर लिखा था उसमें साफ तौर पर राकेश वर्मा को जिम्मेदार ठहराया गया है। वहीं आरोपी ने खुद को बेगुनाह बताया है।

यह भी पढ़ें : घर में दीवार से चिपके मिले थे 10 हजार रुपये, पुलिस ने 2 करोड़ रुपये लेने वाले को किया गिरफ्तार

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने मृतक के बड़े भाई देवेंद्र की तहरीर पर राकेश वर्मा और उसकी मां फूला देवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जिसके आधार पर राकेश वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। अभियुक्त एक शातिर किस्म का अपराधी है जो अपने नजदीकी लोगों को प्रोपर्टी के कारोबार में पैसा लगवाता और कम समय में अधिक लाभ देने का लालच देता है। अभियुक्त ने पूछताच में बताया कि उसने अपने साढ़ू गुलशन से प्रोपेर्टी कारोबार में पैसा लगवाया था। जिसमें गुलशन ने अपने अलावा अपने अन्य परिचितों से पैसे लेकर भी लगाया था।

प्रोपर्टी कारोबार में लगाया था पैसा

राकेश वर्मा का कहना है कि जिन लोगों से पैसा लेकर गुलशन ने उसके प्रोपेर्टी कारोबार में लगाया उनमें से अधिक को वह नहीं जानता। लेकिन, प्रवीण बक्शी जो गुलशन का करीबी है और सीए है का पैसा भी गुलशन ने राकेश के कारोबार में लगाया था। गुलशन और प्रवीण बक्शी ने उस पर दवाब बनाकर चैकों पर हस्ताक्षर भी कराए थे और 100 रुपये के स्टांप पर एग्रीमेंट भी कराया था।

यह भी पढ़ें: 38 रुपये किलो मिल रही है प्‍याज, ज्‍यादा दाम लेने वाले की इस नंबर पर करें शिकायत

आरोपी जा चुका है जेल

आरोपी राकेश ने पुलिस पूछताछ में बताया कि गुलशन और प्रवीण ने उसके और उसकी मां फूला देवी के खिलाफ पहले से थाना साहिबाबाद में दो मुकदमे भी दर्ज कराए थे। जिसमें उसे और उसकी मां को जेल भी जाना पड़ा था। जिसमें उसकी जमानत हुई।

आरोपी ब्याज पर लेता था पैसे

एसएसपी ने बताया कि आरोपी का कहना है कि वह पूरा पैसा पांच प्रतिशत के ब्याज पर लेता था और इसके हिसाब से उसके साढ़ू गुलशन को पैसा वापस करना था। उसने 98 लाख रुपये वापस कर दिए थे, लेकिन गुलशन और प्रवीण बक्शी का कहना था कि अबी 1 करोड़ 39 लाख रुपये ब्याज सहित शेष हैं। राकेश के खिलाफ धारा 302 व 306 में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं गुलशन की दो पत्नी के सवाल पर एसएसपी ने कहा कि अभी इसकी पुष्टी नहीं हो सकी है।

यह भी पढ़ें : Priyanka Gandhi Vadra के घर में घुसने वाली संदिग्ध कार मेरठ के इस कांग्रेस नेता की निकली

यह था मामला

गौरतलब है कि घटना मंगलवार को गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके के वैभव खंड स्थित कृष्णा सफायर सोसायटी में घटी थी। 805 नंबर फ्लैट में रहने वाले गुलशन ने अपनी पत्‍नी परमीना और मैनेजर संजना के साथ आठवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली थी। इससे पहले गुलशन के दो बच्‍चों रितिक और रितिका की हत्‍या कर दी गई थी। सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण आर्थिक तंगी बताया गया था। इसमें गुलशन ने अपने साढ़ू राकेश वर्मा को जिम्‍मेदार ठहराया था। घर की दीवार पर सुसाइड नोट के अलावा 10 हजार रुपये भी चिपके मिले थे। इसमें 500 रुपये के 18 नोट थे जबक‍ि बाकी 100-100 के नोट थे। साथ ही में लिखा था कि ये उनकी क्रियाकर्म के पैसे हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned