scriptgorakhpur news. 10 temple of district come in new look | मकर संक्रांति तक फसाड़ लाइटों से जगमग हो जायेगा गोरखनाथ मंदिर | Patrika News

मकर संक्रांति तक फसाड़ लाइटों से जगमग हो जायेगा गोरखनाथ मंदिर

locationगोरखपुरPublished: Dec 28, 2023 05:20:23 pm

Submitted by:

anoop shukla

जिले के प्राचीन मंदिरों में पर्यटन सुविधाओं से संबंधित काम किए जाएंगे। इसमें गोरखनाथ मंदिर, जिला कारागार स्थित प्राचीन शिव मंदिर सहित दर्जनभर मंदिर शामिल हैं। इन सभी प्रस्तावों को शासन से स्वीकृति मिल गई है।जिन योजनाओं को स्वीकृति मिली है उनमें सबसे प्रमुख गोरखनाथ मंदिर में तीन करोड़ रुपये से फसाड लाइटें लगाई जाएंगी। इस कार्य को मकर संक्रांति से पहले पूरा करने का लक्ष्य है।

मकर संक्रांति तक फसाड़ लाइटों से जगमग हो जायेगा गोरखनाथ मंदिर
मकर संक्रांति तक फसाड़ लाइटों से जगमग हो जायेगा गोरखनाथ मंदिर
गोरखनाथ मंदिर जल्द ही जगमग रोशनी से नहा उठेगा, पर्यटन विभाग गोरखनाथ मंदिर को तीन करोड़ रुपये की लागत से फसाड लाइटें लगवाकर जगमग करने की तैयारी में जुट गया है। इसी क्रम में पर्यटन विभाग ने जिले के 10 से अधिक मंदिरों का भी सुंदरीकरण होगा।
जिले के दस मंदिरों का होगा कायाकल्प

धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। इसके लिए जिले के प्राचीन मंदिरों में पर्यटन सुविधाओं से संबंधित काम किए जाएंगे। इसमें गोरखनाथ मंदिर, जिला कारागार स्थित प्राचीन शिव मंदिर सहित दर्जनभर मंदिर शामिल हैं। इन सभी प्रस्तावों को शासन से स्वीकृति मिल गई है।जिन योजनाओं को स्वीकृति मिली है उनमें सबसे प्रमुख गोरखनाथ मंदिर में तीन करोड़ रुपये से फसाड लाइटें लगाई जाएंगी। इस कार्य को मकर संक्रांति से पहले पूरा करने का लक्ष्य है। इसके अलावा गांगुली टोला बशारतपुर स्थित प्राचीन शिव मंदिर में 39 लाख रुपये की लागत यात्री हॉल, स्टोन बेंच, टॉयलेट ब्लॉक, इंटरलॉकिंग आदि पर्यटन सुविधाओं से संबंधित काम कराए जाएंगे।
मार्च 2024 तक हो जायेगा कार्य पूर्ण

39 लाख रुपये की लागत से घासीकटरा स्थित कबीर आश्रम का जीर्णोंद्धार कार्य के साथ ही टॉयलेट ब्लॉक का निर्माण कराया जाना है। 72 लाख से जिला कारागार स्थित प्राचीन शिव मंदिर में संत निवास, यात्री निवास, स्टोन बेंच, बाउंड्रीवाल आदि काम कराए जाएंगे। इन सभी कार्यों को मार्च 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा सिविल लाइंस में गौरव संग्रहालय के लिए भी बजट स्वीकृत हो गया है।
क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी

क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी रविंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि गोरखपुर जिले में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्राचीन मंदिरों में पर्यटन सुविधाओं से संबंधित प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई है। इन सभी कार्यों को मार्च तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो