scriptgwalior corona virus updates 28 april 2022 | Corona Virus - अब लक्षण के साथ आने लगे संक्रमित, एक साथ 6 पॉजिटिव केस मिले, स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप | Patrika News

Corona Virus - अब लक्षण के साथ आने लगे संक्रमित, एक साथ 6 पॉजिटिव केस मिले, स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप

gwalior corona virus- 230 सैंपलों में छह निकले पॉजिटिव, एक्टिव केस बढ़कर हुए 13

ग्वालियर

Updated: April 28, 2022 02:46:36 pm

ग्वालियर। कोरोना संक्रमण अब बढऩे लगा है। इस सीजन में पहली बार एक साथ छह मरीज आए है। इससे अब स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के हाथ पैर फूलने लगे है। इस महीने 12 अप्रेल को पहला केस आने के बाद धीरे-धीरे पॉजिटिव की संख्या बढ़ रही है। अभी दो दिन 3-3 मामले आए हैं। वहीं अब पहली बार एक साथ 6 केस निकले है। पिछले कई दिनों से संक्रमित में लक्षण नहीं आ रहे थे। लेकिन अब पहली बार मरीजों में लक्षण दिखाई दे रहे है। जिससे अब चिंता बढ़ गई है।

gwalior11.png

दीनदयाल नगर में रहने वाले पति- पत्नी 15 दिन पहले ही बनारस से लौटे है। वहीं तीन चार दिनों से सर्दी- खांसी की शिकायत के बाद डॉक्टर की सलाह पर जांच कराई। जीवाजीगंज निवासी 60 वर्षीय बृजृर्ग को तीन चार दिनों से सर्दी खांसी के साथ लक्षण दिख रहे थे। उसके बाद डॉक्टर के कहने पर टेस्ट कराया है। गोविंदपुरी निवासी 20 वर्षीय युवती को दो दिनों से सर्दी- खांसी की शिकायत आ रही थी। इसके अलावा 65 वर्षीय बृजृर्ग महिला नाका चंद्रवदनी और ढोली बुआ का पुल निवासी 62 वर्षीय बृजृर्ग महिला भी संक्रमित हुई है। बुधवार को 230 सैंपलों में छह पॉजिटिव आए हैं।

दो मरीज डिस्चार्ज

कोरोना के मरीज बढऩे से अब एक्टिव केस भी बढऩे लगे है। इसके चलते अब 13 एक्टिव केस हो गए हैं। बुधवार को दो लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। दो अंकों में पहली बार केस सामने आने लगे हैं।

सात दिन में 16 मरीज

कोरोना संक्रमण अब पैर पसारने लगा है। इसके चलते पिछले सात दिनों में 16 संक्रमित सामने आए है। इसमें सबसे ज्यादा 6 मरीज बुधवार को आए हैं। इससे पहले सबसे ज्यादा संक्रमित 3-3 दो बार आ चुके हैं।

संक्रमित मरीजों में लक्षण नहीं, इसलिए जांच भी नहीं करा रहे डॉक्टर

अप्रेल के महीने में कोरोना के मरीज अब धीरे- धीरे ही सही लेकिन आने लगे है। अभी तक डॉक्टरों के पास सर्दी, खांसी के मरीजों में ज्यादा लक्षण नहीं होने से डॉक्टर भी कोरोना की जांच कराने से बच रहे थे। डॉक्टरों को भी तीन से चार फीसदी मरीजों की ही जांच कराने की जरुरत पड़ रही थी। लेकिन अब लक्षण सामने आने से कोरोना बढऩे की संभावना बढ़ गई है।

यह दिक्कत है तो कराए जांच

अगर किसी को बुखार के साथ खांसी, जुखाम, सांस लेने में परेशानी के अलावा सीने में दर्द होता है तो ऐसे लोगों को कोरोना की जांच कराना चाहिए।

इनका कहना है

सर्दी, खांसी के मरीज तो आ रहे है, लेकिन उनमें कोरोना के लक्षण नहीं होने से जांच भी काफी कम करा रहे है। इस समय ऐसे मरीज तीन से चार फीसदी ही आ रहे है।

-डॉ. अजयपाल सिंह, मेडिसिन, जीआरएमसी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.