सिराली को फिर से मिला नगर परिषद का दर्जा, तीन ग्राम पंचायत को मिलाकर बनेगा निकाय

पिछली अधिसूचना के अनुसार हो चुका था वार्ड परिसीमन
- शासन द्वारा छह महीने पहले प्रस्ताव निरस्त करने से बंद हुई थी कार्रवाई

By: gurudatt rajvaidya

Published: 07 Jul 2020, 08:03 AM IST

हरदा/सिराली। जिले के बड़े कस्बों में शामिल सिराली को एक बार फिर नगर परिषद का दर्जा मिला है। शासन ने सिराली समेत प्रदेश में 22 नगर परिषद गठन का गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। कस्बे में निकाय का गठन होने से विकास की नई उम्मीद जागी है।
उल्लेखनीय है कि नागरिकों को मूलभूत सुविधाओं में विस्तार के लिए सिराली ग्राम पंचायत को नगर परिषद का दर्जा देने की घोषणा तो करीब तीन साल पहले की गई थी, लेकिन इसकी कार्रवाई ठंडे बस्ते में ही रही। तहसील कार्यालय से इस संबंध में शुरुआती कार्रवाई की गई थी। इसके लिए तीनों (सिराली, रामपुरा और बंदीमुहाडिय़ा) ग्राम पंचायत के सरपंच व सचिवों एवं ग्रामीणों की अनुशंसा मंगाई गई थी। किसी के द्वारा भी इस पर आपत्ति नहीं लेने से नगर परिषद गठन का रास्ता साफ हो गया था। प्रशासन ने वार्डों का परिसीमन, जनसंख्या, नक्शा आदि कार्य पूर्ण करने का काम भी किया, लेकिन बात आगे नहीं बढ़ सकी थी। बताया जाता है कि शुरुआती प्रस्ताव में लिपिकीय त्रुटि होने से गजट नोटिफिकेशन नहीं हो सका था। इसके बाद दोबारा भेजे गए प्रस्ताव पर कार्रवाई आगे बढ़ी थी। प्रशासन द्वारा वार्डों का परिसीमन भी कर दिया गया था, लेकिन शासन ने अधिसूचना को निरस्त कर दिया था। इससे नगर परिषद गठन में रुकावट आ गई थी। यह माना जाने लगा था कि तीनों स्थान पर अगले चुनाव ग्राम पंचायत के ही होंगे। लेकिन शासन ने 2 जुलाई को 4 अक्टूबर 2018 की अधिसूचना अनुसार सिराली नगर परिषद का गठन किया।
तीन ग्राम पंचायत के चार गांव हैं शामिल
नगर परिषद में सिराली ग्राम पंचायत के अलावा बंदी मुहाडिय़ा व रामपुरा ग्राम पंचायत का रामपुरा तथा विक्रमपुर कला गांव शामिल किया गया है। नप में 15 वार्ड रहेंगे। बताया जाता है कि इनमें से सिराली में 10 तथा बचे 5 रामपुरा तथा बंदीमुहाडिय़ा ग्राम पंचायत क्षेत्र में रहेंगे।
पहले चुनाव में ८६५६ मतदाता कर सकते हैं वोट का प्रयोग
नगरीय क्षेत्र में सिराली का ५९४.७३९ हेक्टेयर, बंदीमुहाडिय़ा का ५०६.१७२२ हेक्टेयर, रामपुरा का ५५९.७४४ हेक्टेयर तथा विक्रमपुर कला का ३९४.७०९ हेक्टेयर रकबा शामिल किया गया है। वर्ष २०११ की जनगणना के अनुसार सिराली के अलावा इन तीनों गांवों की जनसंख्या क्रमश: ८७५९, १५४४, १३२३ व ८५४ है। यानि नगर परिषद क्षेत्र की जनसंख्या १२४८० रहेगी। वहीं लोकसभा चुनाव २०१९ की मतदाता सूची के अनुसार सिराली में ६०६१, रामपुरा में ९७१, विक्रमपुर कला में ५७९ तथा बंदीमुहाडिय़ा में १०४५ मतदाता हैं। नगर परिषद के पहले चुनाव में करीब ८६५६ मतदाताओं को वोट डालने का मौका मिलेगा।
फ्लैश बैक : 1949 में बालकिशन अग्रवाल बने थे पहले सरपंच
सिराली ग्राम पंचायत का गठन 1949 में हुआ था। तब सरपंच बालकिशन अग्रवाल को बनाया गया था। तब से ग्राम पंचायत में क्षेत्र में 21 लोगों को इस पद पर काम करने का मौका मिला। अब नप गठन होने से यहां की राजनीतिक हलचल बन गई है। आगामी दिनों में होने वाले पहले चुनाव को लेकर राजनीतिक समीकरण बैठाए जाने लगे हैं।
सुविधाओं में होगी बढ़ोत्तरी
आसपास के 50 गांव के केंद्र बिंदु सिराली में नगर परिषद का गठन होने पर यहां सुविधाओं में बढ़ोत्तरी होगी। सफाई, पेजयल, सुलभ आवागमन, स्ट्रीट लाइट आदि कार्यों के लिए शासन स्तर से राशि मिलने पर यह सुविधाएं अब से और ज्यादा दुरुस्त रहेंगी। नप में फायर ब्रिगेड उपलब्ध होने से आगजनी के दौरान खिरकिया या हरदा से दमकल आने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
इनका कहना है
इस संबंध में कार्रवाई के लिए परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण को पत्र लिखा है। वे आगे की कार्रवाई के लिए शासन स्तर पर संपर्क कर अवगत कराएंगे।
- श्यामेन्द्र जायसवाल, एसडीएम, खिरकिया
शासन ने सिराली नगर परिषद के गठन की अधिसूचना जारी की है। वार्ड परिसीमन पहले हो चुका है। नए निर्देशों के अनुसार आगे की कार्रवाई होगी।
- अनुराग वर्मा, कलेक्टर, हरदा

gurudatt rajvaidya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned