असम में बाढ़ की स्थिति विकराल, 17 जिलों के 4 लाख 23 हजार लोग प्रभावित

असम में बाढ़ की स्थिति विकराल, 17 जिलों के  4 लाख 23 हजार लोग प्रभावित

Brijesh Singh | Updated: 11 Jul 2019, 08:19:55 PM (IST) Guwahati, Kamrup Metropolitan, Assam, India

Assam Flood: असम ( Assam ) में गुरुवार को बाढ़ की स्थिति और अधिक विकराल ( Assam Flood Update ) हो गई है। गुरुवार को राज्य के 17 जिले बाढ़ की चपेट में आ गए। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल (Sarbanand Sonowal ) ने आज गुवाहाटी ( Guwahati ) से सभी जिलों के जिला उपायुक्तों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए स्थिति की समीक्षा की।

( गुवाहाटी, राजीव कुमार )। असम में बाढ़ की स्थिति और अधिक विकराल हो गई है। गुरुवार को राज्य के 17 जिले बाढ़ की चपेट में आ गए। इनमें धेमाजी, लखीमपुर, विश्वनाथ, शोणितपुर, बाक्सा, बंगाईगांव, कोकराझार, मोरिगांव, नगांव, दरंग, बरपेटा, नलबाड़ी, चिरांग, माजुली, डिब्रुगढ़, गोलाघाट और जोरहाट शामिल हैं। राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल (Sarbanand Sonowal ) ने आज गुवाहाटी ( Guwahati ) से सभी जिलों के जिला उपायुक्तों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्य के बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की और उन्हें इससे मुकाबला करने के लिए तैयार रहने को कहा।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावित ( flood Affected ) लोगों को पर्याप्त सेवा और मदद मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने प्रत्येक जिले में नियंत्रण कक्ष स्थापित करने को भी कहा। बाढ़ प्रभावित इलाकों में पूरी तरह स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हों।उ पायुक्तों को राहत व बचाव के लिए निरंतर एनडीआरएफ ( NDRF ) और एसडीआरएफ ( SDRF ) के संपर्क में रहने को कहा गया है। साथ ही लोगों के जानमाल की सुरक्षा के लिए पुलिस को बाढ़ प्रभावित इलाकों में लगातार निगरानी रखने को कहा है। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने काजीरंगा ( Kajiranga ) और मानस राष्ट्रीय उद्यानों की बाढ़ के दौरान की तैयारियों की समीक्षा की।

समीक्षा बैठक में सीएम ने दिए निर्देश

Assam flood

मुख्यमंत्री ने सभी को टीम असम के रूप में काम करने को कहा। केंद्रीय जल आयोग के अनुसार ब्रह्मपुत्र जोरहाट के निमातीघाट और तेजपुर में, दिखौ नदी शिवसागर में, धनसिरी नदी गोलाघाट जिले के नुमलीगढ़ और जियाभराली शोणितपुर में पुठीमारी कामरूप में और बेकी नदी बरपेटा में खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। 17 जिलों के 41 राजस्व सर्कल के 749 गांवों के 4 लाख 23 हजार 386 लोग प्रभावित हुए हैं। वहीं 16,730 हेक्टेयर फसल को नुकसान हुआ है। प्रभावित लोगों के लिए 11 राहत शिविर स्थापित किए गए हैं वहीं 42 राहत वितरण केंद्र स्थापित किए गए हैं।

 

असम की ताजातरीन खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

 

यह भी पढ़ें...पूर्वोत्तर भारत में भारी बारिश का अलर्ट

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned