scriptPatients upset due to lack of electricity in district hospital | जिला अस्पताल में घंटों बिजली ना आने से तड़पते दिखे मरीज, शो पीस बना रहा जेनरेटर | Patrika News

जिला अस्पताल में घंटों बिजली ना आने से तड़पते दिखे मरीज, शो पीस बना रहा जेनरेटर

जनपद के सरकारी जिला अस्पताल की पोल खुल गई. जब जिला चिकित्सालय की लाइट सोमबार दोपहर 3:00 बजे से खराब पड़ी है जिसका सुधार हेतु काम चल रहा है । वहीं रात्रि 7:00 बजे से आठ 8:30 बजे तक जिला चिकित्सालय की लाइट गुल रही। विद्युत कटौती के दौरान जिला चिकित्सालय के पुरुष वार्ड में घंटों बिजली ना आने से तड़पते दिखे मरीज और अस्पताल में गंभीर मरीजों के लिए लगाए गए ऑक्सीजन कंटेनर बन्द हो गए.

Updated: September 07, 2022 04:10:29 pm

ललितपुर : यूपी प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक लगातार सरकारी अस्पताओं का दौरा कर रहे थे. अस्पताल में चुपके से अकेले पहुंच जाते हैं और वहां पर अधिकारियों, डॉक्टरों की क्लास लेते हैं. फिर भी सरकारी अस्पताओं का हाल सुधरता हुआ नजर नहीं आ रहा है ।
एक ओर शासन प्रशासन आम जनता के साथ-साथ प्रदेश के आखिरी जनपद के आखिरी छोर के व्यक्ति तक विकास के साथ-साथ समुचित स्वास्थ्य सेवाएं और 18 से 24 घण्टे विधुत पहुंचाने की बात कर रही है। इसके साथ ही प्रदेश सरकार उत्कृष्ट क्वालिटी की स्वास्थ्य सेवाएं भी मुहैया कराने की बात कर रही है ।
तो वहीं दूसरी ओर जिला ललितपुर के सरकारी अस्पताल का मामला सामना आया है जहां पर जिला चिकित्सालय में ध्वस्त विद्युत आपूर्ति के चलते भर्ती मरीज बेहाल नजर आए । यहां तक की जनपद में चल रही भीषण विद्युत कटौती के कारण जनपद का जिला अस्पताल अंधकार में डूबा रहता है और यहां पर रखा हुआ सरकारी जनरेटर महज शोपीस बना रहता है।
distict_hospital_not_supply_light.png
लाइट ना होने से मोबाइल के टॉर्च की रोशनी से काम करते हुए नर्स और वार्ड बॉय
यह भी पढ़ें

STF आगरा यूनिट के लिए बनेगा चार मंजिला भवन,एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने किया भूमि पूजन


जनपद में चिकित्सीय सेवाएं तो ध्वस्त हैं ही, साथ ही विद्युत आपूर्ति व्यवस्था भी काफी ध्वस्त नजर आ रही है, जबकि शासन प्रशासन के राजनेता मंत्री विद्युत आपूर्ति और चिकित्सीय सुविधाओं को देने की बात कर रहे हैं जो उनके मुंह पर एक करारा तमाचा भी है। इसके साथ ही ध्वस्त विद्युत आपूर्ति और ध्वस्त चिकित्सीय सेवाएं प्रदेश सरकार और उनके नेताओं को आईना दिखाने के लिए काफी हैं। मामला जिला मुख्यालय पर संचालित जिला चिकित्सालय का है जहां पर भीषण विद्युत कटौती के कारण अस्पताल में भर्ती मरीज बेहाल है।

अस्पताल में रखा जनरेटर किसी काम का नहीं
मिली जानकारी के अनुसार जनपद में जिला चिकित्सालय की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल उस समय खुली जब मीडिया की एक टीम उस समय जिला चिकित्सालय में पहुंची, जब यहां पर भर्ती मरीज विद्युत सप्लाई ना होने के कारण बेहाल नजर आ रहे थे । अस्पताल में जो जनरेटर मरीजों के लिए रखा गया था कि लाइट ना रहने पर उसका उपयोग किया जाए लेकिन वहां पर जनरेटर सिर्फ शोपीस नजर आया। वह चलाया नहीं जा रहा था।
विद्युत आपूर्ति बाधित होने के कारण यहां भर्ती मरीज काफी बेहाल नजर आए । भीषण उमस भरी गर्मी के कारण मरीजों और उनके तीमारदारों का हाल बेहाल था। यहां पर मरीज कहीं अखबार से हवा करते नजर आए तो कभी अपने कपड़े और तौलिए से हवा करते नजर आए
बिजली जाने की वजह से गंभीर मरीजों के लिए लगाए गए ऑक्सीजन कंटेनर बंद
जानकारी करने पर पता चला कि जिला अस्पताल के पुरुष वार्ड में भर्ती करीब सैकड़ों से अधिक मरीजों का हाल काफी बेहाल है, जिसमें कई ऐसे गंभीर मरीज हैं यह सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और उन्हें ऑक्सीजन कंटेनर लगाए गए थे लेकिन बिजली ना होने के कारण ऑक्सीजन कंटेनर बंद हो गए. सोचों उस मरीज का क्या हुआ होगा जो गंभीर है और ऑक्सीजन की आवश्यकता है ?
यह भी पढ़ें

Aligarh : बप्पा की मूर्ति स्थापित करने वाली मुस्लिम महिला रूबी आसिफ खान ने किया पुलिस सुरक्षा में मूर्ति विसर्जन


जिला चिकित्सालय की लाइट सोमबार दोपहर 3:00 बजे से खराब पड़ी है जिसका सुधार हेतु काम चल रहा है । वहीं रात्रि 7:00 बजे से आठ 8:30 बजे तक जिला चिकित्सालय की लाइट गुल रही। इस दौरान जनपद में चल रही कटौती के कारण जिला चिकित्सालय की विद्युत आपूर्ति भी बाधित नजर आ रही थी।
अस्पताल में भर्ती मरीज और उनके तीमारदारों का आरोप है कि यहां पर कोई भी चिकित्सालय कार्यकारी मरीजों की सुध लेने नहीं आता कि मरीज किस हाल में है । रात्रि में लाइट जाने के बाद यहां पर अंधकार मच जाता है लोग अपने मोबाइल की टॉर्च की रोशनी से यहां पर काम चलाते हैं। यहां तक कि वार्ड में तैनात नर्स और वार्ड बॉय भी मोबाइल टॉर्च की रोशनी में अपना काम करते नजर आए। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों ने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन का आज आखिरी दिन, जी-23 ग्रुप भी उतार सकता है प्रत्याशीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिशदेश को आज मिलेगी तीसरी वंदे भारत ट्रेन, पीएम मोदी दिखाएंगे झंडी, मिलेंगी ये सुविधाएंPetrol-Diesel Price Today: इन राज्यों में पेट्रोल-डीजल हुआ महंगा, जानिए आपके शहर में क्या है रेटत्यौहार पास आते ही रेलवे ने बढ़ाया प्लेटफॉर्म टिकट के दाम, अब देने होंगे इतने रुपएजसप्रीत बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज को मिली टी20 टीम में जगहजन्मदिन से एक सप्ताह पहले पुतिन देंगे देशवासियों को बड़ा उपहार, बदल जाएगा यूरोप का इतिहास, भारत देगा किसका साथ?Maharashtra: विनायक राउत के बयान पर निलेश राणे का पलटवार, बोले-ठाकरे की इज्जत सड़कों पर लाने के होंगे जिम्मेदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.