मुंहासे, रूसी और पसीने की दुर्गंध से छुटकारा पाना चाहते हैं तो नीम को ऐसे करें इस्तेमाल

‘नीम की पत्ती एक उपचार अनेक’

नीम एक ये स्पेशल घोल आपको कई समस्याओं से छुटाकारा दिलाएगा।

By: विकास गुप्ता

Published: 25 Oct 2020, 10:50 PM IST

मुंहासे, पसीना और रूसी एक आम समस्या है, इसके उपचार के लिए बाजार में मौजूद तमाम मंहगे प्रॉडक्ट यूज करने के बाद भी कोई फायदा नहीं होता। इन समस्याओं से छुटकारा पाना के लिए एक प्राकृतिक और आसान तरीका है.. नीम का इस्तेमाल neem leaves। नीम में एंटीसेप्टिक, एंटीबायोटिक, कृमिनाशक, चर्मरोग नाशक तत्व होते हैं। नीम की पत्तियां, इसके फूल फल, बीज, जड़, छाल आदि सब में औषधीय गुणों होते हैं। आइये जानते हैं कैसे आप इस नीम के स्पेशल घोल से मुंहासे, पसीने की बदबू, रूसी आदि से छुटकारा पा सकते हैं।

पसीने की दुर्गन्ध : गर्मी हो या सर्दी शरीर से पसीना तो निकलता ही है। शरीर के पसीने वाले हिस्सों में बैक्टीरिया पनपने के कारण बदबू आने लगती है। नीम के पानी से स्नान करने से इस समस्या से छुटकारा मिलता है।

मुंहासे : मुंहासे युवाओं की एक आम समस्या है, मुहांसे और इसके दाग चेहरे को खराब कर देते हैं। चेहरे पर बार-बार मुहांसे या ब्लैकहेड्स निकल रहे हैं तो नीम के पानी से मुंह धोने से फायदा होता है। सप्ताह में तीन-चार दिन नीम के पानी से चेहरा धोएं मुहांसे के समस्या से छुटकारा मिलेगा।

रूसी (डैंड्रफ): रुसी बालों की एक मुश्किल समस्या है, रूसी से सिर में खुजली भी होने लगती है। नीम के पानी से सप्ताह में 1-2 दिन बाल धोने से रूसी की समस्या में राहत मिलती है।

ऐसे करें तैयार – पेड़ से तोड़ी गई नीम की पत्तियों को पानी से साफ कर लें। फिर एक बड़े बर्तन में पानी को उबालें, जब पानी खूब उबलने लगे तो इसमें नीम की पत्तियां डालकर पांच मिनट तक उबालें। जब पानी हल्का हरे रंग का होने लगे व जलकर थोड़ा रह जाए तो इसको छान लें और नहाते समय पानी में मिले लें। नीम के पत्तों और बेर के पत्तों को पानी में उबालकर ठंडा कर बालों को धो लें। बालों का झड़ना कम जाएगा।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned