scriptKnow The History And Belief Of Sheshnag Lake In India | Sheshnag Lake: इस झील में रहते हैं शेषनाग, 24 घंटे में एक बार होते हैं दर्शन | Patrika News

Sheshnag Lake: इस झील में रहते हैं शेषनाग, 24 घंटे में एक बार होते हैं दर्शन

देश में कई ऐसी जगह हैं जहां भगवान की उपस्थिति को महसूस किया जाता है। हालांकि ये अपनी-अपनी आस्था का मामला है। ऐसी ही एक जगह है जहां पर माना जाता है कि यहां किस्मत वालों को शेषनाग के दर्शन होते हैं। भगवान विष्णु जिस शैया पर आराम करते हैं वो शेषनाग ही हैं।

नई दिल्ली

Published: July 08, 2022 04:39:25 pm

भगवान की पूजा तो कई लोग करते हैं, लेकिन विरले ही ऐसे होते हैं जिन्हें भगवान के होने का अहसास होता है या फिर वे उनकी उपस्थिति को महसूस कर पाते हैं। भारत में ऐसे कई तीर्थ स्थान है जहां लोगों को कुछ ऐसा ही एहसास हुआ है। ऐसी ही जगहों में से एक है शेषनाग झील। ऐसा माना जाता है कि इस झील में शेषनाग निवास करते हैं। भगवान विष्णु क्षीरसागर में जिस शैया पर आराम करते हैं वो शेषनाग ही हैं। आइए जानते हैं कहां है वो जगह और कब होते हैं भक्तों को शेषनाग के दर्शन?
Know The History And Belief Of Sheshnag Lake In India
Know The History And Belief Of Sheshnag Lake In India
देश में दो साल के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू की गई है। अगर आप भी इस साल अमरनाथ यात्रा पर जा रहे हैं तो आपको शेषनाग के दर्शन हो सकते हैं।

दरअसल अमरनाथ यात्रा के दर्शन के दौरान ही रास्ते में शेषनाग झील पड़ती है। ऐसा माना जाता है कि इसी झील में शेषनाग निवास करते हैं। प्राचीन काल से इस झील का काफी महत्व है।

यह भी पढ़ें

दुखी और आलसी लोगों के लिए बंपर भर्ती, नौकरी का विज्ञापन देख लोगों ने दिए ऐसे रिएक्शन




sheshnag_jheel.jpg250 फीट से ज्यादा गहर है शेषनाग झील
इस प्राचीन शेषनाग झील को लेकर माना जाता है कि, ये 250 फीट से भी ज्यादा गहरी है। झील को लेकर मान्यता है कि इसमें शेषनाग खुद निवास करते हैं। यही वजह है कि इस झील में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी जा सकती है।
24 घंटे में एक बार होते हैं शेषनाग के दर्शन
अमरनाथ यात्रा के दौरान रास्ते में पड़ने वाली इस झील को लेकर ये मान्यता है कि शेषनाग 24 घंटे में एक बार भक्तों को दर्शन जरूर देते हैं। हालांकि ये भी कहा जाता है कि ये दर्शन किस्मत वालों को ही होते हैं।

sheshnag_lake_in_kashmir.jpgझील में बनती है शेषनाग की आकृति
इस झील में शेषनाग के निवास करने की मान्यता इसलिए भी ज्यादा बलवती है क्योंकि लोगों के समय-समय पर इस झील में शेषनाग की आकृति भी दिखाई देती है। ये आकृति पानी पर उभरकर आती है।

भगवान शिव और पार्वती से जुड़ा है इतिहास
पौराणिक कथाओं के मुताबिक, शेषनाग झील का इतिहास भगवान शिव औऱ मां पार्वती से जुड़ा है। दऱअसल एक बार भगवान शिव मां पार्वती को अमर कथा सुनाने के लिए अमरनाथ ले जा रहे थे।

इस दौरान भगवान शिव चाहते थे कि उनकी अमर कथा कोई सुन ना सके। क्योंकि इस कथा को जो भी सुनता वो अमर हो जाता।

शिव ने नाग, नंदी और चंद्रमा को छोड़ा
यही वजह है कि जिस वक्त भगवान शिव ये अमर कथा पार्वती को सुनाने के लिए निकले, तभी भगवान शिव ने अनंत सांपों - नागों को अनंतनाग में और बैल नंदी को पहलगाम में और चंद्रमा को चंदनवाड़ी में ही छोड़ दिया। ऐसे में उनके साथ सिर्फ शेषनाग ही थे। यही वजह है कि इस जगह शेषनाग निवास करने लगे।

एक मान्यता ये भी
शेषनाग के इस झील में निवास करने को लेकर एक मान्यता ये भी है कि, इस झील को खुद शेषनाग ने ही खोदा था। शिव-पार्वती की पसंदीदा जगह होने की वजह से उन्हें ये स्थान प्यारा है। वहीं स्थानीय निवासियों की मानें तो इस झील अब तक कोई भी पार नहीं कर सका है।

यह भी पढ़ें

Mullah Umar Car: तालिबानी लड़ाकों ने 21 साल बाद खोजी आका की कार, अमरीका के डर से दफना कर भागा था उमर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra News: शिंदे सरकार का बड़ा फैसला, दही हांडी को दिया खेल का दर्जा; गोविंदाओं को मिलेगी नौकरीIND vs ZIM: शिखर धवन और शुभमन गिल की शानदार बल्लेबाजी, भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हरायाMaharashtra Suspected Boat: रायगढ़ में मिली संदिग्ध नाव और 3 AK-47 किसकी? देवेंद्र फडणवीस ने किया बड़ा खुलासाBihar News: राजधानी पटना में फिर गोलीबारी, लूटपाट का विरोध करने पर फौजी की गोली मारकर हत्यादिल्ली हाईकोर्ट ने फ्लाइट में कृपाण की अनुमति देने पर केंद्र और DGCA को जारी किया नोटिसपटना मेट्रो रेल के भूमिगत कार्य का CM नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन, तेजस्वी यादव भी रहे मौजूदनितिन गडकरी ने मुंबई में लॉन्च की देश की पहली डबल-डेकर इलेक्ट्रिक बस, महज 3 घंटे में होगी चार्ज और चलेगी 250kmSSC Scam case: पार्थ चटर्जी, अर्पिता मुखर्जी 14 दिन की न्यायिक हिरासत पर भेजे गए, 31 अगस्त को अगली पेशी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.