मप्र कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में सबसे आगे ये दो मंत्री, इसी हफ्ते हो सकती है घोषणा

मप्र कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में सबसे आगे ये दो मंत्री, इसी हफ्ते हो सकती है घोषणा

Hussain Ali | Publish: Jul, 01 2019 03:30:00 PM (IST) | Updated: Jul, 01 2019 03:32:39 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

कमल नाथ ने दिल्ली में दे दिया इस्तीफा और आज मिलेंगे राहुल गांधी से

इंदौर. मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी ( mp Congress president ) का नया अध्यक्ष कौन होगा? इस सवाल को लेकर प्रदेश की सियासत में हलचल मची हुई है। एक ओर इसका जवाब ढूंढऩे में जहां कांग्रेसी लगे हैं, वहीं पार्टी के कई बड़े नेताओं में प्रदेश अध्यक्ष बनने के लिए रेस चल रही है। कांग्रेसियों की मानें तो इस चेयर रेस में सबसे आगे बाला बच्चन ( bala bacchan news ) और जीतू पटवारी ( jitu patwari ) हैं। इन दोनों में से ही किसी एक के नाम पर मुहर लगेगी, क्योंकि दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री कमल नाथ ( KamalNath ) ने प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा पहले ही भेज दिया था। आज उनकी मुलाकात पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) से होगी। इसी हफ्ते में नए पीसीसी चीफ की घोषणा भी हो जाएगी।

congress

लोकसभा चुनाव में पराजय के सवा महीने बाद मध्यप्रदेश में कांग्रेस पदाधिकारियों ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश करना शुरू कर दिया है। सबसे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने अपने पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। उनके बाद पार्टी के कई बड़े नेताओं में अपने इस्तीफे कांग्रेस हाईकमान को भेज दिए। हाल ही में अब प्रदेश के चारों कार्यकारी अध्यक्षों रामनिवास रावत, जीतू पटवारी, सुरेंद्र चौधरी और बाला बच्चन ने भी अपने इस्तीफे दिल्ली मुख्यालय भेज दिए हैं।

आदिवासी और युवा चेहरा लाना है आगे

कांग्रेसियों की मानें तो पीसीसी चीफ की कुर्सी पर बैठने के लिए चल रही दौड़ में सबसे आगे बाला बच्चन और जीतू पटवारी हैं। लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद पार्टी आलाकमान प्रदेश में आदिवासी नेता को कमान सौंप कर नए सिरे से संगठन को मजबूत करना चाह रहा है। पिछले दिनों कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ( Sajjan singh verma ) ने जिस तरह गृहमंत्री बाला बच्चन को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग की थी, उससे इस बात के साफ संकेत हैं कि पार्टी किसी आदिवासी नेता को पार्टी की कमान सौंप सकती है। ऐसे में आने वाले समय में जब आदिवासी सीट झाबुआ ( jhabua ) पर उपचुनाव होना है, तो पार्टी आदिवासी चेहरे पर भरोसा जताकर उसको मैदान में उतार सकती है।

must read : सीएम के सामने कांग्रेस की लचर व्यवस्था, बिफर पड़े मंत्री, नेताओं पर जमकर निकाली भड़ास

कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में पार्टी के युवा चेहरे और कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी का नाम भी चर्चा में है। जीतू पटवारी का युवा होना और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ का करीबी होना उनके पक्ष में जाता है। इसके साथ ही पिछले दिनों जिस तरह जीतू पटवारी ने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत जिस प्रकार एक व्यक्ति के घर रात गुजारी, उससे उनका नाम तेजी से चर्चा में है। इसके साथ ही पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ( Jyotiraditya Scindia ) और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के नाम पर भी पार्टी आलाकमान अपनी मुहर लगा सकता है। कांग्रेसियों की मानें तो इसी हफ्ते में नए पीसीसी चीफ की घोषणा हो सकती है।

congress

प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफा देने से भंग हो जाती है कार्यकारिणी

कांग्रेसियों के अनुसार प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफा देने से पूरी कार्यकारिणी स्वमेव भंग हो जाती है, इसलिए अन्य पदाधिकारियों के अलग से इस्तीफे का मतलब नहीं। कमल नाथ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में कई नेता शामिल हो गए हैं। कांग्रेसियों की मानें तो पीसीसी चीफ की कुर्सी पाने के लिए आसपास कितने भी नेता दौड़े, लेकिन फैसला मुख्यमंत्री नाथ की पसंद से ही होना है ताकि सरकार और संगठन में आपसी समन्वय बना रहे। इसीलिए दिल्ली पहुंचे कमल नाथ आज राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी समेत अन्य बड़े नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं। माना यह जा रहा है कि मुख्यमंत्री इस दौरे के दौरान पार्टी में नए अध्यक्ष के नाम पर एक राय बनाने के साथ कैबिनेट विस्तार और निगम मंडलों में नियुक्ति पर चर्चा कर सकते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned