Ghaziabad: चलते-चलते अचानक दो टुकड़ों में बंट गई Kaifiyat Express

Highlights

  • Ghaziabad Railway Station पर बड़ा हादसा होने से बचा
  • S-9 और S-10 के बीच की कपलिंग खुलने से हुआ हादसा
  • करीब 45 मिनट बाद जोड़ा गया दोनों बोगियों को

गाजियाबाद। उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गाजियाबाद (Ghaziabad) रेलवे स्टेशन (Railway Station) के प्लेटफॉर्म नंबर-2 पर सोमवार (Monday) रात को बड़ा हादसा होने से बच गया। सोमवार रात को गाजियाबाद स्‍टेशन से चलते ही कैफियत एक्सप्रेस (12226) दो टुकड़ों में बंट गई। दो बोगियों की कपलिंग खुलने की वजह से यह हादसा हुआ।

यह भी पढ़ें: UP Board Exam 2020: यूपी बोर्ड की परीक्षा शुरू, डीजे बजाने वालों के खिलाफ यहां करें शिकायत

रेल यात्रियों में मची अफरा-तफरी

इससे रेल अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही रेल यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में रेलवे कर्मचारी मौके पर पहुंचे। करीब 45 मिनट की मशक्‍कत के बाद दोनों बोगियों को आपस में जोड़कर ट्रेन को वहां से रवाना किया गया। गनीमत रही कि हादसे में किसी यात्री को कोई चोट नहीं आई है।

झटके के साथ अलग हो गए कोच

पुरानी दिल्ली (Delhi) से चलकर आजमगढ़ (Azamgarh) जाने वाली कैफियत एक्सप्रेस (Kaifiyat Express) सोमवार रात 7.51 बजे गाजियाबाद स्टेशन पहुंची थी। प्‍लेटफार्म नंबर-2 पर वह दो मिनट खड़ी रही। रात 7.53 पर प्‍लेटफार्म से उसको रवाना किया गया। वहां से निकलते ही ट्रेन दो हिस्‍सों में बंट गई। जैसे ही ट्रेन वहां से चली तो एस-9 और एस-10 के बीच की कपलिंग खुल गई। इससे झटके के साथ ट्रेन के हिस्‍से हो गए। इस तरह ट्रेन रुकने से रेल कर्मचारियों समेत यात्रियों में भी अफरा-तफरी मच गई। झटका लगने से कुछ यात्रियों ने शोर भी मचा दिया।

यह भी पढ़ें: 600 करोड़ के घोटाले का आरोपी पूर्व मुख्य सचिव वाईपी सिंह चढ़ा पुलिस के हत्थे

करीब पौने 9 बजे रवाना हुई ट्रेन

जानकारी मिलने पर जीआरपी, आरपीएफ और स्‍टेशन मास्‍टर मौके पर पहुंचे। इसके बद रेलवे के टेक्निकल स्‍टाफ को वहां बुलाया गया। उन्‍होंने करीब 45 मिनट में कपलिंग को जोड़ा। इसके बाद रात करीब पौने 9 बजे ट्रेन को वहां से रवाना किया गया। हादसे में किसी भी यात्री को कोई चोट नहीं आई है। गनीमत रही कि हदसा उस वक्‍त हुआ जब ट्रेन प्‍लेटफार्म से चली थी। अगर ट्रेन की रफ्तार ज्‍यादा तेज होती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned