Train to Nepal भारत बिछाएगा इस पड़ोसी देश में रेललाइन, जुड़ेंगे दोनों देश रेल की पटरियों से

Train to Nepal भारत बिछाएगा इस पड़ोसी देश में रेललाइन, जुड़ेंगे दोनों देश रेल की पटरियों से

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 02 Aug 2019, 01:27:35 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

  • भारतीय रेलवे की मदद से दोनों देश जुड़ेंगे रेल नेटवर्क से ( India will connect with Nepal by railline)
  • इंडो-नेपाल के व्यापारिक संबंध और मजबूत होंगे(Trade and commerce will increase between indo nepal)
  • चीनी से नेपाल की बढ़ती नजदीकी को लगेगा ब्रेक(Nepal-China closeness will also break)

भारत-नेपाल(Indo-Nepal) के बीच संबंधों में रेल अब नया सेतु बनने को तैयार है। दोनों देशों के बीच जल्द रेल सेवा के विस्तार की संभावना है(Indo nepal will have new relationship through rail lines)। दोनों देश अपनी सीमा से सटे करीब 16 किलोमीटर की रेल लाइन फिलहाल बिछाएंगे। महराजगंज से सटे सोनौली से भैरहवा तक रेल रुट पर दोनों तरफ से हरी झंडी मिल चुकी है। इस रेल सेवा से दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध और भी प्रगाढ़ होंगे। यही नहीं प्र्यअन को भी इससे बढ़ावा मिल सकेगा।

Read this also:

16 किलोमीटर तक बिछायी जाएगी रेल लाइन

महराजगंज से सटे इंडो-नेपाल सीमा के सोनौली से भैरहवा तक रेल लाइन बिछायी जाएगी( Indo nepal will connect by Railways from sonauli to bhairahwa)। भारत सरकार के सहयोग से रेल लाइन बिछाने का काम होगा( India will give full help for new rail line)। यह रेल मार्ग महराजगंज के नौतनवां रेलवे स्टेशन से होते हुए कस्बे के बाहर से निकलेगा फिर सोनौली के पिपरहिया गांव होकर नेपाल की सीमा तक पहुंचना है। इसके बाद भैरहवा के भंसार से होते हुए भैरहवा पहुंचेगा। भैरहवा में रेलवे स्टेशन बनाया जाना है। जगह के चयन की प्रक्रिया करीब करीब पूरी हो चुकी है। नेपाल सरकार रुट पर एक बार निर्णय लेते ही इसे अमलीजामा पहनाया जाएगा।

Read this also: तीन करोड़ लोन देकर भूल गया अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, सवा आठ करोड़ की होनी है वसूली

भैरहवा भंसार के पास मालगाड़ियों का डिपो भी बनेगा

इस रेललाइन की मंजूरी मिलने के बाद व्यापारियों के लिए नेपाल में व्यापार करना सबसे आसान हो जाएगा। भारतीय व्यापारी या नेपाल के व्यापारी अपना माल आसानी से एक दूसरे देश में ले जा ले आ सकेंगे। इसके लिए उनको कीमत भी कम चुकानी पड़ेगी। नेपाल सरकार ने दोनों देशों में रेल मार्ग से व्यापारिक संबंध स्ािापित हो इसके लिए भैरहवा भंसार के पास माल गाड़ियों का डिपो बनाने का निर्णय लिया है। डिपो होने की वजह से माल को आसानी से पास कराया जा सकेगा।

इन रेल लाइन को भी मिली है मंजूरी, जल्द जुड़ेंगे रेल नेटवर्क से

नौतनवां-सोनौली और भैरहवा रेल लाइन बिछाए जाने के अलावा कई अन्य रेल लाइन को भी मंजूरी मिली है। भैरहवा रेल लाइन से लुंबिनी और बुटवल तक विस्तार का प्रस्ताव है। इस रेल लाइन को भी बिछाने की मंजूरी भारत सरकार से मिल चुकी है।
इसके अलावा जलपाईगुड़ी से काकड़ भिट्ठा तक, जयनगर बिजलपुरा से बर्दिबास, जोगबनी से विराटनगर तक, रुपेनडीहा से नेपालगंज रेलवे लाइन बिछाई जाएगी। इस पूरे नेटवर्क को बनाने में भारतीय रेलवे पूर्ण सहयोग करेगा।

चेकपोस्ट्स में भी होगा इजाफा
रेल सेवा प्रारंभ होने के बाद दोनों देश अपने अपने देश में चेकपोस्टों में भी इजाफा करेंगे। भारत अपनी सीमा में दो चेकपोस्ट अतिरिक्त तो नेपाल एक अतिरिक्त चेकपोस्ट बनाएगा। चेकपोस्ट में इजाफा से चेकिंग व क्लीयरेंस में आसानी होगी।

Read this also: अब फिंगर प्रिंट से तय होगा राजेश का ही नया रुप है सोनिया, डाॅक्टर बताएंगे वह पुरुष है महिला है या कुछ और

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned