script केम्पकेरी झील की आभा निखरी, अब बनेगी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र, पैदल पथ, झूले, बेेंचें, चारदीवारी, आसपास दर्जनों पौधे लगाए | Hubballi-Dharwad Municipal Corporation HDMC | Patrika News

केम्पकेरी झील की आभा निखरी, अब बनेगी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र, पैदल पथ, झूले, बेेंचें, चारदीवारी, आसपास दर्जनों पौधे लगाए

locationहुबलीPublished: Dec 09, 2023 04:23:07 pm

वार्ड-73 की पार्षद शीला मंजूनाथ काटकर की राजस्थान पत्रिका से विशेष बातचीत

मिलिए अपने पार्षद से

Hubballi-Dharwad Municipal Corporation HDMC
Sheela Manjunath Katakar
आने वाले समय में हुब्बल्ली-धारवाड़ नगर निगम का वार्ड-73 पर्यटन स्थल के रूप में चमकेगा। वार्ड में बनी केम्पकेरी झील का सौंदर्यकरण करवाया जा रहा है। इससे न केवल झील की आभा निखरी है बल्कि आसपास का इलाका भी चमन हो रहा है। पार्षद शीला मंजूनाथ काटकर के प्रयासों से झील को नया रूप मिला है। पिछले भाजपा शासन में इसके सौंदर्यकरण का काम शुरू किया गया था। करीब 16 करोड़ की लागत से हुडा एवं विधायक कोटे के तहत इसे विकसित किया जा रहा है। चारदीवारी का काम लगभग पूरा हो चुका है। बगीचा विकसित किया गया है जिसमें हरीतिमा की चादर बिछाई गई है तो अलग-अलग किस्मों के फूलदार पौधे लगाए गए हैं। बगीचे में झूले लगाए गए हैं। करीब चालीस बेंचें लगाई गई हंै। प्रवेश मार्ग पर बड़ा द्वार बनाया जा रहा है। पैदल पथ बनाया गया है। ऐसे में आने वाले वक्त में यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बनेगा। हुब्बल्ली-धारवाड़ नगर निगम वार्ड-73 की पार्षद शीला मंजूनाथ काटकर ने राजस्थान पत्रिका के साथ बातचीत में वार्ड में कराए जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी दी। प्रस्तुत है उनसे हुई बातचीत के अंश:
सवाल: वार्ड में सफाई की क्या व्यवस्था है?
पार्षद: घर-घर कचरा संग्रहण किया जा रहा है। एक ट्रैक्टर एवं दो टिपर के माध्यम से बीस सफाई कर्मचारी वार्ड की सफाई व्यवस्था संभाले हुए हैं। हालांकि वार्ड का इलाका अधिक लम्बा-चौड़ा होने के चलते सफाई कर्मचारियों की संख्या पर्याप्त नहीं है। सफाई कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है।
सवाल: वार्ड को और बेहतर बनाने की दिशा में क्या योजना है?
पार्षद: वार्ड में करीब पांच करोड़ की लागत से विकास कार्य करवाया गया है। वार्ड को स्मार्ट बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। झील के सौंदर्यकरण का काम हाथ में लिया है जिससे यह क्षेत्र पर्यटन स्थल के रूप में विकसित हो सकेगा। इसके साथ ही आने वाले दिनों में हर घर में 24 घंटे पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में काम किया जाएगा। शिवशंकर कॉलोनी में सिकलगार समाज बहुतायत में निवास कर रहा हैं, इस कॉलोनी को और अधिक विकसित किया जाएगा। दुर्गाशक्ति कॉलोनी में हरण्यशिकारी समुदाय के लोग अधिक निवास कर रहे हैं, यहां अधिकांश कच्चे मकान है। इस कॉलोनी में बोरवेल का पानी दिया जा रहा है। मीेठे पानी की सुविधा जल्द उपलब्ध करवाई जाएगी।
सवाल: वार्ड में सुरक्षा को मजबूत करने के लिए क्या योजना है?
पार्षद: इस वार्ड में ओल्ड हुब्बल्ली, शिवशंकर कॉलोनी, अयोध्या नगर, हीरेपेठ, कृष्णापुर ओनी का इलाका आता है। अधिकांश इलाका स्लम है। वार्ड में करीब 40 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।
सवाल: वार्ड में सड़क व सीरवेज विकसित करने को लेकर क्या योजना है?
पार्षद: शिवशंकर कॉलोनी में नालियों का निर्माण करवाया गया है। बापूजी नगर में डामर की सड़क बनवाई गई है। पहले कारवाड़ मैन रोड पर पानी फैल जाता है। इस समस्या का निराकरण किया गया है। यहां भूमिगत सीवरेज लाइन बिछाई गई है। अयोध्यानगर प्रथम क्रॉस पर सीसी रोड बना रहे हैं। गवली गली सर्किल से गुडकै स्ट्रीट अयोध्यानगर से कारवाड़ मार्ग तक 1.2 किमी लम्बी सीसी रोड बनाई गई है। भूमिगत सीवरेज लाइन बिछाई गई है। फुटपाथ बनाया गया है। अन्य कई इलाकों में सीसी रोड एवं भूमिगत सीवरेज लाइन बिछाने का काम चल रहा है। हर इलाके में सीसी रोड बनाई जाएगी। आंतरिक सड़कों को डवलप किया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो