पत्नी का मंगलसूत्र उतारकर देवर ने भाभी को पहनाकर रचा ली दूसरी शादी, महिला की कहानी होश उड़ा देगी

shyamendra parihar

Publish: Dec, 07 2017 12:53:50 (IST) | Updated: Dec, 07 2017 12:58:48 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India

युवक ने पत्नी को मंगलसूत्र सहित अन्य सामान खुलवाकर घर से निकाल दिया। इसके बाद पत्नी का मंगलसूत्र अपनी विधवा भाभी को पहनाकर उससे दूसरी शादी रचा ली

ग्वालियर/श्योपुर। एक युवक ने अपनी पत्नी को मंगलसूत्र सहित अन्य सामान खुलवाकर घर से निकाल दिया। इसके बाद पत्नी का मंगलसूत्र अपनी विधवा भाभी को पहनाकर उससे दूसरी शादी रचा ली। मामला ढोढर थाना क्षेत्र का है। घर से निकाली पत्नी ने इसका पता चलने पर बुधवार को महिला अपराध शाखा कार्यालय श्योपुर में पूरी घटना बताते हुए विधवा जेठानी से उसका पति वापस दिलवाने की गुहार लगाई।

 

क्या आपके पास भी नहीं है आधार कार्ड? तो आपको भी हो सकती है इस व्यक्ति जैसी परेशानियां


ढोढर थाना क्षेत्र के चंदनदास का डेरा निवासी महिला पिंकी पुत्री कालाराम ओड़ राजपूत ने अपने दो बच्चों संग महिला अपराध शाखा कार्यालय आकर बताया है कि उसकी शादी वर्ष२०१३ में नजदीकी ही बसे मंगूरामका डेरा निवासी महेन्द्र ओड के साथ हुई थी। शादी के बाद दो बच्चे भी हो गए। लेकिन पति सहित अन्य ससुरालियों के द्वारा दहेज में बाइक और एक लाख रुपए के लिए परेशान करना शुरू कर दिया।

 

 

ढोढर थाने में जाकर यह परेशानी बताई तो ढोढर पुलिस ने दोनो पक्षों को बुलाकर समझौता करा दिया। लेकिन इसके बाद फिर से पति ने मुझे दहेज के लिए मारपीटकर घर से भगा दिया और मेरा मंगलसूत्र तथा अन्य सामान भी खुलवा लिए। पिंकी ने बताया कि मुझे घर से निकालने के बाद पति ने मेरी विधवा जेठानी कान्ता बाई से दूसरी शादी रचा ली और मेरे गले से उतरवाया मंगलसूत्र भी उसे पहना दिया। जबकि मेरी जेठानी तो पति से उम्र बड़ी होने के साथ-साथ मेरी शादी से 10 साल पहले से विधवा है।


इधर पति को कमरे में बंद कर थाने पहुंची महिला
नजदीकी गांव ईच्छापुरा निवासी एक महिला बुधवार की तड़के पति को कमरे में बंद कर कोतवाली थाने पहुंच गई। महिला रुपा प्रजापति ने कोतवाली पहुंचकर ससुर और जेठ की शिकायत करते हुए बताया हैकि ये लोग उसे परेशान करते है। इनके द्वारा मेरी मारपीट लाठियों से कर दी गई। जबकि पुलिस के बुलाने पर आए ससुर रामरतन और जेठ महावीर ने महिला के आरोप को झूठा बताया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned