सावधान! कहीं आपने भी तो इस LIC एजेंट से नहीं ली पॉलिसी

शालीमार गार्डन इलाके में Life Insurance Corporation of India (LIC) के नाम पर हो रही थी ठगी

By: sharad asthana

Published: 07 Jun 2018, 11:21 AM IST

गाजियाबाद। दिल्ली-एनसीआर में लगातार फर्जी कॉल सेंटरों के मामले सामने आ रहे हैं। गाजियाबाद के पॉश एरिया शालीमार गार्डन इलाके में फर्जी कॉल सेंटर पकड़ा गया है। सरकारी बीमा कंपनी Life Insurance Corporation of India (LIC) के नाम पर इस कॉल सेंटर में ठगी हो रही थी। यही नहीं देश के बड़े प्राइवेट बैंकों में नौकरी लगवाने के नाम पर यहां पर बेरोजगारों से ऑनलाइन पेमेंट लेकर ठगी को अंजाम दिया जा रहा था। पुलिस ने इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी अभी फरार बताया जा रहा है। कॉल सेंटर के तार दिल्ली से जुड़े हुए हैं।

देखें वीडियो: शराब ठेके पर हुए झगड़े के बाद चलाई गोली

बेरोजगारों से की ठगी

साहिबाबाद इलाके के शालीमार गार्डन में यह फर्जी कॉल सेंटर चल रहा था। पुलिस के मुताबिक, देश की सरकारी बीमा कंपनी LIC में नौकरी दिलाने के नाम पर इस कॉल सेंटर से ठगी को अंजाम दिया जा रहा था। यह कॉल सेंटर देश के कई बड़े प्राइवेट बैंकों में नौकरी लगवाने के नाम पर भी बेरोजगारों को ठग रहा था। बाकायदा कॉल सेंटर पर LIC ऑफ इंडिया का बोर्ड भी लगाया गया है। इस पर एलआईसी एजेंट अनुज का नाम लिखा हुआ है। पुलिस ने मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके नाम अनुज, जावेद, अंकुर, आयुष, सुरेंद्र, मोहित और शिवम बताए जा रहे हैं। ये आरोपी बीए पास बताए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: खून का बदला खून...तीन साल पुराने हत्या मामले इस तरह लिया बदला! सहमे इलाके के लोग

आरोपियों में एक एलआईसी का एजेंट भी

गिरफ्तार आरोपियों में से एक LIC का एजेंट भी बताया जा रहा है। पुलिस को इनके पास से 12 मोबाइल, एक निजी बैंक का लेटरहेड और एक लैपटॉप भी मिला है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार किए गए आरोपी लोगों को फोन करके एलआईसी की सस्ती जीवन बीमा पॉलिसी देने का वादा करते थे और उनको फर्जी पॉलिसी थमा दिया करते थे। इसके एवज में वह प्रीमियम भी लेते रहते थे। पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर रही है। पकड़े गए आरोपी खुद भी कह रहे हैं कि वे इस कॉल सेंटर में काम कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: पिता ने पीएम और सीएम के खिलाफ की पोस्ट तो भड़का बेटा, पिता के खिलाफ उठाया बड़ा कदम

ऑनलाइन ली है ज्यादातर पेमेंट

इस मामले में सीओ साहिबाबाद राकेश मिश्रा का कहना है कि जल्द इस मामले में मुख्य आरोपी को भी पकड़ लिया जाएगा। दिल्ली में एक फर्जी कंपनी बनाकर भी ये आरोपी काम कर रहे थे। अब तक जितनी भी पेमेंट इन्होंने ली है, उसमें से ज्यादातर ऑनलाइन माध्यम से ली गई है। जांच में पता चला है कि गिरोह अब तक दर्जनों लोगों के एक करोड़ रुपये से अधिक की ठगी कर चुका है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: बेखौफ बदमाशों का कहर, रोडहोल्ड कर व्यापारी के बेटे को दिनदहाड़े मारी गोली, 60 हजार लूटे

Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned