मौत का मोड़- बेहद खतरनाक है ये ब्लेक स्पाट, दो साल में सात मौतें, दर्जनों हुए घायल

मौत का मोड़- बेहद खतरनाक है ये ब्लेक स्पाट, दो साल में सात मौतें, दर्जनों हुए घायल
turn of death - dangerous black spot of india mp

deepak deewan | Updated: 04 Jul 2019, 09:26:03 AM (IST) Harda, Harda, Madhya Pradesh, India

दो साल में सात मौतें, दर्जनों हुए घायल

हरदा
टिमरनी थाना क्षेत्र में जिले का सबसे खतरनाक दुर्घटना संभावित क्षेत्र है। चारखेड़ा-खिडक़ीवाला गांव के बीच में हाईवे का मोड़ वस्तुत: मौत का मोड़ बन चुका है। कई सालों से यह हादसे हो रहे हैं, कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं या जीवनभर के लिए अपंग बन चुके हैं फिर भी इसे सुधारने की सुध नहीं ली गई। हालांकि पुलिस ने इसे अपने ब्लेक स्पाट के रूप में चिन्हित किया है।

दो साल में हादसों में सात मौत
चारखेड़ा-खिडक़ीवाला गांव के बीच में हाईवे पर आनेवाला यह मोड़ बेहद खतरनाक है। हाईवे होने के कारण वाहन प्राय: यहां से तेजी से गुजरते हैं और ऐसे में मोड़ पर हादसे का खतरा और बढ़ जाता है। यहां अधिकांश हादसों में वाहनों की आमने-सामने की भिड़ंत हुई जिनमें बड़ी संख्या में लोग हताहत हुए। सन 2016 में यहां सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं हुई। इन वाहन दुर्घटनाओं में 5 लोगों की मौत हो गई और 6 लोग बुरी तरह घायल हुए। वहीं 2017 में भी यहां हादसों का क्रम जारी रहा। इस साल यहां हुए हादसों में 2 लोगों की मौत हो गई तथा 5 लोग घायल हुए। 2018 में भी कई हादसे हुए और इस साल भी अभी तक यहां 3 वाहन हादसे हो चुके हैं।

बोर्ड लगाकर चेताया
सालों से हो रहे हादसों और इनमें लोगों की जान जाने के बाद भी मोड़ को सीधा करने के प्रयास अभी तक शुरू नहीं किए गए हैं। पुलिस ने यहां दुर्घटना संभावित क्षेत्र का बोर्ड जरूर लगा दिया है। इस बोर्ड में हादसों का जिक्र करते हुए लोगों को चेताया जाता है। टिमरनी थाना प्रभारी सतीश काकोडिया का कहना है कि थाना क्षेत्र में एक ही ब्लेक स्पाट है। यहां बोर्ड लगाकर वाहन चालकों को चेताया जा रहा है।

इसी तरह खिरकिया क्षेत्र में ऐसे कई स्थान हैं, जहां आए दिन दुघर्टना होती रहती हैं। इनमें बाफला तिराहा सबसे कुख्यात है जहां अनेक हादसे हो चुके हैं। इन हादसों में तीन लोगों की मौतें हो चुकी हैं। यह तिराहा मुख्यमंत्री सडक़ के माध्यम से लोनी, मरदानपुर और बाफला गांव को राजमार्ग से जोड़ता है। हरदा की ओर स्टेट हाईवे पर मुहाल एवं मांदला के बीच के इस तिराहे के पास ही मांदला की माचक नदी का पुल स्थित है। पुल की ओर से आने वाले राहगीरों को घुमाव के कारण सामने के वाहन नहीं दिख पाते हैं और वाहन भिड़ जाते हैं। क्षेत्र के इस ब्लेक स्पाट पर सुरक्षा के कोई संसाधन नहीं हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned