सौभाग्य योजना भी नहीं बदल पाई गरीबों का भाग्य, 10 साल से बिना बिजली रह रहे कई परिवार

मोदीनगर में बिना बिजली रह रहे 15 परिवार। दस साल से नहीं मिल रही बिजली-पानी। कई बार गुहार लगाने पर भी नहीं हुई कोई सुनवाई।

By: Rahul Chauhan

Published: 14 Jun 2021, 01:23 PM IST

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार की लोगों को बिजली उपलब्ध कराने वाली सौभाग्य योजना भी नहीं बदल पाई गरीबों का भाग्य। इसकी बानगी उस वक्त सामने आई जब मोदीनगर इलाके में रहने वाले 10-15 परिवार के लोगों ने बताया कि ये परिवार पिछले 10 साल से बिना बिजली के रह रहे हैं। लेकिन ये परिवार अब बिजली न मिलने के कारण पलायन करने को मजबूर हैं। मिली जानकारी के अनुसार मोदीनगर के ग्राम बिसोखर की लंकापुरी में 10-15 परिवार ऐसे हैं जो करीब पिछले 10 साल से बिना बिजली पानी के रह रहे हैं। वहां रहने वाले इन लोगों का आरोप है कि बार-बार बिजली विभाग और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाने के बाद भी आज तक उन्हें बिजली नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़ें: स्वामित्व योजना : गांव में अपने घर का मालिकाना हक कहीं सपना न रह जाए

इन लोगों का आरोप है कि उनके घरों में बिजली दिए जाने के लिए बिजली विभाग अलग से ट्रांसफार्मर लगाने के नाम पर पैसा मांगा जा रहा है। उधर लॉकडाउन के कारण उनके काम धंधे पूरी तरह चौपट हो चुके हैं। इसलिए उन्हें अपना परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है,तो फिर यह लोग कहां से इतने पैसे जमा कर पाएंगे। इसलिए अपनी समस्या से परेशान होकर अब लोग अपने जनप्रतिनिधियों को भी कोसते हुए नजर आ रहे हैं। क्योंकि जनप्रतिनिधियों की तरफ से इनकी समस्या के समाधान के लिए कोई सार्थक कदम नहीं उठाया गया है जबकि चुनाव में बिजली मुहैया कराए जाने का वादा किया गया था।

आरोप है कि बिजली न होने के कारण लोग घरों में बीमारी का शिकार हो रहे हैं और छोटे बच्चे अक्सर बीमार रहते हैं। इन परिवारों का यह भी कहना है कि इनकी इस कॉलोनी को बिजली विभाग अवैध भी बता रहा है जबकि इस कॉलोनी में अन्य लोगों के घरों में बिजली मौजूद है। यानी इन्हें बहुत दिन से गुमराह किया जा रहा है। जिस कारण ये परिवार अब यहां से पलायन को मजबूर हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें: गर्लफ्रेंड से दोस्त ने कर ली दोस्ती तो बना डाली रंगदारी के बाद हत्या की प्लानिंग

उधर इस पूरे मामले में इलाके के बिजली विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर अमित सक्सेना का कहना है कि जिस कॉलोनी में यह लोग रह रहे हैं। उसका एस्टीमेट बनाकर अलग से ट्रांसफार्मर लगाए जाने के लिए पैसा जमा किया जाना है। यदि यह सभी लोग एस्टीमेट का पैसा जमा कराते हैं तो बिजली का कनेक्शन दे दिया जाएगा।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned