MP Political Crisis : सिंधिया समर्थक इन विधायकों ने बिगाड़ा कमलनाथ सरकार का गणित!

मध्यप्रदेश के सियासी ड्रामे के बाद भाजपा में खुशी की लहर

ग्वालियर। मध्यप्रदेश के सियासी ड्रामे और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आखिकार प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का ऐलान दिया। भोपाल में जारी पत्रकार वार्ता में उन्होंने अपना इस्तीफा देने की घोषणा की। कमलनाथ को इस्तीफा देने के लिए मजबुर करने वालों में सबसे बड़ा योगदान सिंधिया समर्थक ग्वालियर चंबल संभाग के विधायकों का है। जिन्होंने कमलनाथ सरकार का सर्पोट करने से साफ मना कर दिया। जिसके बाद कमलनाथ सरकार का गिरना लगभग तय हो गया है।

इस्तीफे स्वीकार होते ही लगी अटकले
कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक विधायकों ने 11 तरीख को ही अपने इस्तीफे स्पीकार को भेज दिए थे। लेकिन उन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया और बाद में सियासी ड्रामा भी चला गया,लेकिन विधायक नहीं माने। फिर गुरुवार की रात को स्पीकर ने इन सभी 16 विधायकों के इस्तीफे स्वीकर कर लिए है। जिसके बाद कमलनाथ की सरकार जाने की अटकले लगाई जा रही है। जिन 16 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए गए है उनमें से ज्यादातर ग्वालियर चंबल संभाग के है और यह सभी सिंधिया के समर्थक है।

Jyotiraditya Scindia Supporters Mla dropped Kamal Nath's government

ग्वालियर चंबल संभाग के इन विधायकों के इस्तीफे हुए स्वीकार
एदल सिंह कंषाना सुमावली
रघुराज सिंह कंषाना मुरैना
गिर्राज डण्डौतिया दिमनी
कमलेश जाटव अम्बाह
ओपीएस भदौरिया मेहगांव
रणवीर जाटव गोहद
मुन्नालाल गोयल ग्वालियर पूर्व
रक्षा संतराम सरौनिया भाण्डेर
जसमंत जाटव करैरा
सुरेश धाकड पोहरी
इमरती देवी डबरा
प्रद्धुमन सिंह तोमर ग्वालियर

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था फ्लोर टेस्ट का आदेश
आपको बता दें कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल की दो बार बहुमत साबित करने की मांग को ठुकरा दिया था। लेकिन आखिर में जब गुरुवार शाम को सुप्रीम कोर्ट ने बहुमत साबित करने के निर्देश दिए। जिसके बाद कमलनाथ सरकार की परेशानी और बढ़ गई है। इसके बाद देर रात सिंधिया समर्थक 16 विधायकों के इस्तीफे भी स्वीकार कर लिए गए।

Jyotiraditya Scindia
monu sahu Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned