इजराइल चुनाव में भी 'मोदी मैजिक', नेतन्याहू ने लगवाए मोदी के साथ वाले पोस्टर

  • इजराइल में आगामी 17 सितंबर को आम चुनाव होने वाले हैं
  • नेतन्याहू ने डोनाल्ड ट्रंप और व्लादिमीर पुतिन के साथ भी बैनर लगवाए हैं

By: Anil Kumar

Updated: 29 Jul 2019, 09:44 AM IST

तेल अवीव। आम चुनाव 2019 में नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) और भाजपा की प्रचंड जीत ने विपक्षी दलों को तो चौंकाया ही, सबसे बड़ी बात कि पूरी दुनिया में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व क्षमता का डंका बज गया।

यही कारण है कि इजराइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ( Benjamin Netanyahu ) भी पीएम मोदी के भरोसे ही अपनी चुनावी नैया पार लगाना चाहते हैं।

दरअसल, अब पीएम मोदी का जलवा देश में ही नहीं विदेशों में भी दिखने लगा है। इजराइल में बेंजामिन नेतन्याहू के साथ खड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि वाले एक चुनावी विज्ञापन सामने आया है। नेतन्याहू ने चुनाव प्रचार के लिए मोदी के साथ अपनी तस्वीर वाला बैनर शहर में लगाया है।

इजराइल: बेंजामिन नेतन्याहू सरकार बनाने में नाकाम, 17 सितंबर को फिर से होंगे चुनाव

माना जा रहा है कि बेंजामिन नेतन्याहू पीएम मोदी के शख्सियत का फायदा उठाकर चुनाव जीतना चाहते हैं। क्योंकि 2019 आम चुनाव में पीएम मोदी के चेहरे पर भाजपा चुनाव लड़ी थी और प्रचंड जीत हासिल की थी। पीएम मोदी और बेंजामिन नेतन्याहू एक-दूसरे के अच्छे दोस्त माने जाते हैं।

इजरायली पत्रकार अमीचाई स्टीन ने रविवार को एक इमारत के बाहर लगे बैनर की तस्वीर साझा की है। इमारत में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( US President Donald Trump ) और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ( Russian President Vladimir Putin ) के बैनर भी देखे गए। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा 'नेतन्याहू का चुनावी विज्ञापन: पुतिन, ट्रंप और मोदी।'

17 सितंबर को होंगे चुनाव

बता दें कि इजराइल में 17 सितंबर को चुनाव होने वाले हैं। लिहाजा चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए बेंजामिन नेतन्याहू मतदाताओं के सामने यह दिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि दुनिया के बड़े देशों के साथ इजराइल के अच्छे संबंध हैं और वैश्विक नेताओं के साथ उनके व्यक्तिगत संबंध हैं। यदि वे सत्ता में आते हैं तो इजराइल को आगे बढ़ाने में उनकी दोस्ती काम आएगी।

सबसे बड़ी बात है कि नेतन्याहू इजराइल के इतिहास में सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले व्यक्ति हैं। हालांकि पिछले चुनाव में उन्हें कड़ी टक्कर मिली। बाद में उन्हें सरकार बनाने के लिए सहयोगी दलों का साथ लेना पड़ा।

इजरायल के चौथे सबसे अमीर नेता हैं बेंजामिन नेतन्याहू, पीएम मोदी से है खास दोस्ती, अब रचेंगे इतिहास

इसके बाद आतंरिक गुटबाजी और नेतन्याहू व उनकी पत्नी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद गठबंधन की सरकार टूट गई। लिहाजा नेतन्याहू ने इस्तीफा दे दिया और फिर से चुनाव कराने की घोषणा कर दी।

माना जाता है कि भारत और इजराइल एक व्यापक आर्थिक, सैन्य और रणनीतिक साझेदार हैं जो हाल के वर्षों में मजबूत हुए हैं। बता दें कि नेतन्याहू 2019 के आम चुनावों में भाजपा की प्रभावशाली जीत के लिए पीएम मोदी को बधाई देने वाले पहले वैश्विक नेताओं में से एक थे।

उन्होंने बधाई देते हुए अपनी 'महान दोस्ती' और साथ ही भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की कसम खाई थी।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

US President Donald Trump Prime Minister Narendra Modi
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned