लॉक से अनलॉक की ओर इंदौर, इस तरह से खुलेगा बाजार

मध्यप्रदेश में कोरोना का एपिक सेंटर रहा इंदौर शहर जल्द ही पटरी पर लौटेगा, इंदौर कलेक्टर ने कुछ नियम शर्तों के दुकानें खोलने की अनुमति देने की बात कही है...

By: Shailendra Sharma

Updated: 23 Jun 2020, 06:43 PM IST

इंदौर. मध्यप्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा संक्रमित शहरों में से एक इंदौर जल्द ही पटरी पर लौटेगा। कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही टोटल लॉकडाउन हुआ इंदौर शहर अब अनलॉक होगा और कुछ नियमों के साथ दुकानें खोली जा सकेंगी। जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में शहर को अनलॉक करने को लेकर कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं और ये भी फैसला हुआ है कि अब शादी में 12 जगह 50 लोग शामिल हो सकेंगे।

 

indore1.jpg

ऑड-ईवन में खुलेगा जोन-1
आपदा प्रबंधन की बैठक में हुए निर्णयों को लेकर बाद में कलेक्टर मनीष सिंह aने जानकारी दी। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि बैठक में जोन-1 के व्यापारियों को ऑड ईवन के आधार पर दुकानें खोलने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है। यहां की खेरची दुकानें ऑड ईवन के आधार पर खुलेंगी। सियागंज, हाथीपाला इलाके में भी ट्रांसपोर्ट ऑफिस को ऑड ईवन के हिसाब से खोला जाएगा।

पूरा खुला रहेगा जोन-2
कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि जोन-2 लगभग पूरा खुलेगा लेकिन मॉल, जिम और रेस्टारेंट बंद रहेंगे। कलेक्टर ने कहा कि मंदिरों को खोलने को लेकर भी बैठक में चर्चा हुई थी लेकिन अभी निर्णय नहीं लिया गया है और यथास्थिति पर रखा गया है। छोटी ग्वालटोली, सरवटे और रेलवे स्टेशन की जो दुकानें हैं वो काफी संकरी हैं इसलिए वहां पर दुकानें अभी एक हफ्ते तक ऑड ईवन पर खोलने का निर्णय हुआ है, सात दिन बाद इन्हें पूरा खोल दिया जाएगा। जोन-3 को लेकर कलेक्टर ने कहा कि 29 गांव ये इलाका पूरी तरह से खुल चुका है और वहां कोई दिक्कत नहीं है।

सराफे और 56 को लेकर नहीं हुआ निर्णय
कलेक्टर मनीष सिंह ने आगे बताया कि सराफे की रात को खुलने वाली दुकानों और 56 दुकानों को लेकर भी चर्चा हुई है लेकिन जो भीड़ यहां पर जमा होती है उसे देखते हुए अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। 56 दुकान पर जो अन्य दुकानें हैं जो खुले में सामान बेचने का काम करती हैं वो सब खुल सकेंगी।

 

ind_4.jpg

चाय-नाश्ता बेचने वालों को राहत
शहर में चाय-नाश्ता बेचकर परिवार चलाने वाले छोटे व्यापारियों को भी राहत दी गई है और उन्हें सुबह 6 से 10 बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति दी जाएगी। कलेक्टर ने कहा चाय-नाश्ता बेचने वाले काफी लोग हैं जिन्हें इस फैसले से राहत मिलेगी। इसी तरह रेत, गिट्टी और मुरम व्यापारियों को रात 11 से सुबह 5 बजे की अनुमति दी जाएगी।

शादी में अब 12 की जगह 50 लोगों की परमीशन
बैठक में ये भी निर्णय लिया गया है कि शादी समारोह में अब 12 की जगह 50 लोग शामिल हो सकेंगे। घोड़ी, बैंड, नाई और पंडित को मिलाकर 8 से 9 लोगों की परमीशन अलग से दी जाएगी। शादी के दौरान लोगों से सावधानी बरतने की अपील भी की गई है।

Corona virus COVID-19
Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned