यह हनुमानगढ़ की धरती है, बड़े-बड़े अधिकारियों को ठीक करके भेजा है

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. मिड-डे मील कार्यकर्ताओं को ज्ञापन सौंपने के लिए कलक्टर की ओर से काफी देर तक चैंबर के बाहर इंतजार करवाने व वहां तैनात स्टॉफ की ओर से महिलाओं के प्रति कथित दुव्र्यवहार करने के खिलाफ भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र से जुड़े संगठनों के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया।

 

By: Purushottam Jha

Published: 29 Jul 2021, 08:35 PM IST

यह हनुमानगढ़ की धरती है, बड़े-बड़े अधिकारियों को ठीक करके भेजा है
-बयान पर बवाल, विरोध में सीटू ने निकाली रैली, किया प्रदर्शन

हनुमानगढ़. मिड-डे मील कार्यकर्ताओं को ज्ञापन सौंपने के लिए कलक्टर की ओर से काफी देर तक चैंबर के बाहर इंतजार करवाने व वहां तैनात स्टॉफ की ओर से महिलाओं के प्रति कथित दुव्र्यवहार करने के खिलाफ भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र से जुड़े संगठनों के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। कलक्टर का प्रतीकात्मक पुतला फूंका। इससे पहले सीटू के बैनर तले मजदूर व मिड-डे मील कर्मचारी जंक्शन में धानमंडी में एकत्रित हुए। इनमें काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल रही। इसके बाद सभी कलक्ट्रेट पहुंचे और विरोध-प्रदर्शन कर पुतला दहन किया। यहां हुई सभा में सीटू राज्य उपाध्यक्ष रामेश्वर वर्मा ने कहा कि हनुमानगढ़ जिला कलक्टर ने अपना राजशाही तरीका अपना रखा है। आए दिन आम जनता के साथ दुव्र्यवहार कर रहे हैं। और तो और महिलाओं के साथ भी इसी तरह का व्यवहार उन्होंने किया। उन्होंने कलक्टर को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि हनुमानगढ़ जिला कलक्टर ने अपना व्यवहार नहीं सुधारा व आम जनता की आवाज को नहीं सुना तो कलक्टर का विरोध जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि यह हनुमानगढ़ की धरती है, जिन्होंने बड़े बड़े अधिकारियों को ठीक करके भेजा है। कलक्टर को संबोधित करते हुए कहा कि वह जनता की आवाज सुनें और जनता के लिए काम करें। राजा बनकर यहां कोई नहीं रह सकता है। आत्मा सिंह ने कहा कि महिला मजदूरों के साथ इस तरह का व्यवहार निंदनीय है। केंद्र व राज्य सरकार लगातार महिलाओं के सम्मान की बात करती है दूसरी तरफ कलक्टर महिलाओं को अपमानित करने का काम कर रहे। महिला समिति की प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकला वर्मा ने कहा कि एक तरफ तो केंद्र व राज्य सरकार प्रचार कर रही है की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन हमारे अधिकारियों के पास जब कोई बहन बेटी जाती है तो उनकी बात सुनने के लिए समय नहीं होता है। हमारी मांग है कि राज्य की गहलोत सरकार जिला कलक्टर पर कार्रवाई करें। रघुवीर सिंह वर्मा ने कहा कि जिला कलक्टर को क्रिकेट मैच खेलने का तो समय है लेकिन जनता की आवाज सुनने का समय नहीं है। वह सुविधा की बात करते हैं। तंज कसते हुए कहा कि कोरोना काल में जब सब कुछ बंद है तो कलक्टर आईपीएल की तैयारी के लिए मैच खेलने जाते हैं क्या। सीटू जिला महासचिव शेर सिंह शाक्य ने कहा की हनुमानगढ़ जिले की परंपरा ठीक रही है लेकिन जब से जिला कलक्टर जिले में आए हैं, आए दिन आम जनता के साथ जो व्यवहार हो रहा है और जिस तरह के बयान मीडिया में जिला केक्टर दे रहे हंै उससे ऐसा लगता है कि वह खुद ही मुख्यमंत्री हैं या हनुमानगढ़ के राजा हंै। मलकीत सिंह, बहादुर सिंह चौहान, जगजीत सिंह जग्गी, मोहन लोहरा, अमीर खान, सरपंच बलदेव सिंह, सुरेंद्र शर्मा,कमला मेघवाल, मनीराम मेघवाल, सरबजीत कौर, बलवीर सिंह, गुरदेव सिंह, हरिराम, महेंद्र सिंह, जसविंदर सिंह, मुंशा सिंह, रामचंद्र, राजेश कुमार, संगीता वर्मा, नायब सिंह, बीएस पेंटर ,बसंत सिंह, फिरोज खान,मुकद्दर अली, राज कुमार ,कृष्ण लाल, श्याम लाल, मुख्त्यार सिंह, मंटू मंडल, जगदीश यादव, संदीप, अमरजीत सिंह, रिछपाल सिंह, सुखप्रीत सिंह, सुरेंद्र दहिया मौजूद थे।

महिलाओं को रोकने का प्रयास
कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन के दौरान जब सीटू कार्यकर्ता गेट की तरफ जाने लगे तो वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। प्रदर्शन के बाद एसडीएम कपिल यादव ने गेट पर आकर ज्ञापन लिया। ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री से मांग की गई कि हनुमानगढ़ जिला कलक्टर के पद पर किसी अन्य योग्य एवं कर्तव्यनिष्ठ व्यक्ति की नियुक्ति की जाए। दोषी कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाए। माकपा नेता रघुवीर वर्मा ने कहा कि कलक्टर ने गत दिनों महिलाओं के साथ जो व्यवहार किया था, उसके लिए उन्हें खेद प्रकट करना चाहिए।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned