गिर के जंगल में शेरों की दहाड़ों के बीच इंसानों के बच्चे ले रहे हैं जन्म

  • एक गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा के बाद अस्पताल ( Hospital ) ले जाया जा रहा था। लेकिन एंबुलेंस ( Ambulance ) को गिर के घने जंगलों में शेरों ने घेर लिया। इस कारण एंबुलेंस आगे नहीं बढ़ सकी और महिला ने एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दिया।

By: Piyush Jayjan

Published: 22 May 2020, 01:54 PM IST

नई दिल्ली। गुजरात ( Gujrat ) से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। एक गर्भवती महिला ने कई शेरों के बीच अपने बच्चे को जन्म दिया। यह घटना गढड़ा के भाका गांव की है। जहां 20 मई की रात लगभग 10. 20 बजे गढड़ा के भाखा गांव की रहने वाली अफसाना सबरिश रफीक को अचानक लेबर पेन शुरू हुआ।

ऐसे में परिजनों ने तुरंत 108 पर फोन कर एंबुलेंस ( Ambulance ) बुलाई गई। उन्हें एंबुलेंस में अस्पताल लेकर जाया जा रहा था, तभी गिर ( Gir ) के गढड़ा से उना के रास्ते में रसुलपरा गांव के पास 4 शेरों ने एंबुलेंस को घेर लिया। अब एंबुलेंस को इसी जगह पर ठहरना पड़ा।

एंबुलेंस के सामने खड़े शेर ( Lions ) अपने झुंड के साथ थे। ऐसे में किसी भी तरह की गलती की कोई गुंजाइश नहीं थी। जब लगभग 20 मिनट से ज्यादा समय तक एंबुलेंस वहीं खड़ी रही तो अफसाना ने वहीं शेरों से घिरी एंबुलेंस के बीच ही अपने बच्चे को जन्म दिया।

Amphan के जाने के बाद गुलाबी और बैंगनी रंग में रंगा आसमान - देखें Viral Video

इस पूरे वाकये के दौरान चारों शेर एंबुलेंस ( Ambulance ) का चक्कर लगाते रहे। जब बच्चे का जन्म हुआ तो उसके बाद ही वो वहां से रास्ता छोड़कर गए। अफसाना ने एक बड़ी ही क्यूट सी बेटी को जन्म दिया है। मां और बच्ची दोनों सुरक्षित हैं और अस्पताल ( Hospital ) में हैं।

इससे कुछ दिन पहले ही यहां अमरेली के खंबा ताल्लुका की रहने वाली महिला ने गिर में शेरों की दहाड़ ( Roar ) के बीच तीन बच्चों को जन्म दिया था। अमरेली के देदान गांव की रहने वाली दया बेरिया को जब लेबर पेन से परेशान हुईं तो उनके पति नरसी बेरिया ने 108 हेल्पलाइन पर मदद मांगी।

गांव में एंबुलेंस पहुंची लेकिन कुछ देर में ही ऐसी स्थिति बन गई कि दया की डिलिवरी को तुरंत कराना जरूरी हो गया। ऐसे वक्त में एंबुलेंस में मौजूद टेक्निशियन गोविंद बाभनिया ने तुरंत एक प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ( Doctor ) से फोन पर मदद से ही दया की डिलिवरी कराई।

कोबरा सांप को वन विभाग के अधिकारी ने बोतल से पिलाया पानी, सोशल मीडिया पर फिर वायरल हुआ पुराना वीडियो

इससे पहले भी यहां कुछ और महिलाएं इसी स्थिति में अपने बच्चों को जन्म दे चुकी हैं। इसके पीछे की एक वजह ये है कि गिर ( Gir ) के जंगल शेरों की बड़ी संख्या के लिए दुनियाभर मशहूर है और इनके करीब बसे गांवों के लोगों को अस्पताल ( Hospital ) पहुंचने के लिए इन्हीं जंगलों के करीब से गुजरना पड़ता है।

इसलिए गिर के आसपास बसों गांवों की गर्भवती महिलाओं को अक्सर इस तरह की स्थितियों से दो-चार होना पड़ता है। इसी तरह की स्थिति में लोगों की मदद के लिए गांव के आस-पास एंबुलेंस मौजूद रहती है, ताकि ऐसी मुुश्किल में पड़ जाने पर इस स्थिति से निपटा जा सके।

Show More
Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned