Pregnancy के दौरान इस महीने में चक्कर आने से हो सकती है परेशानी, हो जाएं सावधान

  • गर्भावस्‍था(Pregnancy) की पहली तिमाही में लगभग छह सप्‍ताह के बाद चक्‍कर आने महसूस हो सकते हैं
  • Pregnancy के दौरान क्यों आते है चक्कर

By: Pratibha Tripathi

Updated: 28 Nov 2020, 12:05 PM IST

नई दिल्ली। गर्भावस्थाू(Pregnancy) के दौरान हर महिलाओं के शरीर में अंतर आता है। इस समय बच्चे के साथ साथ मां को भी अपने शरीर की देखभाल करने की विशेष आवश्कता पड़ती है। ये नौ महीने हर महिलाओं के लिए मुश्किल भरे क्षण होते हैं। इस समय शरीर में हार्मोन्स परिवर्तन से कई तरह के बदलाव देखने को मिलते है मानसिक और शारीरिक रूप से होने वाले बदलाव के चलते आपको कमजोरी चिड़चिड़ापन मतली के आने जैसी समस्याएं होनी लगती है। लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठे रहने से सिर चकराने लगता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्रेगनेंसी में ऐसा क्यों होता है।
Pregnancy में कब आते हैं चक्कर
गर्भावस्थाे मिलाओं के चक्कर आने की समस्या अक्सर पहले तीसरे या फिर छठे सप्तााह के बाद से शुरू होने लगते हैं। प्रेगनेंसी (dizziness in pregnancy)के शुरुआती महीनों में चक्कर आना कोई बड़ी बीमारी नही है लेकिन जब यह चौथे या पांचवे महिने में आने लगे तो आपके लिए परेशानी बढ़ सकती है।

प्रेगनेंसी की पहले चौथे महिनें में सिर चकराना
गर्भावस्था के चौथे महिनें में सिर चकराने का सबसे बड़ा कारण यह होता है कि इस दौरान आपके शरीर में तेजी से हार्मोनल का बदलाव होता है जो रक्त वाहिकाओं की दीवारों को चौड़ा करता है। जिससे ब्लड प्रेशर में गिरावट आती है और जैसे ही ब्लड प्रेशर लो होता है आपको चक्कर महसूस होने लगते हैं। मॉर्निंग सिकनेस में शरीर फूड और लिक्विड को नहीं रख पाता है इसलिए इसकी वजह से कमजोरी और चक्कर आने लगते हैं।

  • पाचवें और छठवें माह में चक्कर आना
    इस समय शरीर में ब्लड वॉल्यूम 30 फीसदी तक बढ़ जाता है। इसकी वजह से ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है और चक्कर आने लगते हैं। इसके अलावा जेस्टेशनल डायबिटीज, एनीमिया और शरीर में पानी की कमी की वजह से भी प्रेगनेंसी में चक्कर आ सकते हैं।

    चक्‍कर आने पर क्‍या करें
    जब भी आपको अचानक से चक्‍कर आने लगें तो आप नीचे बताए गए टिप्‍स आजमा सकती हैं :
    बंद जगह पर बिल्कुल भी ना रहे। ताजी हवा के बीच जाएं।
  • जब भी चक्कर आए धीरे से एक जगह पर बैठ जाएं हो सके तो सिर को घुटनों के बीच में रख दें।
  • इस समय कोई भी चीज अचानक से ना करें। हो सके तो बाईं करवट लेकर लेट जाएं। जब आपका रक्‍त प्रवाह समान्य हो जाएगा तो बेहतर महसूस होगा
  • एनर्जी को बढ़ाने के लिए आप ऐसे कोई फ्रूट जूस पी सकती हैं। अगर ब्‍लड शुगर लेवल घटने की वजह से चक्‍कर आ रहे हैं, तो इस तरीके से वो ठीक हो जाएगा।
  • शरीर में पानी की कमी बिल्कुल भी न होने दें। ज्यादा हो तो आप उस समय ठंडे पानी से नहा लें
Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned