अष्टधातु की मूर्ति चोरी मामले की जांच एटीएस से कराने की मांग

Mukesh Kumar

Publish: Jan, 13 2018 05:33:15 PM (IST)

Hathras, Uttar Pradesh, India
अष्टधातु की मूर्ति चोरी मामले की जांच एटीएस से कराने की मांग

10 जनवरी की रात अज्ञात चोरों ने पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर का ताला तोड़कर चोरी कर लिया था।

हाथरस। हाथरस जक्शन थाना क्षेत्र के गांव बरवाना में प्राचीन अतिशय क्षेत्र 1008 श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर से अष्ट धातु की मूर्ति चोरी होने के मामले में अब एटीएस से जांच कराए जाने की मांग जैन समाज ने उठाई है। श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाषंकर जैन और समाज के लोग शनिवार को डीएम और एसपी से मिले और उन्हें ज्ञापन देकर लखनऊ से एटीएस की टीम लगाए जाने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि बदमाशों के तार अंतर्राष्ट्रीय गिरोह से मिले हो सकते हैं। क्योंकि अष्ट धातु की मूर्तियों की कीमत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करोड़ों की है।


मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन
जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह को दिए ज्ञापन में जैन समाज के लोगों ने कहा कि चमत्कारी अष्ट धातु की बेशकीमती तीन प्रतिमाओं (भगवान चंदाप्रभु, महावीर स्वामी तथा चौबीस तीर्थंकर) को 10 जनवरी की रात अज्ञात चोरों ने पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर का ताला तोड़कर चोरी कर लिया था। इस घटना से मंदिर में आने वाले अनुयाइयों में रोष व्याप्त है। जैन समाज के लोगों का कहना है कि प्राचीन अतिशय क्षेत्र 1008 श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में प्रतिदिन गांव के अलावा आसपास के क्षेत्रों के लोग बड़ी संख्या में दर्शन के लिए पहुंचते हैं। चोरी हुईं मूर्तियों को अपने स्तर से बरामद कराये जाने के लिए पुलिस की स्पेशल टीम अथवा लखनऊ से एटीएस की टीम लगायी जाएं।


ये पदाधिकारी रहे मौजूद
प्रतिनिधि मंडल में जैन नवयुवक सभा महामंत्री संजीव जैन भूरा, कोषाध्यक्ष कमलेश जैन, मंत्री सुधीर जैन, राकेश जैन, राजेश जैन, डॉक्टर डीके जैन, प्रद्युम्न कुमार जैन, अरविन्द जैन, डीके जैन सोगानी, सिद्धार्थ बाठिया, अतुल जैन सासनी वाले, पूर्व सभासद धीरज जैन, महेश चंद जैन, अंकुर जैन, योगेश जैन, चंद्रप्रकाश जैन, इंजीनियर प्रदीप कुमार जैन, राहुल जैन चूरन वाले, दीपक जैन, जितेन्द्र जैन, महेन्द्र जैन, अनिल जैन, विजय जैन, बॉबी जैन, धर्मेन्द्र जैन, पवन जैन आदि लोग शामिल थे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned