script युवाओं को डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़कर उन्हे स्वावलंबी बनाया जाए : कुलपति | gorakhpur news, mission shakti phase 4 in DDU Gorakhpur university | Patrika News

युवाओं को डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़कर उन्हे स्वावलंबी बनाया जाए : कुलपति

locationगोरखपुरPublished: Dec 11, 2023 11:44:40 pm

Submitted by:

anoop shukla

DDU Gorakhpur News : कुलपति ने कोरोना के बाद वर्क फ्रॉम होम की महत्वता को बताते हुए कहा कि आज का युग डिजिटल युग है, हमारा देश युवाओं का देश है आज के समय की मांग डिजिटल युग की मांग है , युवाओं को डिजिटल प्लेटफार्म से जोड़ दिया जाए जिससे वे डिजिटल रूप से आत्मनिर्भर एवं स्वालंबी बन सके।
कंटेंट राइटिंग क्षेत्र में बहुत बड़ा स्कोप है।

युवाओं को डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़कर उन्हे स्वावलंबी बनाया जाए : कुलपति
युवाओं को डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़कर उन्हे स्वावलंबी बनाया जाए : कुलपति
Mission Shakti : सोमवार को महिला अध्ययन केंद्र द्वारा "मिशन शक्ति ( फेस 4)" के अंतर्गत जागृति एवं गृह विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वाधान में "चार दिवसीय रचना वूमेन डिजिटल उद्यमिता कार्यशाला" का आयोजन किया गया । कार्यक्रम का उद्घाटन कुलपति प्रोफेसर पूनम टंडन , दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया।
कुलपति ने बताया वर्क फ्रॉम होम की महत्वता

कुलपति ने कोरोना के बाद वर्क फ्रॉम होम की महत्वता को बताते हुए कहा कि आज का युग डिजिटल युग है, हमारा देश युवाओं का देश है आज के समय की मांग डिजिटल युग की मांग है , युवाओं को डिजिटल प्लेटफार्म से जोड़ दिया जाए जिससे वे डिजिटल रूप से आत्मनिर्भर एवं स्वालंबी बन सके।
कंटेंट राइटिंग क्षेत्र में बहुत बड़ा स्कोप है। आज के समय की मांग के अनुसार हर व्यक्ति अपने आप को डिजिटल रूप में प्रस्तुत कर रहा है चाहे वह की कोई प्रोडक्ट हो या खुद उसका पर्सनल डिजिटल अकाउंट हर कोई यही चाहता है कि उसका अकाउंट पर मिलियंस व्यू एवं कॉमेंट्स हूं और ट्रेंड करें।
पैशन को प्रोफेशन में बदल कर ही होंगे मजबूत : दिव्या रानी सिंह

कार्यक्रम की संयोजक मिशन शक्ति की कॉर्डिनेटर तथा महिला अध्ययन केंद्र की निदेशक एवं गृह विज्ञान की प्रोफेसर दिव्या रानी सिंह ने किया और अतिथियों का स्वागत किया तथा कार्यशाला के उद्देश्य को रेखांकित करते हुए कहा कि अपने पैशन को प्रोफेशन में बदलते हैं तब ही हम आर्थिक रूप से सशक्त और भावनात्मक रूप से भी मजबूत हो पाएंगे और निर्णय प्रक्रिया में अपनी भागीदारी को सुनिश्चित कर सकेंगे ।
टेकशक्ति के अंतर्गत चल रहा है कार्यक्रम

इस कार्यक्रम का उद्देश्य डिजीटल रूप से सशक्त करना हैं । जागृति फाउंडेशन के सदस्य शिल्पी ने बताया कि यह कार्यक्रम टेकशक्ति के अंतर्गत चलाए जा रहे हैं जिसका उद्देश्य छात्राओं एवं महिलाओं में डिजिटली रूप से सशक्तिकरण करने का प्रयास किया जा रहा है। यह कार्यक्रम चार दिवसीय एडवांस्ड डिजिटल ट्रेनिंग के रूप में कंडक्ट किया जा रहा है इस कार्यक्रम में ग्रामीण एवं शहरी महिलाओं ने प्रतिभा किया जिससे वह अपने आने वाले भविष्य में अपने व्यापार को डिजिटल रूप से सशक्त एवं मजबूत कर सके । हम तभी स्वालंबी हो सकेंगे जब हम अपने निर्णय प्रकिया स्वयं भाग ले सकेंगे ।

इस कार्यक्रम में 20 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम में कार्यवाहक अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो वीणा बत्रा कुशवाहा,डॉक्टर अनुपम कौशिक, डॉक्टर नीता सिंह एवं शोध छात्र उपस्थिति रहीl कार्यक्रम में विभाग के छात्र-छात्राओं ने उत्साह के साथ प्रतिभाग किया।

ट्रेंडिंग वीडियो