scriptIMD Rain Alert new western disturbance active in 23rd and 24th december Effect of cold wave in many districts | IMD WEATHER FORECAST: कई जिले शीतलहर की चपेट में, 48 घंटे बाद होगी झमाझम बरसात | Patrika News

IMD WEATHER FORECAST: कई जिले शीतलहर की चपेट में, 48 घंटे बाद होगी झमाझम बरसात

locationग्वालियरPublished: Dec 19, 2023 10:29:46 pm

Submitted by:

Shailendra Sharma

IMD WEATHER FORECAST: 22-23 दिसंबर के बीच प्रदेश में एक दो नए सिस्टम एक्टिव होंगे, जिसके चलते बादल छाने के साथ मालवा समेत प्रदेश के कई जिलों में हल्की बारिश हो सकती है।

cold_3.jpg

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी और वहां से आ रही सर्द हवाओं के कारण मध्यप्रदेश में ठंड ने जोर पकड़ लिया है और तापमान में तेजी से गिरावट आ रही है। सुबह और रात के साथ ही अब दिन में भी ठंड का एहसास होने लगा है और ठिठुरन बढ़ गई है। इसी बीच मौसम विभाग ने बताया है कि 22-23 दिसंबर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से बादल छाने के साथ कई जिलों में बारिश की संभावना बन रही है।

इन जिलों में शीतलहर का प्रभाव
मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश में अब शीतलहर चलने लगी है। पिछले 24 घंटों की अगर बात की जाए तो खंडवा, बैतूल, मलांजखंड और सिवनी और सागर जिलों में शीतल दिन रहा जबकि सिवनी और सागर जिलों में शीतलहर का प्रभाव देखा गया। बीते 24 घंटों में प्रदेश में सबसे कम 6 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान दतिया में दर्ज किया गया।

कब जारी किया जाता है ठंड का अलर्ट
आईएमडी के मुताबिक जब ठंडी हवाएं तेज चलने लगती हैं और उसकी वजह से तापमान में ना केवल तेजी से गिरावट शुरू हो जाती है और कोई भी चीज इसके असर से बहुत तेजी से ठंडी होने लगती है। तब इसे शीतलहर कहा जाता है। शीतलहर को हेल्थ के लिए बहुत खतरा पैदा करती हैं। शीतलहर का संबंध तापमान से जोड़ें तो हम देखते हैं कि न्यूनतम तापमान जब 4 डिग्री तक पहुंच जाता है, तब ठंड का अलर्ट या शीतलहर का अलर्ट जारी किया जाता है। इसके साथ ही शीतलहर का अलर्ट तब भी किया जाता है जब, न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम हो और सामान्य से 4.5 डिग्री कम हो। न्यूनतम तापमान के 2 डिग्री सेल्शियस रहने या सामान्य से 6.4 डिग्री सेल्शियस से अधिक रहने पर भीषण शीतलहर की घोषणा की जाती है।

ट्रेंडिंग वीडियो