सीरिया: रूसी हवाई हमले में इदलिब में तुर्की के 33 सैनिक मारे गए, NATO ने की मॉस्को की निंदा

  • UN महासचिव एंटोनियो गुटेरस ( Antonio Guterres ) ने इदलिब में हुए हवाई हमले ( Air Strike ) को लेकर गंभीर चिंता व्यक्त की
  • इस महीने इदलिब प्रांत ( Idlib Province ) में तुर्की ( Turkey ) के 53 सैन्यकर्मियों की मौत हो चुकी है

By: Anil Kumar

Updated: 29 Feb 2020, 08:56 AM IST

अंकारा। सीरिया ( Syria ) के इदलिब प्रांत ( Idlib Province ) में कब्जे को लेकर बागी समर्थक तुर्की और दमिश्क ( Damascus ) समर्थक रूस ( Russia ) के बीच तनाव गहराता जा रहा है। रूसी सेना ने इदलिब प्रांत में हवाई हमला करते हुए तुर्की के कम से कम 33 सैनिकों को ढेर कर दिया। इस हमले में दर्जनों सैनिक घायल भी हुए हैं।

यह हमला ऐसे समय हुए जब बागी समर्थक अंकारा और दमिश्क के सहयोगी मॉस्को ( Mascow ) के बीच तनाव बढ़ा है। इस हमलों में दर्जनों और सैनिक घायल हुए हैं। इस हमले को लेकर NATO ने रूस की कड़ी निंदा की है।

सीरिया: रूस-तुर्की के बीच अहम समझौता, रूसी सेना ने इदलिब में संघर्ष विराम की घोषणा की

NATO प्रमुख स्‍टोल्‍टेबर्ग ने सीरिया में संघर्षरत सभी पक्षों से कम करने के लिए आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि इदलिब में मानवीय स्थिति बहुत ही भयावह है, जल्द से जल्द इसको खत्म करने के लिए समाधान निकाला जाना चाहिए।

हालात पर UN की पैनी नजर

इधर, सीरिया के इदलिब प्रांत में चल रहे संघर्ष को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने गंभीर चिंता जताई है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ( UN Secretary General Antonio Guterres ) के प्रवक्ता स्फीफ डुजारिक ने कहा कि इदलिब के हालात पर हमारी नजर बनी हुई है। UN महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने इदलिब में हुए हवाई हमले को लेकर गंभीर चिंता व्यक्त की है।

गुटेरस ने सीरिया में तत्काल युद्ध विराम के लिए एक बार फिर से अपने आग्रह को दोहराया है। उन्होंने कहा कि सीरिया में सभी पक्षों की ओर से हो रहा सैन्य संघर्ष समाधान का हल नहीं है। गुटेरस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र शांति प्रक्रिया की बहाली के लिए सभी सं‍बंधित देश को आमत्रिंत करते हैं।

हिंसा खत्म करने के लिए आगे आए वैश्विक समुदाय: तुर्की

इधर, सीरिया में बढ़ते खतरे को देखते हुए तुर्की ( Turkey ) ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया है और कहा है कि इदलिब में हिंसा खत्म करने के लिए सभी आगे आएं। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ( President Recep Tayyip Erdogan ) के शीर्ष प्रेस सहयोगी फहार्टिन अल्टुन ने अपने एक बयान में इदलिब में हिंसा को खत्म करने के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय समुदाय का आह्वान किया है।

इतना ही नहीं, तुर्की के राष्ट्रपति के प्रवक्ता इब्राहिम कालिन ने सीरिया के ताजा हालात को लेकर अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ'ब्रायन को विस्‍तार से जानकारी दी है। इसके बाद से इस इलाके में एक बार फिर से कूटनीतिक सुगबुगाहट तेज हो सकती हैं।

तीन महीने में 400 से अधिक मौतें

आपको बता दें कि इदलिब प्रांत में सभी पक्षों की ओर से जारी हिंसा में अब तक सैंकड़ों की मौत हो चुकी है। बीते तीन महीने की बात करें तो 400 से अधिक की मौत हो चुकी है। इस महीने इस प्रांत में तुर्की के 53 सैन्यकर्मियों की मौत हो चुकी है।

इदलिब प्रांत में सीरिया और तुर्की के सैनिकों के बीच गोलीबारी, 19 जवानों की मौत

सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के अनुसार, दिसंबर से अब तक 400 से अधिक मौतें हो चुकी हैं। रूसी बमबारी में तीन बच्‍चे समेत सात नागरिकों की मौत हुई है। वहीं, न्यूज एजेंसी SANA ने माना है कि सेना और साराकब मोर्चे पर आतंकवादी समूहों के बीच भयंकर झड़प हुई। इस बीच जिहादियों और तुर्की स‍मर्थित विद्रोहियों ने गुरुवार को ईदलिब के सरायकेब पर अपना कब्‍जा कर लिया है।

गौरतलब है कि इदलिब प्रांत में कब्जे को लेकर विद्रोहियों और सरकार समर्थित सेना के बीच लागातार संघर्ष का सिलसिला जारी है। इसमें अब तक सैंकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है।

तुर्की-सीरिया के बीच 5 मार्च की बैठक रद्द

बता दें कि आगामी 5 मार्च को सीरिया के हालात को लेकर तुर्की और रूस के बीच एक अहम बैठक होने वाली थी, लेकिन अब वह रद्द हो गया है। क्रेमलिन ने इस बात से साफ इनकार किया है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन सीरिया के हालात पर चर्चा करने के लिए 5 मार्च को तुर्की के अपने समकक्ष रेसेप तैयप एर्दोगन से मिलेंगे।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने सीरिया के उत्तरपश्चिमी इदलिब प्रांत में बढ़ते तनाव के बीच इस्तांबुल में रूसी, तुर्क, जर्मन और फ्रांसीसी नेताओं के संभावित समिट पर टिप्पणी करते हुए कहा, '5 मार्च को पुतिन की अन्य कार्ययोजनाएं हैं।'

इदलिब: सीजफायर के बीच सीरियाई सरकार की बड़ी कार्रवाई, एयर रेड में दर्जनों लड़ाकों को किया ढेर

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हालांकि पेसकोव ने कहा कि रूस और तुर्की के विशेषज्ञ स्तर पर वर्किंग कम्युनिकेशन बनाए हुए हैं, मुख्य रूप से इदलिब में संकट पर चर्चा करने के लिए, जहां तुर्की सशस्त्र बलों की सीरियाई सरकारी सैनिकों के साथ झड़प हो रही है।

पिछले हफ्ते, एर्दोगन ने कहा कि इदलिब संकट पर सम्मेलन 5 मार्च को आयोजित किया जाएगा, और पेसकोव ने बाद में कहा कि पुतिन ने इस तरह की चार-पक्षीय बैठक आयोजित करने के विचार का समर्थन किया है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned