पूर्व विधायक को ‘गॉड फादर’ का मैसेज - जिंदा रहना चाहते हो तो भेजो 50 लाख रुपए

पूर्व विधायक को ‘गॉड फादर’ का मैसेज - जिंदा रहना चाहते हो तो भेजो 50 लाख रुपए

Hussain Ali | Updated: 05 Jul 2019, 11:16:11 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

उसने एक अन्य कांग्रेस नेता व नर्मदा विकास प्राधिकरण के अफसर को भी वसूली के लिए धमकाया था। अफसर से 25 लाख रुपए मांगे थे।

इंदौर. कांग्रेस के पूर्व विधायक सत्यनारायण पटेल ( Satyanarayan Patel ) को मैसेज व फोन कर 50 लाख रुपए मांगने वाले आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उसने एक अन्य कांग्रेस नेता व नर्मदा विकास प्राधिकरण के अफसर को भी वसूली के लिए धमकाया था। अफसर से 25 लाख रुपए मांगे थे।

 

must read : बैटकांड में विवादित मकान को नगर निगम ने किया जमींदोज, देखें VIDEO

पूर्व विधायक पटेल के पास पहला मैसेज 26 जून को आया। इसमें 50 लाख रुपए की मांग करते हुए लिखा था, आई एम योअर गॉडफादर। तब पटेल ने ध्यान नहीं दिया। इसके बाद उन्हें आरोपी फोन कर धमकाने लगा। जिंदा रहने के लिए 50 लाख रुपए मांगे। पटेल ने एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र से मिलकर जानकारी दी। क्राइम ब्रांच को शिकायत की, जिस पर एएसपी अमरेंद्रसिंह की टीम ने जांच शुरू की। इस बीच नर्मदा विकास प्राधिकरण के अफसर चैतन्य रघुवंशी को भी मैसेज कर 25 लाख रुपए मांगे और कहा, आई एम योअर गॉडफादर। जिंदा रहना है तो पैसा देना होगा। उन्होंने भी क्राइम ब्रांच को शिकायत की थी।

indore

ऑटो डील से चोरी सिम से किए मैसेज

क्राइम ब्रांच की टीम ने जांच कर बुधवार को संदेही राजरतन तायड़े निवासी आजादनगर को पकड़ा। जांच में पता चला, आरोपी जिस नंबर से फोन कर रहा था वह मोबाइल सिम कुछ समय पहले भंवरकुआं क्षेत्र के एक ऑटोडील से चोरी हो गई थी, जो उसे मिल गई।

must read : ये ‘बकरा’ छीन ले जाता था महिलाओं की चेन, ऐसे आया पकड़, जानें क्या है मामला

आरोपी ने आजादनगर के एक कांग्रेस नेता को भी धमकाकर लाखों रुपए मांगे थे, लेकिन उन्होंने शिकायत नहीं की। एएसपी अमरेंद्रसिंह ने बताया, संदेही को हिरासत में लिया है। उससे मिली जानकारी की जांच की जा रही है। आरोपी सिरफिरा लग रहा है। उसने बेवजह मैसेज भेजकर धमकी दी। उसका आपराधिक रिकॉर्ड भी पता किया जा रहा है।

आरोपी के पिता प्राधिकरण में ड्राइवर

पूछताछ में राजरतन ने फोन करने से इनकार किया। उसने बताया, मोबाइल अप्रैल में चोरी हो चुका है, जिसकी पुलिस को शिकायत भी की थी। शिकायत की कॉपी भी दी। तकनीकी आधार पर जांच में साफ हो गया, राजरतन ही यह हरकत कर रहा था। सख्ती करने पर उसने इसे कबूल लिया। पुलिस को पता चला, आरोपी के पिता नर्मदा विकास प्राधिकरण में ड्राइवर हैं। बहन आजादनगर में एक कांग्रेस नेता के यहां काम करती है, जिसके कारण वह नेता को पहचानता था। आरोपी के खिलाफ कनाडिय़ा थाने में केस दर्ज किया जा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned