American डॉक्टर का दावा- ‘2 साल से अधिक रहेगा Corona, अभी और तेजी से बढ़ेगा संक्रमण’

अमेरिका की मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल (University of Maryland Hospital) में संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख और कोरोना मरीजों का इलाज (Upper Chesapeake Health) करने वाले डॉक्टर फहीम यूनुस ( Dr. Faheem Younus) ने दावा किया है कि दो साल के पहले ये वायरस (coronavirus) खत्म नहीं होने वाला है।

 

By: Vivhav Shukla

Published: 29 Jun 2020, 09:29 PM IST

नई दिल्ली। इन दिनों पूरी दुनिया कोरोनावायरस (Coronavirus) का दंश झेल रही हैं। हर दिन लाखों लोग इस वायरस से संक्रमण से ग्रसित हो रहे हैं। ताजे आकड़ों के मुताबिक अबतक एक करोड़ से अघिक लोग कोवीड19 (covid-19 ) से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 5 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। हर देश इस महामारी की वैक्सीन ढ़ूँढ़ने में लगी है लेकिन अभी तक किसी के हाथ सफलता नहीं लगी है।

बकरी की जान बचाने के लिए शख्स ने दांव पर लगाई अपनी जिंदगी, देखें VIdeo

इनसब के बीच अमेरिका की मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल (University of Maryland Hospital) में संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख और कोरोना मरीजों का इलाज (Upper Chesapeake Health) करने वाले डॉक्टर फहीम यूनुस ( Dr. Faheem Younus) ने दावा किया है कि दो साल के पहले ये वायरस (coronavirus) खत्म नहीं होने वाला है।

डॉक्टर फहीम यूनुस (Dr. Faheem Younus) ट्वीटर पर कई बातें शेयर किया है। यूनुस (Dr. Faheem Younus) ने ट्विटर पर लिखा- 'गलत उम्मीद से बेहतर होता है, सच स्वीकार करना। मैं सहानुभूति के साथ कोविड से जुड़ी सच्चाई शेयर करने की कोशिश करता हूं ताकि हम सब योजना बना सकें, तैयारी कर सकें और एक-दूसरे की मदद कर पाएं।'

फहीम यूनुस (Dr. Faheem Younus) ने आगे लिखा कि मैं मानवजाति की मदद करना है और वे लाइक, रिट्वीट वगैरह में अधिक रुचि नहीं रखते। कोविड खत्म होने के बाद आप मुझे यहां (ट्विटर पर) सक्रिय नहीं देखेंगे.

अगले ट्वीट में डॉक्टर फहीम यूनुस (Dr. Faheem Younus) ने लिखा कि कोविड महामारी 2 साल से अधिक रह सकती है। 6 महीने पहले ही बीत चुके हैं. वैक्सीन अभी एक साल दूर है और बनने के बाद वैक्सीन बांटने में एक साल का वक्त लगता है। हर्ड इम्युनिटी काफी दूर है। सबसे बड़ी बाक वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। सबसे बेहतर स्थिति में 2 साल लगेंगे। इसी हिसाब से योजना बनाई जानी चाहिए।

एक अन्य ट्वीट में फहीम (Dr. Faheem Younus) ने कहा कि अमेरिका में 25 लाख केस हो चुके हैं और सीडीसी का मानना है कि अमेरिका में असल केस की संख्या 10 गुनी हो सकती है। वहीं पाकिस्तान ने अमेरिका से प्रति 10 लाख लोगों पर 15 गुना कम टेस्ट किए हैं ऐसे में आप अंदाजा लगासकते हैं वहां के क्या हालात होंगे।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned