script ADG गोरखपुर का अभियान जो शासन स्तर पर सराहा गया और प्रदेश में हुआ लागू | gorakhpur news, ADG Zone gorakhpur system praises | Patrika News

ADG गोरखपुर का अभियान जो शासन स्तर पर सराहा गया और प्रदेश में हुआ लागू

locationगोरखपुरPublished: Dec 28, 2023 06:31:26 pm

Submitted by:

anoop shukla

"आपरेशन त्रिनेत्र" के नाम से चलाये गये इस अभियान के तहत गोरखपुर जोन में अब तक 1 लाख 1 हजार 659 कैमरो को लगवाया गया जिससे तमाम नामी गिरामी अपराधी गिरफ्तार कर जेल भेजे गए। सबसे अहम बात यह है की इस आपरेशन अभियान को शासन स्तर पर सराहा गया। जिसके फलस्वरूप पूरे प्रदेश मे इस अभियान का क्रियान्वयन कराया गया।

ADG गोरखपुर का अभियान जो शासन स्तर पर सराहा गया और प्रदेश में हुआ लागू
ADG गोरखपुर का अभियान जो शासन स्तर पर सराहा गया और प्रदेश में हुआ लागू
अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही हो या अपराधियों को सुधरने को लेकर चलाया गया अभियान, हर अभियान में जोन के एडीजी अखिल कुमार को काफी सफलता मिली। अपने 34 महीने के कार्यकाल के दौरान एडीजी अखिल कुमार ने क्राइम कंट्रोल के साथ ही कई अभियान भी चलाए।
"ऑपरेशन कवच"

'आपरेशन कवच' अभियान चलाकर अंतरराष्ट्रीय वार्डर पर अपराध नियंत्रण, अतिक्रमण हटाने व जनमानस को सुविधा संपन्न बनाए जाने के दिशा में यह अभियान शुरु किया था।

"आपरेशन तमंचा ''

इसी तरह 'आपरेशन तमंचा' अभियान में अपराधियों के पास से बरामद अवैध शस्त्रों के माध्यम से अवैध शस्त्र निर्माण करने की फैक्ट्रियों तक पहुंचने हेतु इस अभियान को शुरु किया गया था।
"आपरेशन त्रिनेत्र"

"आपरेशन त्रिनेत्र" के नाम से चलाये गये इस अभियान के तहत गोरखपुर जोन में अब तक 1 लाख 1 हजार 659 कैमरो को लगवाया गया जिससे तमाम नामी गिरामी अपराधी गिरफ्तार कर जेल भेजे गए। सबसे अहम बात यह है की इस आपरेशन अभियान को शासन स्तर पर सराहा गया। जिसके फलस्वरूप पूरे प्रदेश मे इस अभियान का क्रियान्वयन कराया गया।
"आपरेशन शिकंजा"

इस तरह 'आपरेशन शिकंजा' अभियान के तहत न्यायालय में प्रभावी पैरवी कर अपराधियों को सजा दिलाये जाने हेतु कार्यवाही की गयी तथा एक मॉनिटरिंग सेल का गठन किया गया जिसके तहत 2660 मुकदमों मे 4103 अपराधियो को सजा दिलाई गई। सजा पाने वाले अपराधियो में मृत्यु दण्ड से एक,आजीवन कारावास 420,दस वर्ष से अधिक 356, सात वर्ष व सात वर्ष से ऊपर 139,तथा सात वर्ष से कम 3187 अभियुक्तों को सजा दिलाई गई।
"आपरेशन सुदर्शन"

आपरेशन सुदर्शन के तहत जोन के सभी शहरी थाना प्रभारियों द्वारा मोहल्ला सुरक्षा समिति का गठन करने बीट उप निरीक्षक व बीपीओ द्वारा इन मुहल्लों में नशा करने वाले व्यक्तियों को सूचीबध्य करने का अभियान चलाया गया। इसके साथ ही नशीला पदार्थ उपलब्ध कराने वाले सप्लायर के विरुद्ध एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स (एएन टीएफ) के साथ मिलकर प्रभावी कार्यवाही की गई तथा नशे की लत से छुटकारा दिलाये जाने हेतु व्यक्तियों को चिन्हित करके सुधारने हेतु 'आपरेशन सुदर्शन' अभियान चलाया गया।
"ऑपरेशन ब्रह्मास्त्र"

अपराधियों को सुधरने के लिए एडीजी ने 'आपरेशन ब्रह्मास्त्र' चलाया। एडीजी श्री कुमार ने बताते है कि "आपरेशन ब्रह्मास्त्र" अभियान के तहत अपराध नियंत्रण करना एवं अपराध होने की स्थिति में अपराधी का पता लगाकर घटनाओं का अनावरण करना पुलिस का मुख्य कार्य है। अपराध नियंत्रण हेतु एक महत्वपूर्ण व्यवस्था सक्रिय अपराधियों की निगरानी होती है। इसमें हिस्ट्रीशीटरों की निगरानी प्रमुख है। एडीजी अखिल कुमार द्वारा अपने स्तर पर परिक्षेत्रीय आईजी व डीआईजी को उपरोक्त अभियान को प्राथमिकता के आधार पर पर्यवेक्षण करने हेतु निर्देशित किया गया।
11 जिलो में कहां कितने कैमरे लगे, एक नजर में:

जनपद कैमरों की संख्या
देवरिया 5921
गोरखपुर 25789
कुशीनगर 6669
महराजगंज 7302
बस्ती 9003
संतकबीरनगर 6256
सिद्धार्थनगर 7992
गोंडा 10926
बहराइच 6483
बलरामपुर 9703
श्रावस्ती 5615

ट्रेंडिंग वीडियो