scriptकई बड़े नेताओं के भाजपा छोडऩे का फायदा कांग्रेस को मिला, कल्याण कर्नाटक में कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन, खरगे की रही जीत में अहम भूमिका, पिछले चुनाव में खाली हाथ थी कांग्रेस | Patrika News
हुबली

कई बड़े नेताओं के भाजपा छोडऩे का फायदा कांग्रेस को मिला, कल्याण कर्नाटक में कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन, खरगे की रही जीत में अहम भूमिका, पिछले चुनाव में खाली हाथ थी कांग्रेस

कल्याण कर्नाटक में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है। इस जीत में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की प्रमुख भूमिका रही। कल्याण कर्नाटक की पांच सीटों बीदर, गुलबर्गा, रायचूर, कोप्पल एवं बेल्लारी में कांग्रेस ने जीत हासिल की है।

हुबलीJun 05, 2024 / 05:23 pm

ASHOK SINGH RAJPUROHIT

Mallikarjun Kharge

Mallikarjun Kharge

पहले यह क्षेत्र कांग्रेस का गढ़ था
यह जीत इसलिए भी अधिक मायने रखती है कि 2019 के चुनाव में खरगे समेत अन्य कांग्रेस प्रत्याशी यहां से चुनाव हार गए थे। हालांकि खरगे की जीत में अहम भूमिका के साथ ही अन्य कुछ कारण भी रहे जिनके चलते इस क्षेत्र में कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया। पहले यह क्षेत्र कांग्रेस का ही गढ़ हुआ करता था लेकिन पिछले कुछ समय से यह इलाका कांग्रेस के हाथ से फिसल रहा था। क्षेत्र में भाजपा के सामने एक और बड़ी समस्या पार्टी के भीतर विद्रोह था। पूर्व मंत्री और विधायक प्रभु चौहान तथा बसवकल्याण विधायक शरणु सालगर सहित कई नेताओं ने अपने पार्टी उम्मीदवार खुबा के खिलाफ खुले तौर पर काम किया। बी.वी. नाइक ने रायचूर में पार्टी के टिकट से इनकार किए जाने के बाद विद्रोह कर दिया। मौजूदा लोकसभा सदस्य करडी संगन्ना ने टिकट न मिलने के बाद पार्टी छोड़ दी और कांग्रेस में शामिल हो गए। इन कारणों से भी यहां भाजपा कमजोर रही और कांग्रेस को फायदा मिला।
पहले था कांग्रेस का गढ़
हालांकि यह क्षेत्र 2004 तक कांग्रेस का गढ़ रहा था लेकिन 2009, 2014 और 2019 में मोदी लहर की मदद से भाजपा ने अपनी पैठ बनाई। 2009 में जब बल्लारी के रेड्डी बंधुओं का दबदबा था तब भाजपा ने तीन सीटें और कांग्रेस ने दो सीटें जीती थीं। 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय राजनीति में आए, तब भी यही परिणाम दोहराए गए। खरगे ने लोगों से पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवारों को चुनकर उनकी हार का बदला लेने का आह्वान किया। 2019 में जब मोदी ने दूसरी बार सत्ता में आने की कोशिश की, तब भगवा पार्टी ने इस क्षेत्र की सभी पांच सीटें जीतकर इस क्षेत्र में अपना परचम लहराया। पांच साल बाद दोनों दलों के बीच सत्ता का संतुलन पूरी तरह से कांग्रेस की ओर झुका हुआ है क्योंकि उसके उम्मीदवारों ने सभी पांच सीटों पर जीत हासिल की है। सागर ईश्वर खांड्रे ने बीदर में केंद्रीय मंत्री भगवंत खुबा को हराया। राधाकृष्ण डोड्डामनी ने गुलबर्गा में उमेश जाधव को हराया। जी. कुमार नाइक ने रायचूर में राजा अमरेश्वर नाइक के खिलाफ जीत हासिल की। के. राजशेखर हितनाल ने कोप्पल में बसवराज को हराया और ई. तुकाराम ने बेल्लारी में बी. श्रीरामुलु के खिलाफ जीत हासिल की।
मोदी की लोकप्रियता नहीं लुभा पाई
खरगे ने देशभर में प्रचार किया था लेकिन उन्होंने अपने गृह क्षेत्र गुलबर्गा और कल्याण कर्नाटक के अन्य निर्वाचन क्षेत्रों में सार्वजनिक रैलियों को संबोधित करने और पार्टी के कार्यकर्ताओं को चुनावी रणनीतियों पर मार्गदर्शन देने में अधिक समय बिताया। उनके प्रयासों से वांछित परिणाम मिले, जिससे पार्टी में उनकी स्थिति मजबूत होने की उम्मीद है।
2019 के लोकसभा चुनावों में खरगे की हार ने गुलबर्गा और बीदर निर्वाचन क्षेत्रों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनकी 2019 की हार का बदला लेने के उनके आह्वान ने लोगों के दिलों को छू लिया। उधर भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और कुछ क्षेत्रों में उनके हिंदुत्व एजेंडे पर बहुत अधिक निर्भर थी। पिछले चुनावों की तुलना में इस चुनाव में मोदी की लोकप्रियता वोटरों को लुभाने में कामयाब नहीं हो पाई।
कांग्रेस की गारंटी योजनाओं का मिला लाभ
कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए किए गए विकास कार्यों पर भरोसा किया। ईएसआई अस्पताल परिसर की स्थापना, कर्नाटक केंद्रीय विश्वविद्यालय, जयदेव हृदय विज्ञान और अनुसंधान संस्थान की इकाई, कलबुर्गी हवाई अड्डा और रेल कोच फैक्ट्री के अलावा क्षेत्र में राजमार्ग और रेल नेटवर्क का विस्तार समेत कई ऐसे अनेक विकास के कामों ने मतदाताओं को कांग्रेस की तरफ मोड़ा। कर्नाटक में कांग्रेस सरकार द्वारा लागू की गई पांच गारंटियों ने भी क्षेत्र में कांग्रेस के पक्ष में अपनी भूमिका निभाई।

Hindi News/ Hubli / कई बड़े नेताओं के भाजपा छोडऩे का फायदा कांग्रेस को मिला, कल्याण कर्नाटक में कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन, खरगे की रही जीत में अहम भूमिका, पिछले चुनाव में खाली हाथ थी कांग्रेस

ट्रेंडिंग वीडियो