विश्व रक्तदाता दिवस 2021: संक्रमण काल में आधे रह गए रक्तदाता

हर माह ग्वालियर को 4 हजार यूनिट ब्लड की जरूरत, ब्लड बैंकों में हो गई कमी

By: Hitendra Sharma

Updated: 14 Jun 2021, 12:31 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर में अंचल का सबसे बड़ा जयारोग्य हॉस्पिटल है। यहां अंचल के साथ सीमा से सटे प्रदेश के मरीज भी इलाज के लिए आते हैं। पिछले पांच साल में शहर में कई नए अच्छे हॉस्पिटल खुले, तो कई की स्थितियां सुधरी हैं। यही कारण है कि यहां हर साल मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में शहर को हर माह थैलेसीमिया, कैंसर, किडनी और दुर्घटनाग्रस्त मरीजों के लिए लगभग 4000 यूनिट ब्लड की आवश्यकता होती है, जो पूरी नहीं हो पा रही। संक्रमण काल में यह संख्या घटकर आधी ही रह गई।

Must See: विश्व रक्तदान दिवस का उद्देश्य, थीम और इसके फायदे

दूसरे शहरों से अरेंज करना पड़ा ब्लड
संक्रमण काल में रक्‍तदाता को कोरोना का डर था। इस दौरान कोई कैंप भी नहीं हुए। इस कारण हर माह 600 से 800 यूनिट की कमी शहर में देखी गई। यह परेशानी पिछले साल से अभी तक निरंतर बनी हुई है। इस दौरान खून की कमी के कारण कई कैस भी बिगड़े, तो कई मरीजों को दूसरे शहर से ब्लड भी अरेंज करना पड़ा।

Must See: जानिए ब्लड डोनेट करने के क्या-क्या हैं फायदे?

हर 21 दिन में होती है जरूरत
जेएएच में 230 थैलेसीमिया मरीज रजिस्टर्ड हैं, जिन्हें हर 21 दिन में ब्लड की जरूरत होती है। इसी प्रकार काफी संख्या में किडनी और कैंसर के मरीज भी हैं, केवल कैंसर हॉस्पिटल से ही मरीजों की काफी डिमांड रहती है, जहां देशभर से मरीज आते हैं। इसके अलावा दुर्घटना में घायल लोगों को भी ब्लड की जरूरत होती है।

Must See: रक्तदान से सिर्फ दूसरों की नहीं बचती जान बल्कि निरोग होता है रक्तदाता

संक्रमण काल में रक्तदाता कम हो गए
ब्लड बैंक जेएएच प्रभारी, अरुण जैन ने बताया कि शहर में अच्छे हॉस्पिटल हैं, जिस कारण यहां आसपास के प्रदेशों से भी मरीज आते हैं। इसलिए यहां ब्लड की जरूरत काफी है। पूरे शहर की बात की जाए तो हर माह लगभग 400 यूनिट ब्लड की जरूरत है, जबकि इतनी संख्या में रक्‍तदाता नहीं हैं। संक्रमण काल में तो रक्तदाता काफी कम हो गए।

Must See: यह हैं रक्तवीर, इतनी बार कर चुके हैं रक्तदान, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

ब्लड डोनेट के आंकड़े

माह यूनिट
फरवरी 1884
मार्च 1970
अप्रेल 1307
मई 1400

नोट: ये आकड़े जेएएच ब्लड बैंक के ब्लड कलेक्शन के हैं।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned