गाजियाबाद: श्मशान की छत गिरी, 40 से अधिक लोग दबे, 18 की मौत, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख की मदद

Highlights:

-अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे सभी लोग

-खबर लिखे जाने तक राहत बचाव कार्य जारी रहा

-सीएम योगी ने मामले में मांगी रिपोर्ट

By: Rahul Chauhan

Updated: 03 Jan 2021, 04:52 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। जनपद के मुरादनगर के श्मशान घाट परिसर में रविवार दोपहर गैलरी की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया। जानकारी के अनुसार हादसे में 40 से अधिक लोग मलबे में दब गए। अधिकारियों के मुताबिक अभी तक 18 लोगों के मरने की पुष्टि है, वहीं करीब 20 लोगों को घायल अवस्था में अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। खबर लिखे जाने तक सूचना मिलने पर एसएसपी, डीएम कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ व एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंचे और राहत बचाव कार्य में जुटे रहे। वहीं सीएम योगी ने मामले में संज्ञान लेकर मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।

जानकारी के अनुसार हादसे का शिकार हुए सभी लोग मुरादनगर के डिफेंस कॉलोनी निवासी फल विक्रेता जयराम (उम्र करीब-65) की अंत्येष्टि में लोग शामिल होने पहुंचे थे। अंत्येष्टि के बाद ये सब लोग गेट से सटी गैलरी में मौन धारण करने के लिए जमा हुए थे। तभी ये हादसा हो गया। आरोप है कि करीब ढाई माह पहले ही गैलरी का निर्माण कराया गया था और इसमें घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया। जिसके चलते ये हादसा हुआ।

यह भी पढ़ें: घर में खजाना छिपा होने के नाम पर तांत्रिकों ने किसान से ठग लिए लाखों रुपए

मिली जानकारी के मुताबिक श्मशान घाट में पिलरों पर लेंटर पड़ा हुआ था। वहीं सुबह से हो रही बारिश के कारण अचानक गैलरी का लेंटर भरभराकर गिर गया। जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त मौके पर दर्जनों लोग मौजूद थे, जो अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे। सभी लोग लेंटर के मलबे के नीचे दब गए। पुलिस प्रशासन और एनडीआरएफ टीम ने बचाव अभियान चलाया। वहीं लगातार हो रही बारिश के कारण बचाव अभियान में भी दिक्कत आ रही थी। दोपहर तीन बजे तक राहत बचाव टीम द्वारा अब तक 15 लोगों को मलबे से बाहर निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका था। जिनमें से कई लोगों के मरने की भी सूचना है।

यह भी देखें: भागवत कथा में दबंगो ने मचाया उत्पात

सीएम योगी ने लिया मामले में संज्ञान

उधर, हादसे की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले में संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री ने लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान कर मण्डलायुक्त मेरठ एवं एडीजी मेरठ जोन को घटना के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned