स्वामित्व योजना : गांव में अपने घर का मालिकाना हक कहीं सपना न रह जाए

- कोरोना की वजह से प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की रफ्तार कम
- सूबे में आठ जून 2021 तक 21,642 गांवों में ड्रोन सर्वे का कार्य पूरा
- अब तक सिर्फ 2005 गांवों के निवासियों को ही घरौनी मिली

 

By: Mahendra Pratap

Updated: 14 Jun 2021, 12:31 PM IST

लखनऊ. swamitva yojana ग्रामीणों को अपनी आवासीय संपत्तियों का मालिकाना हक का इंतजार जारी है। प्रदेश में 49 ड्रोन टीमें हवाई सर्वेक्षण का कार्य पूरा करने में लगी हैं। पर कोरोना की काली छाया की वजह से काम की गति धीमी पड़ गई है। वजह, राजस्व विभाग के अफसर-कर्मचारी कोरोना राहत कार्यों में जुट गए। जिस वजह से प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की रफ्तार कम हो गई है। सूबे में आठ जून 2021 तक 21,642 गांवों में ही ड्रोन सर्वे का कार्य पूरा किया जा सका है। प्रदेश में अब तक सिर्फ 2005 गांवों के निवासियों को ही घरौनी का वितरण किया जा सका है।

यूपी बोर्ड के 10वीं व 12वीं के परीक्षार्थियों के लिए सीएम योगी का बड़ा फैसला, इस बार नहीं बनेगी मेरिट लिस्ट

स्वामित्व योजना जानें :- स्वामित्व योजना के तहत सदियों से गांव की आबादी की जमीन पर अपना मकान बनाकर रह रहे लोगों को उनके उस मकान के भूखंड का सरकारी अभिलेखों में मालिकाना हक दिया जा रहा है। इससे गरीब आदमी, जमीन का मालिक बनेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अप्रैल, 2020 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया था। 1 फरवरी 2021 को स्वामित्व योजना को देशभर में लागू किया गया। यूपी में हवाई सर्वेक्षण का कार्य देश में जुलाई 2020 में बाराबंकी के पांच गांवों से शुरू हुआ था। हवाई सर्वेक्षण का कार्य भारतीय सर्वेक्षण विभाग करा रहा है।

अब तक 21,642 गांवों का सर्वे पूरा :- उत्तर प्रदेश में 82,913 गांव अधिसूचित किए गए जहां ड्रोन से हवाई सर्वेक्षण किया जाना है। इसमें 11,550 गांव गैर आबाद हैं, जहां सर्वे नहीं हो सकता है। बाकी 71,363 अधिसूचित गांव का सर्वे होना है। मार्च 2021 तक यूपी के 54 हजार गांवों में हवाई सर्वेक्षण का कार्य पूरा करने पर सहमति जताई गई थी। आठ जून 2021 तक 21,642 गांवों में ही ड्रोन सर्वे पूरा किया जा सका है।

कोरोना और पंचायत चुनाव बने रोड़ा :- इस बारे में उत्तर प्रदेश के राजस्व विभाग के अधिकारियों का कहना है कि, कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की वजह से स्वामित्व योजना का काम प्रभावित हुआ है। राजस्व विभाग का अमला कोरोना आपदा राहत कार्यों में व्यस्त हो गया। फिर पंचायत चुनाव ने उसकी व्यस्तता और बढ़ा दी। बड़े पैमाने पर राजस्व विभाग के कार्मिकों के कोरोना संक्रमित होने के कारण भी काम की रफ्तार सुस्त हुई।

coronavirus
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned