जेल में शातिर चोर से हुई दोस्ती और फिर छूटते ही सूने घरों में करने लगे लूट

जेल में शातिर चोर से हुई दोस्ती और फिर छूटते ही सूने घरों में करने लगे लूट

Reena Sharma | Updated: 08 Aug 2019, 05:12:35 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार, कई वारदातों का खुलासा

 

इंदौर. डॉक्टर के घर लूट में सजा हुई तो बदमाश जेल गया। यहां पर एक शातिर चोर से पहचान हुई। जेल से छूटने के बाद दोनों ने साथ मिलकर चोरी करना शुरू कर दी। इंदौर सहित खरगोन व रतलाम में भी उन्हें कई वारदातें की हैं। इनसे चोरी का सामान जब्त किया गया।

must read : बेटी को जन्म देते ही चल बसी मां, डॉक्टरों की इस गलती ने मासूम से छिन ली मां

एएसपी क्राइम अमरेंद्र सिंह चौहान ने बताया, क्राइम ब्रांच की टीम ने राऊ इलाके से मनोज पिता प्रकाश (40) निवासी कृष्णधाम कालोनी देपालपुर, सादिक पिता साबिर (33) निवासी सहयोग नगर को पकड़ा। इनके पास से लोहे की टॉमी व चाबी का गुच्छा मिला।

must read : बेटी को जन्म देते ही चल बसी मां, डॉक्टरों की इस गलती ने मासूम से छिन ली मां

दोनों आरोपियों को राऊ पुलिस को सौंपा है। पूछताछ में इन्होंने बताया कि इंदौर, रतलाम, खरगोन में उन्होंने चोरी की कई वारदात को अंजाम दिया है। खंडवा के एक डॉक्टर के घर लूट करने के मामले में सादिक को सात साल की सजा हुई। जेल में उसकी मुलाकात मनोज से हुई। वह भी चोरी के मामले में बंद था। दोनों ने साथ मिलकर वारदात करने की योजना बनाई। जेल से छूटने के बाद सूने घर की रैकी कर वारदात करने लगे। इनके पास से तीन एलईडी टीवी, सोने व चांदी के जेवर कुल कीमत पांच लाख रुपए का सामान जब्त हुआ। दोनों से अन्य वारदातों में चुराए सामान को लेकर पूछताछ की जा रही है।

must read : बेटी को जन्म देते ही चल बसी मां, डॉक्टरों की इस गलती ने मासूम से छिन ली मां

नशे के लिए करने लगे चोरी

2004 से मनोज वाहन व घरों में चोरी करता। नशे का आदी है। उसी लत को पूरा करने के लिए वारदात कर रहा था। सादिक के साथ एरोड्रम में सूने मकान में चोरी की थी जिसका सामान जब्त हुआ। इसकी रिपोर्ट एरोड्रम थाने पर दर्ज है। दोनों ने राऊ की बृजविहार कॉलोनी में भी चोरी थी। जिसमें चुराई एलईडी टीवी, सोने की झुमकी जब्त हुईं। बदमाशों ने खजराना, द्वारकापुरी, खरगोन, रतलाम में भी चोरी की कई वारदातें कबूली हैं। मनोज ने पांचवी तक पढ़ाई की है। पहले वह सिलाई का काम करता था। उस पर देपालपुर में चोरी के दो दर्जन केस दर्ज है। देपालपुर थाने का वह हिस्ट्रीशीटर है। सादिक भी पांचवी तक पढ़ाई करने के बाद कपड़े के कारखाने में काम कर रहा था। उस पर लडाई झगड़े, हत्या का प्रयास, चोरी, आम्र्स एक्ट, लूट सहित 15 केस दर्ज हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned