कैसे पढ़ें प्राइमरी स्कूल के ये बच्चे, टीचर करें रहें हैं यूपी बोर्ड एग्जाम ड्यूटी

Akanksha Singh

Publish: Feb, 15 2018 12:59:04 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 12:59:05 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
कैसे पढ़ें प्राइमरी स्कूल के ये बच्चे, टीचर करें रहें हैं यूपी बोर्ड एग्जाम ड्यूटी

जिले के सरकारी परिषदीय स्कूलों के पौने दो हजार शिक्षक इण्टर कालेजों में बोर्ड परीक्षा में लगा दिये गये हैं।

गोण्डा. जिले के सरकारी परिषदीय स्कूलों के पौने दो हजार शिक्षक इण्टर कालेजों में बोर्ड परीक्षा में लगा दिये गये हैं। जिसके कारण उनके अपने स्कूल में परीक्षा पूर्व तैयारी बाधित हो गयी है। इसी को कहा गया है कि ‘आपन नैना मुझे दै तैं झुलावती रहे। गोण्डा जनपद में तकरीबतन साढ़े तीन हजार परिषदीय स्कूलों में साढ़े पांच हजार शिक्षक कार्यरत हैं। ज्यादातर प्राइमरी स्तर पर ही कार्यरत हैं। बाकी डेढ़ हजार गुरुजी पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ा रहे हैं। इन स्कूलों में साढ़े तीन लाख बच्चे विभिन्न कक्षाओं में पढ़ रहे हैं। इन बच्चों की पढ़ाई का सत्र अप्रैल से शुरू होता है और वित्तीयवर्ष के साथ ही इक्तीस मार्च को समाप्त हो जाता है। इस वर्ष भी इक्तीस मार्च को ही सत्र समाप्त हो जायेगा।

 

सत्र के आखिरी महीने में दस मार्च से कक्षा पांच और कक्षा आठ की बोर्ड परीक्षाएं होनी है। और इक्तीस मार्च को परीक्षा परिणाम घोषित किया जायेगा। कक्षा एक से कक्षा चार और कक्षा छह-सात की वार्षिक परीक्षाएं भी सम्भावतः दस मार्च से भी शुरू हो जाये। इन वार्षिक परीक्षाओं से पहले पूरी फरवरी माह में छात्रों की परीक्षा पूर्व तैयारी करायी जाती है और अट्ठाईस फरवरी तक पाठ्यक्रम भी पूरा करा लिया जाता है लेकिन इसबार बोर्ड परीक्षाओं में वित्त विहीन माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के किनारा कसी कर लेने के नाते दारोमदार राजकीय सहायता प्राप्त कालेजों के बाद सरकारी परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों पर आ पड़ा। अब हालत यह है कि जिले भर के पौने दो हजार सक्रिय परिषदीय शिक्षकों को चुन-चुन कर बोर्ड परीक्षा की ड्यूटी में लगा दिया गया है। ऐसे में तकरीबन पौने दो हजार परिषदीय स्कूलों के लाखों बच्चों की पढ़ाई अचानक बाधित हो गयी। ऐन वक्त पर उनका पाठ्यक्रम पूरा कराने वाला और परीक्षा पूर्व तैयारी कराने वाला कोई रह ही नहीगया है। इससे जिम्मेदार टीचर, पढ़ाकू लड़के, जागरुक अभिभावक बेहद चिंतित है।

1
Ad Block is Banned